शासन की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन में जनसहयोग आवश्यक : कलेक्टर

0
779

* खाद्य असुरक्षा एवं कुपोषण से मुक्ति जनयात्रा सम्पन्न

पन्ना। (www.radarnews.in) खाद्य असुरक्षा और कुपोषण से मुक्ति के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती 02 अक्टूबर से प्रारंभ जनयात्रा का समापन पुराना पन्ना ग्राम पंचायत में किया गया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने कहा कि शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में शासकीय अमले के साथ आम आदमी की जनभागीदारी होना आवश्यक है। कलेक्टर श्री शर्मा ने उपस्थितों को सम्बोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने देश को आजाद कराने के लिए एक जन आंदोलन चलाया था। इस जन आंदोलन से देश को आजादी मिली थी। इसी तरह शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में जनभागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए।

कुपोषित बच्चों को मिला नवजीवन

श्री शर्मा ने कहा कि जिले से कुपोषण मिटाने के लिए संजीवनी कार्यक्रम का संचालन किया गया। इस कार्यक्रम में शासकीय अमले के साथ जनप्रतिनिधियों, स्वयंसेवी संस्थाओं एवं जनसहयोग से इसे संचालित कर जन आंदोलन का स्वरूप प्रदान किया गया। इस अभियान के तहत जिले के 2827 अतिकुपोषित बच्चों को गोद देने का कार्यक्रम प्रारंभ किया गया। इन बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार प्रारंभ हो गया है। जिले से कुपोषण को मिटाने के लिए कार्ययोजना तैयार कर क्रियान्वयन प्रारंभ कर दिया गया है। जिससे इन बच्चों को नवजीवन प्रदान कर सर्वांगीण विकास का अवसर उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पृथ्वी ट्रस्ट द्वारा जनयात्रा के दौरान जो अनुभव प्राप्त किए हैं और उनके द्वारा दिए गए सुझावों पर कार्यवाही की जाएगी।

संजीवनी अभिभावक बन संवारें बचपन

कलेक्टर ने अपील करते हुए कहा कि यह एक समाज कल्याण का पुनीत कार्य है। इस कार्य में सहभागी बनकर अपने-अपने क्षेत्र के आंगनबाडी केन्द्रों में अतिकुपोषित एवं कुपोषित बच्चों को संजीवनी अभियान के तहत संजीवनी अभिभावक के रूप में गोद लेकर कुपोषण से जिले को मुक्ति दिलाने का कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि संजीवनी अभिभावक को बच्चों के परिवारजनों को बच्चे की देखरेख के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। बच्चे का स्वास्थ्य परीक्षण कराना, अतिरिक्त पूरक पोषण आहार उपलब्ध कराना, परिवार को स्वच्छता एवं उचित खानपान की आदतों के लिए प्रोत्साहित करें। परिवार को आर्थिक रूप से सुदृढ बनाने के लिए उन्हें शासकीय योजनाओं को पात्रता अनुसार लाभ दिलाने के साथ-साथ अन्य आवश्यक सहयोग करना चाहिए। जिससे पन्ना जिले को कुपोषण से मुक्ति दिलाई जा सके। उन्होंने कहा कि जिले में पृथ्वी ट्रस्ट द्वारा इस पुनीत कार्य के लिए जो जनयात्रा प्रारंभ की गयी है उसके लिए पृथ्वी ट्रस्ट के पदाधिकारी साधूवाद के पात्र है। मैं उनसे अपेक्षा करता हूँ कि इस जनयात्रा को निरंतर जारी रखें। जिससे समाज में जागरूकता पैदा की जा सके।

पूरक पोषण आहार के पैकेट वितरित

इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी अशोक चतुर्वेदी ने सम्बोधित करते हुए कलेक्टर श्री शर्मा द्वारा जिले में किए गए नवाचारों पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर जिला महिला एवं बाल विकास के कार्यक्रम अधिकारी उदल सिंह एवं ग्रामीण परियोजना अधिकारी अशोक कुमार द्वारा सम्बोधित किया गया। इस अवसर पर इसी तरह की जनयात्रा निकालने वाले रीवा से रामनरेश यादव, छतरपुर से विनोद भारती, सतना के आनन्द श्रीवास ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में पत्रकार मनीष मिश्रा एवं नईम खान द्वारा सम्बोधित करते हुए आयोजित जनयात्रा की सराहना की गयी। इस अवसर पर कुपोषित परिवार के अभिभावकों को पूरक पोषण आहार के पैकेट वितरित किए गए।

यात्रा ने बढ़ाई जन जागरूकता

कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर पृथ्वी ट्रस्ट के प्रमुख यूसुफ बेग द्वारा प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया गया कि इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य सतत विकास के लक्ष्य 2.2 एवं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून 2013 के प्रावधानों पर लोगों को जागरूक करना है। यात्रा के दौरान जिले के विभिन्न ग्रामों का भ्रमण कर बैठकें आयोजित कर 50 हजार लोगों से सम्पर्क स्थापित कर उनमें जागरूकता बढाने का कार्य किया गया। जिससे जिले में कुपोषण, मातृ एवं शिशु मृत्युदर को समाप्त किया जा सके। इस अवसर पर जनप्रतिनिधि, पत्रकार, जिला अधिकारी, आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं ग्रामीणजन उपस्थित रहे। अंत में समाजसेवी ज्ञानेन्द्र तिवारी ने सभी उपस्थित जनों का आभार प्रकट कर कार्यक्रम का समापन किया।