माफियाओं खबरदार ! ये शिवराज सरकार नहीं कमलनाथ सरकार है, किसी को बख्शा नहीं जाएगा : कम्प्यूटर बाबा

0
1090
पन्ना जिले के अजयगढ़ जनपद क्षेत्र में मोहाना रेत खदान का निरीक्षण करते हुए नदी न्यास अध्यक्ष महामण्डलेश्वर कम्प्यूटर बाबा।

* पन्ना जिले के प्रवास पर आए नदी न्यास अध्यक्ष ने देखी केन नदी की दुर्दशा

* रेत का बड़े पैमाने पर अवैध उत्खनन होने से केन का सीना और कोख हुई छलनी

* करीब 40 किलोमीटर के क्षेत्र में जलीय जीवों और केन के कछार का विनाश

शादिक खान, पन्ना।(www.radarnews.in) अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्ख़ियों में रहने वाले मध्य प्रदेश नदी न्यास के अध्यक्ष महामण्डलेश्वर कम्प्यूटर बाबा ने माफियाओं को अपने चिरपरिचित अंदाज में आगाह करते हुए कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा माफिया अब संभल जायें क्योंकि यह शिवराज की सरकार नहीं कमलनाथ की सरकार है, गैरकानूनी काम करने वालों को अब बख्शा नहीं जाएगा। कैबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त नदी न्यास अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा ने यह बात पन्ना जिले में पत्रकारों से चर्चा में कही। कम्प्यूटर बाबा शनिवार 1 फ़रवरी को अपने दो दिवसीय प्रवास पर पन्ना पहुँचे। कुछ देर पन्ना में रुकने के बाद कम्प्यूटर बाबा जिले के अजयगढ़ तहसील क्षेत्र के दौरे पर रवाना हो गए। जहाँ उन्होंने केन नदी का अवलोकन किया और इस नदी में सप्ताह भर पूर्व तक संचालित रहीं पंचायतों की रेत खदानों भी मुआयना किया।
मोहाना में केन नदी किनारे नदी न्यास अध्यक्ष महामण्डलेश्वर कम्प्यूटर बाबा ने पौधरोपण किया।
कम्प्यूटर बाबा ने अजयगढ़ जनपद क्षेत्र में रेत खदानों के निरीक्षण की शुरुआत मोहना खदान से की। इसके पश्चात उन्होंने चाँदीपाठी, रामनई, जिगनी आदि रेत खदानों का मौके पर जाकर निरीक्षण किया। उन्होंने मोहाना रेत खदान में नदी के किनारे वृक्षारोपण कर सरपंच को निर्देश दिए कि लगाए जा रहे वृक्षों की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी सरपंचों की है। इस दौरान नदी न्यास अध्यक्ष महामण्डलेश्वर कम्प्यूटर बाबा ने पत्रकारों से चर्चा में बताया कि नदियों की का दायित्व मुझे मिला है, इनकी सुरक्षा बनीं रहे और नदियों को नुकसान न हो इसका जायजा लेने आया हूँ। प्रदेश की नदियाँ कल-कल बहें मुख्यमंत्री कमलनाथ की यह मंशा है। इसके लिए पूरे प्रदेश की नदियों का दौरा कर उनके दोनों किनारों पर पौधरोपण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए जा रहे हैं। नदियों के किनारे हरियाली बनी रहे, वहाँ अवैध कटाई और रेत का अवैध खनन न हो यह सुनिश्चित करने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।
कम्प्यूटर बाबा ने जोर देते हुए कहा कि शासन की रेत नीति के अनुसार रेत का खनन होना चाहिए यदि रेत माफिया अवैध रूप से प्रतिबंधित मशीनों को नदी में उतारकर रेत निकालते है तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। मीडिया के माध्यम से कम्प्यूटर बाबा ने माफियाओं को चेतावनी देते हुए कहा कि आप संभल जाएँ यह शिवराज सरकार नहीं कमलनाथ की सरकार है, इसमें कोई भी हो चाहे वह रेत माफिया, भू-माफिया हो या फिर अपराधी हो उसे कतई बख्शा नहीं जाएगा। पिछले दिनों पन्ना जिले के अजयगढ़ क्षेत्र में अवैध रेत उत्खनन को रोकने के लिए की गई कार्रवाई को उन्होंने प्रभावी कार्यवाही बताते हुए इसके लिए कलेक्टर, एसपी और खनिज अधिकारी को बधाई दी और आगे भी इसी तरह कार्रवाई करने की बात कही है।
इसके पूर्व पन्ना के सर्किट हाउस में कम्प्यूटर बाबा ने कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के साथ वन एवं खनिज विभाग के अधिकारियों से जिले में नदियों के संरक्षण तथा अवैध रेत उत्खनन पर पूर्णतः पाबंदी लगाने के संबंध में चर्चा की। उल्लेखनीय है कि लंबे समय से बेतहाशा रेत खनन के दुष्परिणाम केन नदी में साफ़ दिखने लगे हैं। सदानीरा केन तेजी से बरसाती नदी में तब्दील हो रही है। दैत्याकार मशीनों के जबड़ों से नदी का सीना और कोख छलनी कर रेत निकाले जाने से केन की जल धारण क्षमता पर विपरीत असर पड़ा है। मोहाना से लेकर रामनई तक करीब 40 किलोमीटर में नदी का कछार पूरी तरह उजड़ चुका है। वहीं इस क्षेत्र में जलीय जीव भी गिनती के ही रह गए हैं।