नीलेश हत्याकाण्ड : गम और गुस्से के बीच हुआ अंतिम संस्कार, मासूम बेटे ने दी मुखाग्नि तो छलक उठीं आँखें

0
1812
भाजपा नेता नीलेश दिवेदी का अंतिम संस्कार ग़मगीन माहौल में गृहग्राम मोहनपुरा में किया गया।

* अंतिम यात्रा में शामिल सैंकड़ों लोगों ने की हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की माँग

* सांसद ने मोहनपुरा पहुँचकर पीड़ित परिवार के प्रति व्यक्त की शोक संवेदना

पन्ना। (www.radarnews.in) भाजपा नेता नीलेश दिवेदी का अंतिम संस्कार रविवार को उनके गृहग्राम मोहनपुरा में बेहद तनाव भरे ग़मगीन माहौल में हुआ। अंतिम यात्रा में ककरहटी क्षेत्र सहित समूचे जिले से सैंकड़ों की संख्या में शामिल हुए लोगों में नीलेश की जघन्य हत्या को लेकर जबर्दस्त रोष देखा गया। गम और गुस्से के बीच चिता पर रखी पिता की पार्थिव देह को मासूम बेटे अंशुमान दिवेदी ने जब काँपते हुए हाथों से मुखाग्नि दी तो वहाँ मौजूद लोगों की आँखें छलक उठीं। हृदय को रुला देने वाले इस दृश्य को देख लोग नीलेश के कातिलों को बददुआ देने लगे। नीलेश अपने पीछे पुत्र अंशुमान द्विवेदी 7 वर्ष व पुत्री श्रेया द्विवेदी 9 वर्ष एवं पत्नी सहित भरा पूरा परिवार रोता-बिलखता छोड़ कर चले गए। हत्या की वारदात के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल। दिवेदी परिवार हर क्षण मातमी चीखें गूँज रहीं हैं।
नीलेश की मौत पर विलाप करते हुए बिलख-बिलख कर रोतीं परिवार की महिलायें।
भाजपा नेता नीलेश दिवेदी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या करने के बाद से फरार चल रहे आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से लोगों में आक्रोश व्याप्त है। जिसके मद्देनजर मोहनपुरा में रविवार 28 जुलाई को नीलेश के अंतिम संस्कार के समय बड़ी संख्या में पुलिस बल एहतियात के तौर तैनात रहा। लोगों ने पुलिस से नीलेश के कातिलों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की माँग की है। उल्लेखनीय है कि नीलेश भजपा में शामिल होने के पूर्व सपाक्स के जिला अध्यक्ष रहे हैं। शुक्रवार 26 जुलाई को दोपहर करीब 11:30 बजे ककरहटी से बाइक पर सवार होकर मोहनपुरा जाते समय रास्ते में सशस्त्र अपराधियों ने पैर में तीन गोलियाँ मारकर लाठी-डण्डे व रॉड से प्राणघातक हमला कर दिया था। अत्यंत ही गंभीर रुप से घायल नीलेश की शुक्रवार शाम इलाज के दौरान मेडीकल कॉलेज रीवा में मौत हो गई थी।

शोक संतृप्त परिजनों से मिले सांसद

भारतीय जनता युवा मोर्चा के सक्रिय कार्यकर्ता रहे नीलेश दिवेदी की जघन्य हत्या को लेकर पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं में भी काफी आक्रोश है। इस हत्याकाण्ड से स्तबध भाजपा नेता, समाजजान एवं क्षेत्र के लोग अपनी शोक संवेदना व्यक्त करने लगातार मोहनपुरा पहुँच रहे है। रविवार को खजुराहो सांसद विष्णु दत्त शर्मा भी मोहनपुरा पहुँचे और नीलेश के परिजनों से मिलकर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। उन्होंने घटना पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि नीलेश के रूप में भाजपा ने एक कर्मठ कार्यकर्ता को खो दिया और इस गाँव तथा क्षेत्र के लोगों ने अन्याय के खिलाफ लड़ने वाले एक जुझारू-संघर्षशील व्यक्तित्व को खोया है, यह क्षति अपूर्णीय है। दिवेदी परिवार पर जो वज्रपात टूटा है, उसका मुझे एहसास है।
नीलेश के बच्चों को दुलारते खजुराहो सांसद विष्णु दत्त शर्मा एवं बगल में बैठे भाजपा के अन्य नेतागण।
आपने शोकाकुल परिवार को दुःख की इस घड़ी में हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया है। सांसद श्री शर्मा द्वारा नीलेश के दोनों बच्चों को दुलारते हुए पीड़ित परिजनों को सांत्वना दी गई। उन्होंने इस गहन दुःख को सहन करने के लिए परिजनों को शक्ति प्रदान करने एवं मृत आत्मा को शांति देने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। सांसद ने फरार हत्यारोपियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी सुनिश्चित करने को लेकर पन्ना पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी से बात कर उनसे आवश्यक कदम उठाने को कहा गया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष रविराज सिंह यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष पन्ना सतानंद गौतम, जिला पंचायत उपाध्यक्ष माधवेन्द्र सिंह, विनोद तिवारी एडवोकेट, संजीत सरकार सहित बड़ी संख्या में ककरहटी क्षेत्र के लोग उपस्थित रहे।
भाजपा नेता नीलेश दिवेदी का घायल अवस्था का चित्र।