ट्रैप कार्रवाई : स्वच्छ भारत मिशन की ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को रिश्वत लेते लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

0
1639
जनपद पंचायत कार्यालय छतरपुर में ट्रैप कार्रवाई को अंजाम देती लोकायुक्त पुलिस सागर की टीम।

* शौंचालय निर्माण के फोटो प्रामाणित करने एवज में जीआरएस से ली थी रिश्वत

* जनपद पंचायत कार्यालय छतरपुर में लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई से मचा हड़कंप

छतरपुर। (www.radarnews.in) लोकायुक्त पुलिस संगठन सागर की टीम ने मंगलवार 18 फरवरी को छतरपुर जनपद पंचायत कार्यालय में बड़ी कार्रवाई करते हुए स्वच्छ भारत मिशन की ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी को 5,500 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। ग्राम पंचायत थौरी में निर्मित शौंचालयों के फोटो प्रमाणित करने के एवज में ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी ने ग्राम रोजगार सहायक से रिश्वत के रूप में जैसे ही 5500 रुपए लिए तभी लोकायुक्त पुलिस की टीम ने दबिश देकर उन्हें पकड़ लिया। दोपहर के समय हुई लोकायुक्त पुलिस की ट्रैप कार्रवाई की खबर आते ही जनपद कार्यालय समेत जिले के प्रशासनिक हलकों में हड़कंप मच गया। इस कार्रवाई ने घूसखोर अधिकारियों-कर्मचारियों की धड़कनें बढ़ा दी हैं, उन्हें भी किसी दिन इसी तरह पकड़े जाने का भय सता रहा है।
स्वच्छ भारत मिशन छतरपुर की ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी।
ग्राम पंचायत थौरी के रोजगार सहायक जीतेन्द्र सिंह ने अपनी पंचायत में 13 व्यक्तिगत शौंचालयों का निर्माण कार्य पूर्ण होने पर राशि भुगतान हेतु इनके फोटो स्वच्छ भारत मिशन छतरपुर की ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी के कार्यालय में प्रस्तुत किए थे। उसके कई बार आग्रह करने के बाद भी फोटो प्रमाणित नहीं किए। इस बीच नीलम तिवारी द्वारा रोजगार सहायक से फोटो प्रमाणित करने के एवज में प्रति शौंचालय 1000 एक हजार रुपए की मांग की गई। चर्चा के दौरान इतनी राशि देने में असमर्थता व्यक्त करने पर सौदा 500 रुपए प्रति शौंचालय तय हुआ। लेकिन, ग्राम रोजगार सहायक जीतेन्द्र सिंह रिश्वत देना नहीं चाहता था। इसलिए उसने परेशान होकर लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक सागर से शिकायत की।
इस शिकायत की तस्दीक करने के दौरान उसने स्वच्छ भारत मिशन की ब्लॉक कोऑर्डिनेटर को रिश्वत की पहली किश्त के रूप में 1000 हजार रुपए दिए। पूर्व निर्धारित योजना के अनुसार मंगलवार 18 फरवरी को जीतेन्द्र ने छतरपुर जनपद कार्यालय पहुँचकर ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी को शेष 5500 रुपए की रिश्वत दी गई। अगले ही पल लोकायुक्त पुलिस टीम ने दबिश देकर नीलम तिवारी को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में लोकायुक्त पुलिस संगठन ने स्वच्छ भारत मिशन छतरपुर की ब्लॉक कोऑर्डिनेटर नीलम तिवारी के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया है। ट्रैप कार्रवाई लोकायुक्त पुलिस सागर के डीएसपी राजेश खेड़े के नेतृत्व में की गई।