सगरा काण्ड : सामंती सोच वाले दबंगों के अत्याचार के ख़िलाफ़ सड़कों पर दिखा आक्रोश

0
737
पिछड़ा वर्ग की क़द्दावर नेत्री एवं पूर्व मंत्री सुश्री कुसुम सिंह मेहदेले को सगरा काण्ड ज्ञापन सौंपने के बाद रैली के रूप में पन्ना के एसपी ऑफिस जाते आक्रोशित ग्रामीण।

*    ओबीसी महासभा ने पन्ना में विशाल निकाली रैली निकालकर किया प्रदर्शन

*    बेरहम आरोपियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन

पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना जिले के सलेहा थाना अंतर्गत आने वाले सगरा ग्राम में शुक्रवार 10 सिंतबर की रात लोधी समाज के पुरूष, महिलाओं के साथ हुए अत्याचार से उपजे आक्रोश की गूँज आज जिला मुख्यालय की सड़कों पर सुनाई दी। सगरा ग्राम के सामंती सोच वाले कतिपय दबंगों ने लोधी परिवार के साथ जिस तरह की बर्बरता-क्रूरता की गई और इतने संवेदनशील मामले में सलेहा थाना पुलिस के घोर उदासीनता पूर्ण रवैए से क्षुब्ध पिछड़ा वर्ग के लोगों द्वारा सोमवार को पन्ना में जमकर प्रदर्शन व नारेबाजी की गई।
ओबीसी महासभा के आव्हान पर पन्ना पहुंचे सैंकड़ों ग्रामीण मध्य प्रदेश शासन की पूर्व मंत्री एवं पिछड़ा वर्ग की क़द्दावर नेत्री सुश्री कुसुम सिंह महदेले के सफरबाग स्थित निज निवास पर एकत्रित हुये। इस दौरान सगरा काण्ड के पीड़ितों के द्वारा वरिष्ठ भाजपा नेत्री सुश्री मेहदेले को अपने साथ हुए अत्याचार की जानकारी दी गई। तत्पश्चात सफरबाग से लोगों का विशाल हुजूम नारेबाजी करता हुआ नजदीक स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा जहां इस मामले पर ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें उल्लेख किया गया है कि आवेदक कमलेश लोधी पिता रामकुमार लोधी, उनकी पत्नि ऊषा लोधी एवं रामबाई लोधी पति रामकुमार लोधी सभी निवासी ग्राम सगरा कृषक एवं मजदूर व्यक्ति है। शुक्रवार 10 सिंतबर की रात्रि करीब 8 बजे सभी जब अपने घर पर थे तभी गांव के ही विजय सिंह ठाकुर उर्फ छोटे राजा पिता प्रताप सिंह ठाकुर, अर्जुन सिंह, रामासिंह ठाकुर पिता प्रताप सिंह निवासी सगरा अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्ति है जिन्होने घर के अंदर घुस कर लोहे की रॉड, कट्टा, लाठी डंडे से बेदम मारपीट की तथा कट्टे से चार पांच फायर भी किये।
दबंग आरोपियों ने आतंक के बल पर आवेदक के घर का ताला तोड़कर नगद 2 लाख रूपये निकाल लिये एवं उसकी गाड़ी में भी तोड़फोड़ कर दी। आवेदन पत्र में यह भी उल्लेख किया गया है कि आवेदक के सिर में लोहे की रॉड मारी तथा आवेदक की मां रामबाई के सिर पर लाठी से प्रहार किया जिससे आवेदक की पत्नि ऊषा सोनी को भी रॉड से मारपीट करते हुये घायल किया गया। पुलिस द्वारा आरोपी दबंगों को संरक्षण देने का आरोप लगाया गया है तथा कहा गया है कि जघन्य मामले को को मामूली बताकर टाल दिया गया है। पीड़ित परिवार ने सुरक्षा दिये जाने की पुलिस से मांग की है साथ ही लगातार मिल रही जान से मारने की धमकी से पूरा गांव दहशत में होने की बात भी कही गई है।

कमजोर वर्गों पर अत्याचार होना निदंनीय : मेहदेले

पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेत्री कुसुम सिंह मेहदेले।
पन्ना जिले के अंदर कमजोर तबकों एवं पिछड़े वर्ग के लोगों के साथ इस तरह की बर्बरता पूर्ण घटनाएं होना अत्यंत ही निदंनीय है, ऐसी घटनाओं को रोकने के लिये प्रशासन को सख्त कदम उठाना होगा। यह बात प्रदेश शासन की पूर्व मंत्री सुश्री कुसुम सिंह मेहदेले ने आज अपने निवास पर सगरा में हुई मारपीट के विरोध में उनसे मिलने पहुंचे सैंकड़ों ग्रामीणों की व्यथा सुनने के बाद मीडिया कर्मियों से चर्चा में कही। उन्होने कहा कि जिस तरह से आरोपियों ने प्राण घातक हमला किया है उसके बाद पुलिस के द्वारा दबंग आरोपियों के प्रति लचीला रवैया अपनाना कतई उचित नहीं है। शासन की मंशानुरूप पुलिस आरोपियों के विरूद्ध तत्परता से कड़ी कार्यवाही करते हुये गरीबों को न्याय दिलाने के आवश्यक कदम उठाए ताकि इस तरह की दुर्भाग्यपूर्ण और असहनीय घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो।