दिल दहला देने वाला हादसा : थ्रेसर में फंसा नाबालिग का तौलिया, पलक झपकते ही धड़ से अलग हुई गर्दन

0
1084
हृदय विदारक हादसे का पता चलने के बाद मृतक के घर संवेदना व्यक्त करने पहुंचे लोगों की भीड़।

* जमीन पर कटा सिर गिरने का भयावह दृश्य देख लोगों का काँप उठा कलेजा

* पन्ना जिले के रैपुरा थाना क्षेत्र के बीरमपुरा गावं की घटना

आकाश बहरे, पन्ना/मोहन्द्रा।(www.radarnews.in) जिले के रैपुरा थाना क्षेत्र अंतर्गत कोठी पहाड़ के बीरमपुरा गावं में फसल की गहाई के दौरान थ्रेसर से चारा-डंठल आदि हटाते समय एक नाबालिग का तौलिया (गमछा) उसमें फंस गया, फिर क्या था थ्रेसर की चपेट में आने से उसकी गर्दन पलक झपकते ही धड़ से अलग हो गई और तेज आवाज के साथ नाबालिग का कटा हुआ सिर दूर जा गिरा। इस भयावह हादसे के समय मौके पर मौजूद रहे लोगों की पलभर के लिए की साँसे थम गईं। जमीन पर खून से लथपथ पड़े नाबलिग आशीष पिता पप्पू यादव 17 वर्ष निवासी ग्राम रानीपुरा (मोहन्द्रा) के शव को दो हिस्सों में जिसने भी देखा उसका कलेजा काँप उठा। इस हृदय विदारक हादसे के बाद से कोठी पहाड़ क्षेत्र और मृतक नाबालिग के गृह ग्राम मोहन्द्रा में शोक की लहर व्याप्त है।
दर्दनाक हादसे में मृत नाबालिग आशीष यादव का शव।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार 21 नवंबर को अनिल पौराणिक निवासी मोहन्द्रा का ट्रैक्टर कोठी पहाड़ के गांव बीरमपुरा में गहाई का कार्य कर रहा था। ट्रैक्टर का डीजल खत्म हो जाने के बाद अनिल पौराणिक ने मोहन्द्रा से प्लास्टिक की केन में डीजल भरवाया और केन को पकड़ने के लिए परिचित आशीष पिता पप्पू यादव 17 वर्ष निवासी ग्राम रानीपुरा (मोहन्द्रा) को वह अपने साथ बीरमपुरा ले गया। जहां शाम करीब 4 बजे फसल की गहाई का कार्य पुनः शुरू होने पर आशीष यादव ट्रेक्टर व थ्रेसर के बीच में लगी साफ़्ट का कचरा (फसल का चारा-डंठल) हटाने लगा। तभी उसके गले में पड़ा तौलिया अचानक थ्रेसर में फंस गया और पलक झपकते ही उसकी गर्दन तेज आवाज के साथ धड़ से अलग हो गई।
सांकेतिक फोटो।
दिल दहला देने वाले इस भयावह हादसे के समय मौके पर मौजूद रहे लोग काफी डर गए। फलस्वरूप पुलिस को डायल 100 पर शाम लगभग 6 बजे इस हादसे की जानकारी दी गई। मौके पर पहुंचे रैपुरा थाना प्रभारी द्वारका प्रसाद कुशवाहा ने बताया पंचनामा कार्यवाही पश्चात शव को पोस्टमार्टम के लिए रैपुरा भेजा गया। इस हादसे पर पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया गया है। शुक्रवार को पोस्टमार्टम होने के बाद उसे परिजनों को सौंप दिया गया। नाबालिग आशीष यादव का शव आज जब मोहन्द्रा पहुंचा तो पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई। अत्यंत ही ग़मगीन माहौल में शव का अंतिम संस्कार किया गया। उधर, जवान बेटे की दुखद हादसे में मौत होने का पता चलने के बाद से ही पीड़ित परिजन गहरे सदमे में हैं।