’’मलेरिया ऑफ 200’’ : टीके की तरह काम करेगी यह होम्योपैथिक दवा, एक बार सेवन करने से सालभर नहीं होगा मलेरिया

0
1469
सांकेतिक फोटो।

* पन्ना जिले के मलेरिया प्रभावित 67 ग्रामों में निःशुल्क खिलाई जाएगी दवा

* आंगनवाडी एवं आशा कार्यकर्ता घर -घर जाकर दो चरणों कराएँगी दवा का सेवन

* पिछले वर्ष दवा के सेवन से मलेरिया केसों में आई थी 50 प्रतिशत तक की कमी

पन्ना।(www.radarnews.in) जिला मलेरिया अधिकारी हरिमोहन रावत ने बताया है कि जिले में वर्ष 2018 के आंकड़ों के आधार पर मलेरिया से प्रभावित 67 ग्रामों में आयुष विभाग द्वारा स्वास्थ्य विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग के आशा एवं आंगनवाडी कार्यकर्ताओं के माध्यम से ’’मलेरिया ऑफ 200’’ दवा के सेवन का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि अजयगढ़ ब्लॉक के 8 ग्राम, पन्ना ब्लॉक के 12 ग्राम, गुनौर ब्लॉक के 20 ग्राम और पवई ब्लॉक के 27 ग्रामों में आंगनवाडी एवं आशा कार्यकर्ता घर -घर जाकर लोगों को इस दवा का सेवन करायेंगी। यह दवा एक वर्ष तक मलेरिया रोग से बचाव के लिए टीके की तरह काम करेगी। दवा सेवन का यह अभियान दो चरणों में सम्पन्न होगा प्रथम चरण में दिनांक 03 अगस्त, 10 अगस्त और 17 अगस्त तथा द्वितीय चरण दिनांक 11 सितम्बर, 18 सितम्बर एवं 25 सितम्बर 2019 को आयोजित होगा। चिन्हित ग्रामों में प्रत्येक परिवार के प्रत्येक सदस्य को होम्योपैथिक रोग प्रतिरोधक औषधि मलेरिया ऑफ 200 की एक-एक खुराक (6-6 गोलियां) निःशुल्क खिलाई जाएगी।

दवा का अवश्य करें सेवन

सांकेतिक फोटो।
जिला मलेरिया अधिकारी हरिमोहन रावत ने सभी संबंधित ग्राम के निवासियों से अनुरोध किया है कि शासन के निर्देशानुसार मलेरिया रोग प्रतिरोधक दवा का सेवन करें और स्वयं और अपने परिवार को मलेरिया रोग से बचावें। वर्ष 2017 में भी जिले के 149 ग्रामों में यह कार्यक्रम चालू किया गया था जिससे संबंधित ग्रामों में लगभग 40 से 50 प्रतिशत मलेरिया के प्रकरणों में कमी दर्ज हुई थी।