शिवराज के मंत्री सड़क पर खड़े होकर लोगों से करेंगे सुरक्षा नियमों के पालन की अपील

0
641
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में राज्य सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक हुई।

सड़क-सुरक्षा नियमों के पालन के लिये जन-जागृति अभियान चलाने के निर्देश 

शराब पीकर वाहन चलाने के मामलों में 10 हजार ड्राइविंग लाइसेंस निलंबित किये

मुख्यमंत्री श्री चौहान की अध्यक्षता में हुई राज्य सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक

भोपाल। रडार न्यूज     मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सड़क सुरक्षा नियमों के पालन के लिये जन-जागृति अभियान चलाया जाये। उन्होंने कहा कि समाज की सहभागिता के साथ व्यापक अभियान का संचालन 4 सितंबर से शुरू किया जाये। श्री चौहान आज मंत्रालय में राज्य सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

श्री चौहान ने कहा कि नियमों के पालन के लिये प्रवर्तन से पूर्व समझाइश की पहल की जानी चाहिए। लोगों को सड़क सुरक्षा की समस्या पर विचार करने के लिये प्रेरित किया जाना चाहिए। प्रेरणा और प्रोत्साहन के प्रयास बेहद जरूरी हैं। भोपाल में जन-जागृति अभियान के शुभारंभ अवसर पर मंत्रि-परिषद के सदस्य सड़क पर खड़े होकर नागरिकों से सड़क सुरक्षा नियमों के पालन की अपील करें। सप्ताह के दौरान प्रभारी मंत्री अपने क्षेत्रों में भी जन-जागृति का कार्य करें। उन्होंने जन-जागृति अभियान में धर्मगुरुओं और समाज सेवियों का सहयोग प्राप्त करने के लिये कहा ताकि सड़क-सुरक्षा नियमों के प्रति समाज में सकारात्मक सोच निर्मित हो।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शराब पीकर वाहन चलाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई का अभियान चलाने की जरूरत बतायी। उन्होंने कहा कि अभियान के संबंध में अग्रिम सूचना को व्यापक स्तर पर प्रसारित किया जाये। पर्याप्त मात्रा में ब्रीथ एनालाइजर और स्पीड गन की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाये, ताकि मदिरा पीकर और तेज गति से ड्राइविंग करने वालों के विरुद्ध प्रमाणिक कार्रवाई हो सके।

गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि शराब पीकर वाहन चलाने के मामलों में प्रदेश में 10 हजार वाहन चालन अनुज्ञप्तियों को निलंबित किया गया है। बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव, स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह, लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह, मुख्य सचिव बी.पी. सिंह, पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला सहित राज्य सड़क सुरक्षा परिषद के सदस्य मौजूद थे।