भीषण हादसा : स्कॉर्पियो चलाते समय मोबाइल फोन पर बात कर रहे सब इंजीनियर ने अधेड़ को कुचला, मौके पर हुई दर्दनाक मौत, सड़क हादसे को लेकर उपजा आक्रोश

0
1898
भीषण सड़क हादसे की कहानी को बयां करती स्थल की तस्वीर।

* पन्ना से 5 किलोमीटर दूर एनएच-39 किनारे मोहनगढ़ी के समीप हुआ हादसा

* हादसे के समय अपनी पंचर की दुकान पर काम कर रहा था अधेड़

* परिवार के मुखिया की मौत होने से आश्रितों पर टूटा वज्रपात

पन्ना। (www.radarnews.in) तेज रफ्तार से स्कॉर्पियो वाहन चालते समय एक सब इंजीनियर द्वारा मोबाइल फोन पर बात करना भीषड़ सड़क हादसे का सबब बन गया। लापरवाहीपूर्वक चलाने के कारण अनियंत्रित हुई तेज रफ़्तार स्कॉर्पियो सड़क किनारे स्थित एक दुकान के संचालक को जोरदार ठोकर मारते हुए उसी के ऊपर पलट गई। सोमवार को पन्ना से 5 किलोमीटर दूर सतना मार्ग पर एनएच-39 किनारे मोहनगढ़ी के समीप हुए इस दर्दनाक हादसे में दुकान संचालक अधेड़ की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि आरोपी वाहन चालाक सब इंजीनियर मनोज रिछारिया उर्फ़ मंजू रिछारिया को मामूली चोटें आई हैं। आसपास मौजूद लोगों ने क्षतिग्रस्त वाहन में फंसे चालक और उसके नीचे दबे पंचर एवं किराना दुकान संचालक छोटे मोहम्मद पिता नत्थू मोहम्मद 45 वर्ष को जिला चिकित्सालय पहुँचाया।
हादसे में घायल सब इंजीनियर की सुरक्षा हेतु जिला चिकित्सालय के बाहर तैनात पुलिस के जवान।
सब इंजीनियर की कथित तौर घोर लापरवाही के चलते हुए इस हृदयविदारक हादसे को लेकर पीड़ित परिवार और रिश्तेदारों जरदस्त आक्रोश देखा गया। परिणामस्वरूप जिला चिकित्सालय में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने जब परीक्षण उपरांत छोटे मोहम्मद पिता नत्थू मोहम्मद 45 वर्ष निवासी पन्ना को आधिकारिक तौर मृत घोषित किया तो कतिपय आक्रोशित युवकों ने सब इंजीनियर मनोज रिछारिया उर्फ़ मंजू रिछारिया के साथ हाथापाई कर दी। तनाव को देखते जिला चिकित्सालय और शव विच्छेदन गृह के पुलिस बल को तैनात कर दिया गया।

भीषण हादसे से सहम उठे प्रत्यक्षदर्शी

प्राप्त जानकारी के अनुसार लोक निर्माण विभाग संभाग पन्ना में पदस्थ सब इंजीनियर मनोज रिछारिया उर्फ़ मंजू रिछारिया 50 वर्ष निवासी टिकुरिया मोहल्ला पन्ना सोमवार 11 नवंबर को दोपहर करीब 1 बजे अपने स्कॉर्पियो वाहन क्रमाँक एमपी-17-सीए-2593 को चलाते हुए सतना से पन्ना की ओर लौट रहे थे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक़ मंजू रिछारिया तेज रफ़्तार से गाड़ी चलाते हुए मोबाइल फोन पर बात कर रहे थे। उनकी गाड़ी जैसे ही मोहनगढ़ी मंदिर के समीप पहुँची तभी अचानक अनियंत्रित होकर सड़क से उतर गई और वहाँ अपनी पंचर एवं किराना दुकान में काम कर रहे छोटे मोहम्मद (राईन) पिता नत्थू मोहम्मद 45 वर्ष निवासी मठ्या तालाब पन्ना को जोरदार टक्कर मारते हुए उसी के ऊपर पलट गई।
दुखद हादसे का पता चलने पर शव विच्छेदन गृह के बाहर जुटे मृतक के परिजन एवं रिश्तेदार।
इस भीषण हादसे को देख आसपास मौजूद लोगों का कलेजा काँप उठा। अनियंत्रित स्कॉर्पियो के रूप में आँधी की तरह आई मौत एक झटके में छोटे मोहम्मद (राईन) को अपने साथ ले गई। हादसे के समय छोटे मोहम्मद की दुकान पर मौजूद रहे उनके परिचित भी इस भयावह दृश्य को देखकर सहम उठे। क्षतिग्रस्त वाहन में फंसे आरोपी चालक मंजू रिछारिया को एवं उसके नीचे दबे छोटे मोहम्मद को बाहर निकालकर लोगों ने तुरंत पन्ना जिला चिकित्सालय पहुँचाया। जहाँ ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने जब परीक्षण उपरांत छोटे मोहम्मद (राईन) पिता नत्थू मोहम्मद 45 वर्ष निवासी पन्ना को आधिकारिक तौर मृत घोषित कर दिया। इस हादसे मृतक की दुकान भी आंशिक तौर क्षतिग्रस्त हुई है।

भारी पुलिस बल रहा तैनात

मोहनगढ़ी में घटनास्थल पर एहतियात के तौर पर तैनात पुलिसकर्मी।
दुखद हादसे का पता चलने पर छोटे मोहम्मद के परिजन और रिश्तेदार बड़ी तादाद में जिला चिकित्सालय में पहुँच चुके थे। हादसे को लेकर आक्रोशित लोगों को जब छोटे मोहम्मद की मौत होने की खबर मिली तो कतिपय युवक भड़क ऊठे और उन्होंने जिला चिकित्सालय में अपना इलाज करवा रहे घायल आरोपी चालक एवं सब इंजीनियर मंजू रिछारिया के साथ कथित तौर पर हाथापाई कर दी। मृतक के परिजनों ने संवेदनशीलता दिखाते हुए तुरंत हस्तक्षेप कर विवाद को शांत करा दिया। सब इंजीनियर की घोर लापरवाही के चलते सड़क हादसे में दुकान संचालक के असमय काल कवलित होने से उपजे जबरदस्त आक्रोश के मद्देनजर जिला चिकित्सालय में और शव विच्छेदन गृह के बाहर भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। मौजूदा हालात में यह हादसा और कोई रूप न लेने पाए पुलिस के अफसर इस बात को लेकर सजग रहे। शव विच्छेदन गृह के बाहर जमा भारी भीड़ को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बीकेएस परिहार, पन्ना एसडीओपी एवं कोतवाली थाना टीआई अरविंद कुजूर के द्वारा संयम बरतने की समझाइश दी गई और उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया गया। कुछ समय बाद शव का पोस्टमार्टम होने पर पुलिस सुरक्षा में उसे मृतक के घर ले जाया गया। समाचार लिखे जाने तक कोतवाली थाना पन्ना पुलिस इस मामले में मर्ग कायम कर प्रकरण पंजीबद्ध करने में जुटी थी। उधर, जब हादसे को लेकर लगे आरोपों के संबंध सब इंजीनियर मंजू रिछारिया से उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

गहरे सदमे में पीड़ित परिवार

शव विच्छेदन गृह के बाहर पंचनामा आदि की कार्रवाई करते कोतवाली थाना पन्ना के पुलिसकर्मी।
छोटे मोहम्मद (राईन) पिता नत्थू मोहम्मद 45 वर्ष निवासी मठ्या तालाब पन्ना की सड़क हादसे में असमय मौत होने की दुखद खबर आने के बाद से पीड़ित परिवार गहरे सदमे में है। उनके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मिलनसार स्वाभाव वाले छोटे मोहम्मद की मौत से उनके मोहल्ले में माहौल काफी ग़मगीन है। टायर पंचर एवं किराना दुकान चलाकर अपना और अपने परिवार का किसी तरह भरण-पोषण करने वाले छोटे मोहम्मद कमाने वाले एकमात्र सदस्य थे। इसलिए पूरा परिवार उन्हीं पर आश्रित था। गरीब परिवार के मुखिया की मौत होना उसके तीन बच्चों और पत्नी पर वज्रपात टूटने जैसा है। इनकी आंखों से बहते आँसू और मातमी चीख-पुकार उनके दर्द का एहसास करातीं है लेकिन इसे शब्दों में बयाँ कर पाना संभव नहीं है।