लुटेरों का आतंक | बाइक सवार युवकों को डण्डों से पीटा, चालक की मौत होने पर लूटपाट कर फरार हुए बदमाश

0
1312
छापा नाला के समीप घटना की जाँच-पड़ताल करते पुलिसकर्मी।

* पन्ना-अमानगंज मार्ग पर छापा नाला के समीप हुई वारदात

* रात भर नाले में पड़ा रहा मृतक का शव, दर्द से कराहता रहा साथी

पन्ना। रडार न्यूज   मध्यप्रदेश के पन्ना जिले का कोतवाली थाना सोमवार 24 दिसम्बर को हत्या-लूट और बैंक के अंदर हुई लाखों रुपये की सनसनीखेज़ चोरी की घटनाओं को लेकर सुर्ख़ियों में रहा। यहां अज्ञात बदमाशों द्वारा एक युवक की नृशंस हत्या कर उसके साथी से लूटपाट करने की खबर आने से सुबह-सुबह लोग दहशत में आ गए। इस जघन्य वारदात को रविवार 23 दिसम्बर की शाम कटनी-कानपुर स्टेट हाइवे पर पन्ना-अमानगंज के बीच छापा नाला के समीप तीन अज्ञात बदमाशों द्वारा अंजाम दिया गया। लुटेरों के हमले में घायल हुए युवक रामकिशोर पिता काशी प्रसाद यादव 25 वर्ष को आज सुबह पन्ना लाकर उपचार हेतु जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। जबकि पुलिस जांच और एफएसएल टीम की जांच के चलते मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए शाम के समय पन्ना लाया जा सका। इस घटना पर फ़िलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को गहन जांच में लिया है।

वनकर्मी की मदद से बची जान

जिला चिकित्सालय पन्ना में भर्ती घायल युवक रामकिशोर यादव।
घायल रामकिशोर यादव निवासी ग्राम सलैया थाना जिला छतरपुर ने वारदात के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि वह रविवार 23 दिसम्बर की शाम अपने गांव के ही राम सिंह पिता शंकर सिंह गौंड़ 40 वर्ष के साथ पन्ना से अमानगंज की ओर मोटर साइकिल से जा रहे थे। शाम करीब 6-7 बजे रास्ते में छापा नाला के समीप मिले तीन लोगों ने उनके ऊपर डण्डों से हमला कर दिया। सिर पर डंडे के प्रहार से राम सिंह की बाइक अनियंत्रित हो गई और दोनों वहीं गिर गए। अचेत अवस्था में पड़े राम सिंह गौंड़ को और उसे बदमाशों ने नाले में फेंक दिया जबकि उनकी बाइक को जंगल में ही छिपा दिया। इसके बाद हमलावर उनकी जेबों में रखे रूपए और मोबाइल लेकर फरार हो गए। कड़ाके की सर्दी में दोनों पूरी रात नाले में पड़े रहे।
नाले में पड़ा मृतक राम सिंह गौंड़ का शव।
सुबह जब रामकिशोर यादव होश में आया तो उसने मदद के लिए चींखना-चिल्लाना शुरू किया। इस दौरान वहाँ से गुजर रहे एक वन रक्षक ने जब उसकी दर्दभरी चीखें सुनीं और नीचे उतर कर देखा तो नाले दो लोग घायल अवस्था में पड़े मिले। वन रक्षक ने समझा कि उनका एक्सीडेंट हुआ है, पर जब घायल रामकिशोर ने आपबीती सुनाई तो सच्चाई का पता चला। वन रक्षक ने आनन-फानन डॉयल 100 पर कॉल कर पुलिस को बुलाया और फिर घायल रामकिशोर यादव को उपचार हेतु जिला चिकित्सालय पन्ना ले जाया गया।

घटना को संदिग्ध मान रही पुलिस

वह मोटरसाइकिल जिसे घटना के समय मृतक राम सिंह गौंड चला रहा था।
कोतवाली थाना पन्ना की पुलिस चौकी बराछ के अंतर्गत हुई इस घटना को लेकर चौकी प्रभारी राजेंद्र नामदेव का कहना है कि मृतक राम सिंह पिता शंकर सिंह गौंड़ 40 वर्ष के सिर, मुँह में चोटें आईं है और उसके दाँत टूटे हैं। घटनास्थल से फ़िलहाल ऐसे साक्ष्य नहीं मिले हैं कि लूटपाट के इरादे से हत्या करना साबित हो। सुबह-सुबह इस वारदात का पता चलने पर पुलिस द्वारा मृतक और घायल युवकों के परिजनों को घटना के संबंध सूचना दी गई। दोपहर तक दोनों युवकों के परिजन मौके पर पहुँच चुके थे, पुलिस द्वारा इनसे यह पता करने की कोशिश की जा रही है कि उनका किसी से विवाद तो नहीं हुआ था या फिर किसी से कोई रंजिश तो नहीं चल रही थी। चौकी प्रभारी बराछ का कहना है कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के मार्गदर्शन में इस घटना पर मर्ग कायम कर हर पहलू से गहन जांच-पड़ताल की जा रही है, फ़िलहाल कुछ कहना संभव नहीं है। घायल युवक के पूरी तरह होश में आने पर उसके बयान दर्ज किये जायेंगे और मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।
इनका कहना है-
“प्रारंभिक पुलिस जांच में मृतक और घायल युवक का विवाद होने की बात सामने आई है, फ़िलहाल लूटपाट के साक्ष्य नहीं पाए गए। पुलिस घटना की हर पहलू से बारीकी से जांच कर रही है जल्दी ही इसकी वास्तविकता को सामने लाया जायेगा।”

– विवेक सिंह, पुलिस अधीक्षक पन्ना।