Homeताजा ख़बरेंवाइल्ड बोर मीट के शौक ने पहुंचाया सींखचों के पीछे : शिकार...

वाइल्ड बोर मीट के शौक ने पहुंचाया सींखचों के पीछे : शिकार के बाद घर में पक रहा था मांस, वन विभाग की टीम ने मारा छापा; मांस के साथ तीन गिरफ्तार

*      मांस खरीदने वाले दो अन्य फरार आरोपियों की सरगर्मी से जारी है तलाश

*    उत्तर वन मण्डल पन्ना अंतर्गत अजयगढ़ के मझपटिया में हुआ था शिकार

शादिक खान, पन्ना/अजयगढ़। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में उत्तर वन मण्डल के अजयगढ़ वन परिक्षेत्र की टीम ने जंगली सूअर (वाइल्ड बोर) के शिकार तथा मांस खरीदने के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वन्य प्राणी मांस के शौकीनों को जेएमएफसी न्यायालय अजयगढ़ में पेश किया गया, जहां से आरोपियों न्यायिक अभिरक्षा में जिला जेल पन्ना भेज दिया है। इस प्रकरण में दो आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। वन विभाग की टीम उनकी तलाश में सरगर्मी से जुटी है।
सर्दियों का मौसम शुरू होते ही पन्ना जिले में वन्य प्राणियों के शिकार की घटनाएं लगातार सामने आ रही है। जिसके मद्देनज़र वन विभाग का मैदानी अलर्ट मोड में आ गया है। शिकार की प्रभावी रोकथाम को लेकर आवश्यक कदम उठाने के साथ ही शिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। इसी क्रम में शनिवार 25 नवंबर 2023 को उत्तर वन मण्डल पन्ना के अजयगढ़ वन परिक्षेत्र अंतर्गत दमचुआ बीट के मझपटिया में जंगली सुअर (वाइल्ड बोर) के शिकार का मामला सामने आया है। मुखबिर के द्वारा शिकार की सूचना वन परिक्षेत्राधिकारी अजयगढ़ नीलेश प्रजापति को दी गई। जिसकी तस्दीक होने पर रेंजर श्री प्रजापति ने वरिष्ठ अधिकारियों को घटना जानकारी दी। वरिष्ठ अधिकारियों से आवश्यक निर्देश मिलने पर वन विभाग की टीम ने माधौगंज अजयगढ़ में स्थित बब्बू सोनकर पिता मुल्लू सोनकर के घर पर छापामार कार्रवाई करते हुए जंगली सूअर का कच्चा और पका हुआ मांस जब्त किया है।
आरोपी बब्लू को हिरासत में लेकर शिकार के संबंध में पूंछतांछ की गई। वन अमले को बब्लू ने बताया कि उसने राजू अहिरवार पिता छोटा अहिरवार निवासी मझपाटिया से वाइल्ड बोर का मीट रुपए देकर खरीदा है। इस खुलासे को गंभीरता से लेते हुए वन विभाग की टीम ने आरोपी की निशानदेही पर मझपाटिया में राजू अहिरवार और उसके भाई रामकेश पिता छोटा अहिरवार के घर पर छापा मारकर दोनों को दबोंच लिया। इनके घरों से वन विभाग की टीम को जंगली सूअर का कच्चा व पका हुआ मांस मिला है। इसके अलावा शिकार की घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल, बका और सागौन की लकड़ी भी आदि आरोपियों के कब्जे से जब्त की गई है।

शिकार करने के बाद बेंच दिया था आधा मांस

जंगली सूअर का शिकार करने एवं उसके मांस के क्रय-विक्रय मामले में गिरफ्तार आरोपी वन विभाग की टीम के साथ।
प्राप्त जानकारी अनुसार मुख्य आरोपी राजू अहिरवार ने पूंछतांछ के दौरान जंगली सूअर शिकार करने का जुर्म स्वीकार किया है। फॉरेस्ट टीम को आरोपी ने बताया कि 25 नवम्बर की देर रात एक जंगली सूअर घायल अवस्था में उसके खेत में आया था, जिसे उसने लाठी से हमला कर मार डाला। राजू ने मृत सूअर के मांस का कुछ हिस्सा अपने भाई रामकेश अहिरवार, बब्बू सोनकर सहित दो अन्य लोगों को बेंच दिया और थोड़ा मांस उसने अपने खाने के लिए बचा लिया था। अजयगढ़ रेंजर नीलेश प्रजापति ने बताया कि, मांस खरीदने के मामले में फरार दो अन्य आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। आपने फरार आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की उम्मीद जताई है। रेंजर श्री प्रजापति ने बताया कि इस मामले में अब तक गिरफ्तार तीनों आरोपियों के विरुद्ध पीओआर दर्ज कर रविवार 26 नवम्बर को उन्हें अजयगढ़ न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय के आदेश पर आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में जिला जेल पन्ना में दाखिल करा दिया है।

कार्रवाई में ये रहे शामिल

उत्तर वन मण्डल के वरिष्ठ अधिकारियों ने जंगली सूअर के शिकार का खुलासा कर आरोपियों को तत्परता से गिरफ्तार करने वाली टीम की सराहना की है। इस कार्रवाई में वनपरिक्षेत्र अधिकारी अजयगढ़ नीलेश प्रजापति, परिक्षेत्र सहायक अजयगढ़ मुकेश मिश्रा, बीटगार्ड दमचुआ रामनरेश सिंह राजपूत, डिप्टी रेंजर जयकरण तिवारी, वनरक्षक ऋषि यादव, विकाश मिश्रा, राजाराम कोंदर, लल्लू प्रसाद प्रजापति, अनिल राजपूत, प्रतीक तिवारी, जीतेन्द्र लोधी, छत्रपाल सिंह, शिवम पाठक, शिवा गुप्ता, मंयक शर्मा, मुरलीधर अहिरवार आदि की अहम भूमिका रही।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments