खुलासा। आतंकी की एके-47 से की गई थी सुरेश की हत्या

1
718
प्रेस वार्ता में जानकारी देते आईजी उमेश जोगा

हत्या के आरोप सेना का जवान व दो अन्य गिरफ्तार

रीवा। रडार न्यूज सुरेश उर्फ नीलू गौतम के अंधे कत्ल का रीवा पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा करने का दावा करते हुए हत्या के मामले में सेना के एक जवान और उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार युवक को एके-47 गोली मारकर हत्या करने के बाद आरोपियों ने घटना को छिपाने के लिए शव को क्योंटी फाॅल में फेंक दिया था। पुलिस ने हत्या की वारदात में प्रयुक्त रायफल को जब्त कर लिया है। अत्याधुनिक एके-47 रायफल को सेना में लांस नायक के पद में पदस्थ धीरेन्द्र सिंह ने कुपवाड़ा में तैनाती के दौरान आतंकियों से छीन ली थी। जिसे वह चोरी छिपे अपने गांव ले आया था। पुलिस ने रायफल के अलावा 47 जिंदा कारतूस और तीन मैगजीन भी जब्त की है। हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद लाश को ठिकाने लगाने के लिए जिस क्रेटा कार क्रमांक-जेएच-01-सीएल-9999 का प्रयोग किया गया उसके लुधियाना में होने की सूचना पुलिस को मिली है। कार को जब्त करने के लिए एक टीम को वहां भेजा जा रहा है। यह जानकारी अंधे कत्ल का खुलासा करते हुए आईजी उमेश जोगा ने दी है। पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित प्रेसवार्ता में उन्होंने बताया कि हत्या की वजह एक वृद्ध महिला की जमीन के लेनदेन का विवाद है। उक्त जमीन की देखरेख सुरेश उर्फ नीलू गौतम करता था। और महिला की सहमति से जमीन का सौदा सुरेश करता था। पुलिस के अनुसार धीरेन्द्र सिंह उर्फ धीरू पुत्र कल्याण सिंह गहरवार 37 वर्ष निवासी मझगवां सेना की 82 आर्मर रेजीमेंट राॅची झारखण्ड में पदस्थ है। धीरेन्द्र सिंह गहरवार व मृतक सुरेश उर्फ नीलू ने घटना दिनांक को रात के समय एक साथ शराब पी थी। इसी दौरान उनके बीच विवाद हो गया। जिसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। वारदात को छिपाने के लिए आरोपी शव को गाड़ी में रखकर ले गये और क्योंटी फाॅल में फेंक दिया।

फरार होने पर हुआ संदेह-

उल्लेखनीय है कि 16 जून की रात रायपुर थाना पुलिस को कोष्टा में गोली चलने की सूचना डायल 100 से प्राप्त हुई। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो घटना स्थल पर मिट्टी में खून, चप्पल, मोबाईल व शराब की बोतल पाई गई। पूंछतांछ करने पर पता चला कि उक्त मोबाईल सुरेश गौतम का है। जिसकी 16 जून की शाम 7 बजे से घर से गायब होने की रिपोर्ट विश्वविद्यालय थाना में दर्ज थी। संदेह होने पर उसके दोस्तों का पता किया गया तो वे फरार मिले। इसके पुलिस का संदेह और पक्का हो गया। आखिरकार पुलिस ने कड़ी मेहनत के बाद सेना के जवान धीरेन्द्र सिंह और दो साथियों को हिरासत में लेकर जब सख्ती से पूंछतांछ की तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया। रायपुर कर्चुलियान थाना प्रभारी उमेश कुमार व उपनिरीक्षक उदयभान सिंह पेण्ड्रो व उनकी टीम ने आरोपियों द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंचकर क्योंटी जल प्रपात से 29 जून को सुरेश उर्फ नीलू गौतम की लाश बरामद की गई।

रिश्तेदार के घर मिली रायफल-

आईजी उमेश जोगा ने पत्रकारों को बताया कि आरोपियों की निशानदेही पर उनके रिश्तेदार अंकित सिंह निवासी टेडगांव थाना कोटा जिला सतना के घर से एके-47, कारतूस और मैगजीन बरामद की गई है। इस मामले में पुलिस ने अंकित को भी गिरफ्तार किया है। हत्या के मामले में गिरफतार सभी आरोपियों को न्यायालय में पेशकर पुलिस ने पूंछतांछ के लिए 7 दिन की रिमाण्ड पर लिया है। सुरेश गौतम के अंधेकत्ल के खुलासे को लेकर आईजी उमेश जोगा ने थाना प्रभारी रायपुर कर्चुलियान उमेश मार्को व उनकी टीम की सराहना की है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here