Homeताजा ख़बरेंउमराह के नाम पर दर्जन भर से लाखों की ठगी, ट्रैवल कंपनी...

उमराह के नाम पर दर्जन भर से लाखों की ठगी, ट्रैवल कंपनी ने रुपए लेने के बाद ज़ियारत पर नहीं भेजा

*    धोखाधड़ी का शिकार हुए लोगों ने पुलिस अधीक्षक से लगाई न्याय की गुहार

*    किराया राशि वापस लेने पिछले कई माह से भटक रहे पन्ना समेत आसपास के जिलों के लोग

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना और उसके आसपास के जिलों में करीब दर्जन भर लोगों को सऊदी अरब ले जाकर उमराह (पवित्र तीर्थयात्रा) कराने का झांसा देकर टूर एंड ट्रैवल कंपनी ने लाखों रुपए की ठगी कर ली। ट्रैवल कंपनी संचालकों ने रुपए लेने के बाद भी श्रद्धालुओं को उमराह की यात्रा पर नहीं भेजा। समय पर वीजा न बन पाने का कारण बताकर उनकी यात्रा कैंसिल कर दी। उसके बाद से अब तक रुपए लौटाने का आश्वासन देते रहे, लेकिन राशि वापस नहीं की। ट्रैवल कम्पनी संचालकों की ठगी का शिकार हुए लोगों ने पुलिस अधीक्षक पन्ना को शिकायती आवेदन पत्र सौंपकर न्याय की गुहार लगाई है। पुलिस अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) पन्ना को जांच सौंपी है।
उमराह कराने के नाम पर अजहरी टूर एंड ट्रैवल कंपनी पन्ना के संचालकों के द्वारा की गई धोखाधड़ी का शिकार लोग एसडीओपी कार्यालय से बाहर निकलते हुए।
पन्ना के जगात चौकी में रहने वाले रफीक खान पिता वकील खान 35 वर्ष और अय्यूब खान पिता वकील खान 38 वर्ष अजहरी टूर एंड ट्रैवल कंपनी संचालित करते हैं। करीब दस माह पूर्व उमराह की पवित्र तीर्थयात्रा जाने के लिए रहीस खान पिता फूल खान निवासी पगरा जिला पन्ना सहित दर्जन भर से अधिक लोगों रफीक खान और उसके भाई के पास प्रति व्यक्ति के हिसाब से राशि 70 हजार से लेकर 85 हजार रुपए बतौर यात्रा खर्च एडवांस जमा किए थे। दिनांक 25 जनवरी 2023 को राशि जमा करने पर कुछ लोगों को रशीद प्रदान की गई थी। इस तरह ट्रैवल कंपनी संचालक दोनों भाइयों ने मिलकर पन्ना, छतरपुर सहित आसपास के जिलों में रहने वाले करीब आधा सैंकड़ा मुस्लिम धर्मावलंबियों को उमराह कराने के नाम पर लाखों रुपए जमा कर लिए। उक्त राशि से लोगों को उनके नजदीकी रेलवे स्टेशन से मुंबई तक आने-जाने के रेल टिकिट, मुंबई से सऊदी अरब की हवाई यात्रा के टिकिट और वीजा उपलब्ध कराने की बात कही गई थी। लेकिन उमंरा यात्रा की पूर्व निर्धारित तिथि गुजरने के दो माह बाद भी बुकिंग कराने वालों को यात्रा के टिकिट और वीज़ा प्रदान नहीं किया गया। इस कारण सऊदी अरब के मक्का में स्थित हरम शरीफ की जियारत करने की ख़्वाहिश पूरी न हो सकी।
उमराह के यात्रा खर्च के रूप में एडवांस राशि जमा करने के बाद अजहरी टूर एंड ट्रैवल कंपनी के द्वारा दी गई रशीद का फोटो।
अजहरी टूर एंड ट्रैवल कंपनी संचालक रफीक खान व अय्यूब खान की वादाखिलाफ़ी से परेशान लोगों ने अपने जमा रुपए जब वापस मांगे तो पहले इनके द्वारा बहानेबाजी की गई। अब आरोपीगण रुपए लौटने से ही साफ़ इंकार करते हुए उल्टा पीड़ितों के साथ अभद्रता कर रहे हैं। तीर्थयात्रा के नाम पर ठगी का शिकार हुए लोगों ने पुलिस अधीक्षक पन्ना को शुक्रवार 24 नवंबर 2023 को शिकायती आवेदन पत्र सौंपकर न्याय की गुहार लगाई है। पीड़ितों ने आवेदन पत्र में बताया है कि उमराह के नाम पर करीब आधा सैंकड़ा लोगों से प्रति व्यक्ति के हिसाब से 70 हजार से लेकर 85 हजार रुपए तक जमा कराए गए। इस तरह धार्मिक भावनाओं को आहत कर लाखों रुपए की ठगी करने वाले दोनों आरोपी अब अधिकांश लोगों की राशि लौटने से साफ़ मना कर रहे हैं। पीड़ितों ने पुलिस अधीक्षक से ठगी के आरोपियों से राशि वापस दिलाने और उनके विरुद्ध आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध करने की मांग की है।

क्या होता है उमराह ?

इस्लामिक ग्रंथों के अनुसार उमराह का मतलब मक्का में हरम शरीफ की जियारत करने से है, जिसे वर्ष में किसी भी समय किया जा सकता है। उमराह मुसलमानों को ईमान ताज़ा करने और ख़ुदा से गुनाहों की माफी मांगने का मौका होता है। हज और उमराह दोनों के लिए ही मुसलमान सऊदी अरब के सबसे पुराने एवं पवित्र शहर मक्का जाते हैं। इसमें बड़ा अंतर यह है कि उमराह जहां पूरे साल किया जा सकता है लेकिन हज की जियारत का एक निश्चित समय होता है। उमराह-हज से काफी अलग है, जिसे करना सुन्नत माना जाता है। जबकि हर हैसियतमंद मुसलमान पर जिंदगी में एक बार हज करना फर्ज है। अगर किसी मुसलमान पर किसी तरह का उधार नहीं है और वो आर्थिक रूप से सक्षम है, तो उसे एक बार हज करना जरूरी होता है। वहीं, उमराह लोग अपनी श्रद्धा के अनुसार कभी भी कर सकते हैं।

इनका कहना है-

उमराह की तीर्थयात्रा के नाम पर ठगी का शिकार हुए पीड़ितों ने पुलिस अधीक्षक को आवेदन दिया है, जिसकी जांच मेरे द्वारा की जा रही है। जल्द ही पीड़ितों के कथन दर्ज कर राशि की ठगी संबंधी आवश्यक साक्ष्य एकत्र किए जाएंगे। आरोपियों से विस्तृत पूंछतांछ के बाद नियमानुसार अग्रिम कार्यवाही की जाएगी।”

– एसपी सिंह बघेल अनुविभागीय अधिकारी पुलिस, पन्ना जिला पन्ना (म.प्र.)।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments