मीजल्स-रूबेला जैसी घातक जानलेवा बीमारियों से बच्चों को बचाने आज से लगेगा निः शुल्क टीका, प्रदेश के 2 करोड़ 32 लाख 44 हजार बच्चों का होगा टीकाकरण

0
655
सांकेतिक फोटो।

* मीजल्स-रूबेला अभियान 15 जनवरी से, तैयारियाँ पूरी

* 9 माह से 15 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों लगाया जायेगा एम.आर. का टीका

भोपाल। रडार न्यूज प्रदेश में 15 जनवरी से शुरू हो रहे मीजल्स-रूबेला अभियान की सभी तैयारियाँ पूरी कर ली गई हैं। प्रदेश में 9 माह से 15 वर्ष आयु वर्ग तक के 2 करोड़ 32 लाख 44 हजार बच्चों को एम.आर. का टीका लगाया जायेगा। राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि 9 माह से 15 वर्ष आयु वर्ग तक के सभी बच्चों को टीका लगाने के लिये प्रदेश में कुल 2 लाख 64 हजार 300 सत्र आयोजित कर टीकाकरण किया जायेगा। शासकीय और निजी शालाओं के प्राचार्यों और अभियान के लिये नियुक्त नोडल शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जा चुका है। सत्रों के व्यवस्थित संचालन के लिये 20 हजार वेक्सीनेटर्स को प्रशिक्षण दिया गया है। पूरे प्रदेश में ग्राम स्तर तक 66 हजार आशा कार्यकर्ता और आशा सहयोगिनी अभियान में सहयोग दे रही हैं।

बच्चों को जरूर लगवायें टीका

अभियान के तहत जिला और विकासखण्ड स्तरों पर टॉस्क फोर्स गठित की गई है। राज्य एवं जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष बनाये गये हैं। सुदूर अंचलों तक पहुँचने के लिये विशेष मोबाइल टीकाकरण टीमें बनाई गई हैं। अभियान में इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन और इण्डियन एसोसिएशन ऑफ पीडियाट्रिशियन, रोटरी क्लब, लायंस क्लब आदि सामाजिक संस्थाओं का भी सहयोग और समर्थन प्राप्त हो रहा है। राज्य टीकाकरण अधिकारी ने बताया कि टीकाकरण नि:शुल्क है। अभिभावकों से आग्रह किया गया है कि नौ माह से 15 वर्ष तक के बच्चे को एम.आर. का टीका जरूर लगवायें। यह टीका मीजल्स और रूबेला जैसी दो घातक जानलेवा बीमारियों से सुरक्षा देता है। प्रदेश को मीजल्स-रूबेला से मुक्त करने के अभियान में सभी वर्गों, समुदाय के नागरिकों से सहयोग की अपील की गई है।