फाँसी की सजा से मंदसौर घटना में हुआ न्याय : शिवराज सिंह

0
566
फाइल फोटो।

मुख्यमंत्री ने पुलिस, अभियोजन अधिकारियों की तत्परता की सराहना

भोपाल। रडार न्यूज    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंदसौर में मानवता को कलंकित करने वाली त्रासदपूर्ण घटना में दोषियों को फाँसी की सजा होने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसमें न्याय हुआ है। घटना में दोषी व्यक्तियों को फाँसी की सजा दिलाने में जिला अदालत, पुलिस और अभियोजन से जुड़े अधिकारियों ने जो तत्परता दिखाई है वह सराहनीय है। श्री चौहान ने कहा कि बेटियों की गरिमा से खिलवाड़ करने वालों के लिये सिर्फ फाँसी ही सजा है। पीड़ित बेटी प्रदेश की बेटी है। उसका हर तरह से पूरा ख्याल रखा जायेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि घटना की जाँच में मंदसौर जिला पुलिस की अनुसंधान टीम ने तत्परता के साथ कार्य किया और दोषियों को फाँसी देने के लिये सभी साक्ष्य जुटाये। अभियोजन की कार्रवाई मात्र आठ दिन में पूरी की गई। विशेष न्यायाधीश की अदालत ने साक्ष्यों के आधार पर अपराधियों का दोष सिद्ध पाया और फाँसी सजा सुनाई। इस प्रकरण में जिस कर्त्तव्य-निष्ठा और कार्य-कुशलता के साथ पुलिस और अभियोजन अधिकारियों ने दोषियों को फाँसी की सजा दिलवाने का काम किया, वह काबिले तारीफ है। ऐसी जघन्य घटनाओं के प्रति राज्य शासन संवेदनशील है। दरिंदों को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जायेगा। मध्यप्रदेश ने ऐसे संवेदनशील मामलों में तत्काल कार्रवाई कर दोषियों को फाँसी दिलाने का काम किया है।