Homeबुंदेलखण्डप्रदेश की सरकार को हम गिराना नहीं चाहते, यह सरकार ही ऐसी...

प्रदेश की सरकार को हम गिराना नहीं चाहते, यह सरकार ही ऐसी है कि गिर जाएगी, इसकी कुंडली में अकाल मृत्यु लिखी है : उमा भारती

* पन्ना के नयागाँव और रैपुरा की आमसभा में बोलीं पूर्व मुख्यमंत्री

* खजुराहो सीट से भाजपा प्रत्याशी बीडी शर्मा को जिताने मतदाताओं से की अपील

शादिक खान, पन्ना। रडार न्यूज  मध्यप्रदेश में बीजेपी के 15 साल तक लगातार सत्ता में रहने के बाद विधानसभा चुनाव-2018 में बहुमत के आँकड़े चंद सीटें दूर रहने के कारण सरकार नहीं बन पाई थी। इसकी कसक भाजपा के नेताओं को बेचैन कर रही है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज चौहान समेत उनकी पार्टी के कई नेता प्रदेश की कांग्रेस सरकार के लोकसभा चुनाव के बाद गिरने की बात कह चुके हैं। इसी कड़ी नया नाम मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का जुड़ गया है। खजुराहो संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी विष्णु दत्त शर्मा के पक्ष में चुनाव प्रचार करने आईं पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती  ने पन्ना जिले धरमपुर अंचल के नयागाँव और पवई विधानसभा के रैपुरा में एक आमसभा को संबोधित किया। उन्होंने अपने भाषणों में जो कुछ कहा उसकी उसकी काफी चर्चा हो रही है। यहाँ पढ़िए उनके भाषणों के चुनिंदा संपादित अंश

कमलनाथ हैं मिस्टर इंडिया, दिखते ही नहीं

भाजपा प्रत्याशी बीडी शर्मा एवं उमा भारती।
मध्यप्रदेश का जो बुन्देलखण्ड है उसकी तुलना में उत्तर प्रदेश के बुन्देलखण्ड की हालत बहुत ज्यादा खराब है। क्योंकि, शिवराज जी की सरकार ने यहाँ बहुत काम करवाए हैं। उन्होंने केन्द्र की योजनाओं का भी लाभ लिया, राज्य सरकार ने भी बहुत सारी योजनएँ यहाँ चलाई हैं और बुन्देलखण्ड का कायाकल्प करने का कोशिश की है। यहाँ बहुत बड़ी मात्रा में सिंचाई हुई, बिजली का उत्पादन हुआ और किसानों ने भरपूर उपज ली है । आपने मध्यप्रदेश में चार माह पूर्व हुए सत्ता परिवर्तन पर बोलते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार बदलने से यहाँ की रौनक चली गई है। क्योंकि, शिवराज ऐसे मुख्यमंत्री थे जो सब से मिलते-जुलते थे, लोगों के घर तक आ जाते थे। अब जो मुख्यमंत्री हैं उन्हें मैं- “मिस्टर इण्डिया” कहती हूँ। एक फिल्म आई थी मिस्टर इण्डिया, उसका जो मुख्य पात्र था वह दिखता नहीं था पर होता था, वो हवा में गायब रहता था। सुश्री भारती ने मुख्यमंत्री कमलनाथ का नाम लिए बगैर उन पर हमला करते हुए कहा कि अब जो मुख्यमंत्री हैं मिस्टर इण्डिया है, वो दिखते ही नहीं हैं, उनका पता ही नहीं है। इसलिए यहाँ की रौनक चली गई है और विकास के कार्यक्रम अवरुद्ध हो गए हैं। मैं ये नहीं कहूंगीं कि हम तो ये सरकार अभी गिरा देंगे, या फिर ये सरकार गिर जानी चाहिए। हमारी इच्छा कुछ नहीं है। लेकिन ये सरकार गिरनी है इसकी कुण्डली में अकाल मृत्यु लिखी है।

हम करेंगे चौकीदारी

सुश्री भारती ने कहा कि हम किसी की सरकार गिराना पसंद नहीं करते क्योंकि हमारी सरकारें उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश,राजस्थान हिमाचल में गिराईं गईं थी राम के नाम पर। तत्कालीन उत्तर प्रदेश की सरकार को गिराना मान भी लिया जाए कि मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के कार्यकाल में वहाँ 6 दिसंबर (बाबरी मस्जिद विध्वंस) हुआ था। लेकिन सुन्दरलाल पटवा, भेरौ सिंह शेखावत और शांता कुमार तो 6 दिसंबर कारसेवा में नहीं गए थे। उन्होंने कहा कि हम गए थे कारसेवा में, केन्द्र की कांग्रेस सरकार मुझे चढ़ा देती फाँसी, लेकिन उसने हमारी सरकारों को बैठे-बिठाये भंग कर दिया था। हमें ये पीड़ा मालूम है, अटल बिहारी वाजपेयी को ये पीड़ा थी इसलिए उन्होंने आर्टिकल 356 को समाप्त कर दिया था। अब मनमर्जी से सरकारें नहीं गिराईं जा सकती। सरकारें अपनी ही करतूत से ही गिर जाएँ तो अलग बात है। उमा भारती ने जोर देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की मौजूदा सरकार को गिराने की चेष्टा हम नहीं करेंगें, ये सरकार ही ऐसी है कि गिर जाएगी। लेकिन ये सरकार जितने दिनों तक रहेगी हम आपकी चौकीदारी करेंगे। केन्द्र और प्रदेश सरकार की विकास की योजनाओं के क्रियान्वयन की चौकीदारी करेंगे।

भाग्यशाली है खजुराहो क्षेत्र कि बीडी शर्मा मिले

रैपुरा में पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती एवं भाजपा नेता।
पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने खजुराहो संसदीय क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी विष्णु दत्त शर्मा की तारीफ़ करते हुए उन्हें जुझारू और संघर्षशील व्यक्ति बताया। उन्होंने आमसभा में उपस्थित लोगों को बताया कि श्री शर्मा जब उन्हें पहली बार मिले तो उनका हाथ टूटा हुआ था। छात्रों के प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए पुलिस से भिड़ंत होने के दौरान डण्डे के प्रहार से इनका हाथ टूट गया था। मैं उस समय मुख्यमंत्री थी, ये मुझसे आकर मिले थे। बीडी शर्मा ऐसे बहादुर लोगों में से है जो डण्डा खाने में पीछे नहीं रहते माला पहनने में पीछे रहते हैं। सुश्री भारती ने बीडी शर्मा को जिताने अपील करते हुए बताया कि ये बहुत संघर्ष करने, तपस्या करने वाले व्यक्ति हैं। आप इन्हें सांसद बनाकर भेजिए फिर देखिए ये जिला और संसदीय क्षेत्र कैसे चमकता है। ये संघर्ष तब कर रहे थे जब हमारी सरकार थी, ये विद्यार्थी परिषद् के नेता थे और मैं मुख्यमंत्री थी फिर भी ये संघर्ष कर रहे थे। क्योंकि ये सिद्धांतों के लिए और देश के लिए मरने-मिटने वाले लोग हैं। मेरा ये मानना है कि खजुराहो लोकसभा सीट के लोगों का भाग्य है कि एक संघर्ष करने वाला व्यक्ति यहाँ पहुँच गया है। जो कि सभी योजनाओं को जमीन पर लाने लिए प्रयास करेंगे, इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इनकी प्रकृति में ही काम करना है, ये आराम नहीं करते आपके लिए रात-दिन काम करेंगे। ये समझलो उमा भारती का ही दूसरा रूप हैं। ये सालों-साल से अपने घर नहीं गए हैं।

गरीब के सामने कलेक्टर-एसपी जोड़ें हाथ तब प्रजातंत्र

नयागांव की आमसभा में मौजूद क्षेत्र के लोग।
भाजपा की स्टार प्रचारक और फायर ब्रांड नेता उमा भारती ने कहा कि हम इसे लोकतंत्र तब मानेंगे जब आम आदमी कुर्सी पर बैठेगा और कलेक्टर-एसपी उसके सामने हाथ जोड़कर आदेश पालन के लिए तत्परता से खड़े रहेंगे। तो हम मानेंगे प्रजातंत्र आया, जब तक प्रजातंत्र नहीं आया तब तक मेरे जैसे लोगों को राजनीति करनी चाहिए। उन्होंने आमसभा में उपस्थित लोगों से कहा कि मैं आप लोगों के ऐसे दिन लाना चाहती हूँ कि बुन्देलखण्ड के लोग दिल्ली में राज करने के लिए चलें, मजदूरी करने के लिए न चलें। बुन्देलखण्डियों का राज होना चाहिए। यहाँ पर सब कुछ है बस व्यवस्थाओं को ठीक करने की जरुरत है। मुझे तो दुःख होता है कि जिस धरती में हीरा होता है वहाँ के लोग बुनियादी सुविधाओं तक से वंचित हैं। जबकि यहाँ के हीरों को खरीदने वाले व्यापारी विलासितापूर्ण जीवन जी रहे हैं। उनके बच्चे जिन स्कूलों में पढ़ते हैं वे फाइव स्टार हैं। उनकी पत्नियाँ बीमार पड़तीं है तो फाइव स्टार अस्पतालों में उनका इलाज होता है। लेकिन जिस धरती में हीरा पैदा होता है वहाँ पर औरतें डिलेवरी से पहले अस्पताल के बरामदे में पड़ी-पड़ी मर जातीं हैं और डॉक्टर उनको भर्ती नहीं कर पाते। ये जो अमीरी और गरीबी के बीच का भेद है ये मुझे कभी भूलता नहीं है, ये मेरे हृदय को सालता है। यही कारण है कि मैं राजनीति आई हूँ।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments