खजुराहो लोकसभा सीट : वीडी शर्मा को निर्विरोध निर्वाचित कराने अब साम-दाम-दंड-भेद का उपयोग, शेष 13 अभ्यर्थियों पर नामांकन वापस लेने भाजपाई बना रहे दबाव

0
2328
खजुराहो संसदीय क्षेत्र का मानचित्र।

*      इंडिया गठबंधन से समाजवादी पार्टी प्रत्याशी मीरा यादव का पर्चा निरस्त होने के बाद सक्रिय हुए भाजपाई

*       रिटायर्ड आईएएस आरबी प्रजापति ने भारत निर्वाचन आयोग को भेजी शिकायत में अपनी जान को खतरा बताया

*       नामांकन वापस लेने के भाजपा के नेता लगातार डाल रहे दवाब, निगम-मंडल में अध्यक्ष पद का दे रहे ऑफर

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) मध्य प्रदेश की खजुराहो लोकसभा सीट पर इंडिया गठबंधन से समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी रहीं मीरा दीपक यादव का नामांकन फ़ार्म शुक्रवार 5 अप्रैल को संवीक्षा के दौरान रिटर्निंग ऑफिसर एवं पन्ना कलेक्टर सुरेश कुमार ने निरस्त कर दिया था। मुख्य विपक्षी उम्मीदवार मीरा यादव के नामकंन फार्म को निरस्त करने का कारण पुरानी मतदाता सूची की सत्यापित कॉपी संलग्न करना और फार्म में एक जगह हस्ताक्षर न होना बताया था। समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार के साथ पांच अन्य नाम निर्देशन पत्र विभिन्न कारणों से निरस्त किए गए थे। जिसके बाद खजुराहो सीट से भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी एवं प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा और बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार कमलेश पटेल के अलावा 12 निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव मैदान में शेष बचे हैं। रिटर्निंग ऑफिसर सुरेश कुमार के द्वारा कथित तौर पर समय रहते समाजवादी पार्टी प्रत्याशी के नामांकन फार्म की कमियों की पूर्ती न कराने और फिर भाजपा प्रत्याशी के दबाव में आकर सुनियोजित तरीके से नामांकन निरस्त करने के बाद पन्ना से लेकर राजधानी भोपाल तक जबर्दस्त सियासी बवाल मचा है।
आरबी प्रजापति, सेवानिवृत आईएएस।
इस बीच अवसर का लाभ उठाकर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा को निर्विरोध निर्वाचित कराने के लिए भाजपा नेता सक्रिय हो गए हैं। बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी कमलेश पटेल समेत 12 निर्दलीय उम्मीदवारों के नामांकन फार्म वापस करवाने के लिए भाजपा नेताओं के द्वारा साम-दाम-दंड-भेद की नीति अपनाई जा रही है। शेष बचे अभ्यर्थियों को ‘रणछोड़दास’ बनने के लिए निगम-मंडल में अध्यक्ष के पद पर ताजपोशी कराने का ऑफर देने के साथ उन पर अनुचित दवाब भी डाला जा रहा है। ऐसा ही एक मामला शनिवार 6 अप्रैल को सोशल मीडिया के जरिए सामने आने से हड़कंप मचा है। जिसके बाद से भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा लोकतंत्र का गला घोंटने अपनाए जा रहे हथकंडों को लेकर जनमानस में गहरा रोष व्याप्त है।

मुख्य चुनाव आयुक्त को भेजी शिकायत में यह सब लिखा

आरबी प्रजापति, सेवानिवृत आईएएस के द्वारा मुख्य चुनाव आयुक्त को भेजी गई शिकायत की कॉपी।
बता दें कि, खजुराहो लोकसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार राजा भईया प्रजापति (आरबी प्रजापति) रिटायर्ड आईएएस ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त को लिखित शिकायत भेजी है। जिसमें उन्होंने बताया है कि, नामांकन वापिस लेने के लिए अनेक प्रकार के प्रलोभन देकर मुझ पर अनुचित दबाव डाला जा रहा है। शिकायत में उल्लेख है कि, मैं मध्य प्रदेश की खजुराहो लोकसभा सीट-08 से उम्मीदवार हूं, पर्चा वापिस लेने के संबंध में मुझ पर दबाव बनाया जा रहा है। उन्होने साक्ष्य के तौर पर बताया कि नाम निर्देशन पत्रों की स्क्रूटनी दिनांक 5 अप्रैल 2024 को राम विशाल बाजपेयी निवासी ग्राम कटरा एवं पूर्व अध्यक्ष, जनपद पंचायत गौरिहार, जिला-छतरपुर ने मुझे दोपहर 1:36 बजे अपने मोबाइल फोन नंबर 9754427020 से मेरे मोबाइल नंबर 9752068493 पर फोन किया। 16 मिनट 04 सेकंड बात की और मुझ पर पर्चा वापस लेने का दबाव डाला। खजुराहो लोकसभा से उम्मीदवारी वापस लेने के एवज में मध्य प्रदेश सरकार में किसी भी बोर्ड या निगम में अध्यक्ष पद की पेशकश की गई। लेकिन मैंने किसी की भी पेशकश को स्वीकार करने से इंकार कर दिया। राम विशाल बाजपेयी भाजपा कार्यकर्ता हैं। इसके बाद दोपहर 1:55 बजे राजा द्विवेदी निवासी ग्राम खड्डी ने मुझे अपने मोबाइल नंबर 9617488948 से फोन किया, जो एक भाजपा कार्यकर्ता हैं। इनका इरादा भी वही था जो राम विशाल बाजपेयी का था। राजा द्विवेदी ने 50 सेकेंड बात की और फिर मैंने बात करने से इनकार कर दिया।

इस दबाव के पीछे कौन है ?

विष्णु दत्त शर्मा (वीडी शर्मा), भाजपा प्रत्याशी, खजुराहो लोकसभा क्षेत्र।
निर्दलीय उम्मीदवार राजा भइया (आरबी) प्रजापति ने अपनी शिकायत में लिखा है, इस मामले पर उनसे और उसके बाद दोपहर 2:26 बजे अमित बाजपेयी उपाध्यक्ष, जनपद पंचायत (मध्यवर्ती पंचायत) गौरिहार, जिला छतरपुर ने मुझे अपने मोबाइल नंबर 9753574342 से फोन किया। और 4 मिनट बात की और उन्होंने मुझ पर उम्मीदवारी वापस लेने का दबाव डाला। खजुराहो लोकसभा सीट से नामांकन वापस लेने पर सरकार में किसी भी बोर्ड या निगम की अध्यक्षता के लिए अथवा किसी भी पद की पेशकश की। लेकिन मैंने उनके प्रस्ताव को भी अस्वीकार कर दिया और उनसे कहा कि मैं चुनाव लड़ूंगा। ये सभी लोग भारतीय जनता पार्टी से हैं और इस दबाव के पीछे कौन है यह जांच का विषय है? पिछले दो व्यक्तियों ने मुझसे मेरे घर पर व्यक्तिगत रूप से संपर्क करने का आग्रह किया लेकिन मैंने उन्हें किसी भी व्यक्तिगत संपर्क के लिए मना कर दिया। इस प्रकार से लगातार दबाव बनाया जा रहा है। पूर्व आईएएस ने अपनी जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए तथा संबंधितों के खिलाफ उचित कार्यवाही पर की मांग की है।

अंडर ग्राउंड हुए बसपा समेत अन्य उम्मीदवार

खजुराहो लोकसभा सीट से बहुजन समाज पार्टी प्रत्याशी कमलेश पटेल।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सेवानिवृत्त आईएएस राजा भइया प्रजापति के अलावा अन्य निर्दलीय उम्मीदवारों से भी भाजपा नेताओं ने नामंकन वापस लेने के लिए संपर्क साधा है। खजुराहो संसदीय क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी विष्णु दत्त शर्मा (वीडी शर्मा) को निर्विरोध निर्वाचित करवाकर रिकार्ड बनाने के इरादे से उनके करीब पार्टी नेता हर हथकंडा अपना रहे हैं। अपुष्ट चर्चा है कि, बसपा प्रत्याशी कमलेश पटेल और उनके परिजनों से भाजपा नेताओं ने सम्पर्क किया है। भाजपा नेताओं की आक्रामकता को देखते हुए कथित तौर पर बसपा प्रत्याशी और उनके प्रस्तावक-समर्थक अंडर ग्राउंड हो गए हैं। खबर यह भी है कि, कथित तौर भाजपा नेताओं के दबाव और प्रलोभन में आकर कुछ निर्दलीय उम्मीदवार नाम निर्देशन पत्र वापस लेने के लिए तैयार हो गए हैं। मालूम हो कि खजुराहो लोकसभा सीट पर नामांकन फार्म वापस लेने की अंतिम तारीख सोमवार 08 अप्रैल 2024 है। जिस तरह से मुख्य विपक्षी उम्मीदवार मीरा यादव का नामांकन रद्द कर के उन्हें चुनाव मैदान से बाहर किया गया उसके बाद सबकी नजरें खजुराहो सीट पर शेष बचे अभ्यर्थियों पर टिकीं है। अब यह देखना दिलचस्प 08 अप्रैल को हाईप्रोफाइल खजुराहो लोकसभा सीट पर क्या खेला होता है। अंतिम दिन कितने उम्मीदवार चुनावी मैदान से हटते हैं इस पर सबकी नजरें रहेंगी।

अधिक जानकारी के लिए कृपया नीचे दी गई लिंक को क्लिक करके खबर को पढ़ें-

खजुराहो लोकसभा सीट पर खेला : INDIA गठबंधन को लगा झटका, समाजवादी पार्टी प्रत्याशी का नामांकन निरस्त, BJP को वॉकओवर !