फॉलोअप : महिला एसआई की मौत का राज खोलेगा मोबाइल, मर्ग कायम कर घटना की जाँच में जुटी पुलिस

0
1880
प्रशिक्षु एसआई सुश्री अनामिका सिंह कुशवाहा को पुष्पचक्र अर्पित कर दी श्रद्धांजलि देते हुए पुलिस अधीक्षक पन्ना विवेक सिंह।

* शासकीय आवास में नहीं मिला सुसाइड नोट, पुलिस ने जप्त किया मोबाइल

* पवई विधायक प्रहलाद सिंह लोधी और एसपी ने पुष्पचक्र अर्पित कर दी श्रद्धांजलि

* गृहग्राम छीर में शव पहुँचने पर ग्रामीणों ने नम आँखों से दी अंतिम विदाई

पन्ना। रडार न्यूज   मध्यप्रदेश के पन्ना जिले की पुलिस चौकी मोहन्द्रा की प्रभारी एवं प्रशिक्षु एसआई सुश्री अनामिका सिंह कुशवाहा 25 वर्ष द्वारा फाँसी लगाकर आत्महत्या करने की घटना के 24 घण्टे बाद भी आत्महत्या की वजह का पता नहीं चल सका। घटनास्थल से किसी तरह का कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला। मृतिका के कानों में इयरफोन लगा हुआ पाया गया जिससे यह कयास लगाये जा रहे है कि फाँसी के फंदे पर झूलने से पूर्व अथवा फाँसी लगाते समय उसकी किसी से मोबाइल पर बात हुई थी, इसलिए पुलिस ने उसका मोबाइल फोन जब्त किया है। पन्ना से बुलाई गई पुलिस की एफएसएल टीम और फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट ने घटनास्थल का निरीक्षण कर आवश्यक साक्ष्य संकलित किये हैं। अनामिका के शव और आवास की वीडियोग्राफी-फोटोग्राफी भी कराई गई। पुलिस महकमे को अंदर तक झकझोर देने वाली इस सनसीखेजन घटना की हर पहलू से गहन जाँच की जा रही है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को उम्मीद है कि अनामिका सिंह के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल की विस्तृत पड़ताल और उसके परिजनों के बयानों से आत्महत्या की गुत्थी सुलझ सकती है। सिमरिया थाना पुलिस ने फ़िलहाल इस घटना पर मर्ग कायम किया है।

थाना परिसर में दी गई श्रद्धांजलि

पीएसआई अनामिका सिंह कुशवाहा।
सिमरिया में शुक्रवार 4 जनवरी की सुबह पीएसआई अनामिका सिंह कुशवाहा के शव को उनके परिजनों की मौजूदगी में फाँसी के फंदे से नीचे उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पोस्टमार्टम के बाद थाना परिसर में उनके शव को अंतिम दर्शन हेतु रखा गया जहां बेहद ही ग़मगीन माहौल और भारी भीड़ के बीच क्षेत्रीय विधायक प्रहलाद सिंह लोधी, पुलिस अधीक्षक पन्ना विवेक सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बी.के.एस. परिहार, पवई एसडीओपी बी. एस. परिहार, सिमरिया थाना प्रभारी याकूब खान आदि के द्वारा पुष्पचक्र अर्पित श्रद्धांजलि दी गई। सभी ने इस घटना पर गहरा दुःख प्रकट किया है और शोक संतृप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। दोपहर में अनामिका के शव को पूरे सम्मान के साथ लेकर अजयगढ़ एसडीओपी इसरार मंसूरी और सिमरिया थाना प्रभारी याकूब खान उसके गृह ग्राम छीर थाना देवरी जिला सागर के लिए वाहन से रवाना हो गए। इस दौरान मृतिका के नाना सुरेन्द्र पटेल व चाचा गोपाल पटेल भी उनके साथ रहे।
पुष्पचक्र अर्पित कर दी श्रद्धांजलि देते हुए पवई विधायक प्रहलाद सिंह लोधी।
शव के ग्राम छीर पहुँचने पर वहां शोक की लहर दौड़ गई। वहाँ सैंकड़ों लोगों ने उन्हें नम आँखों से अंतिम विदाई दी। मातम के माहौल शाम करीब 5 स्थानीय शमशान भूमि में पीएसआई अनामिका सिंह कुशवाहा का अंतिम संस्कार किया गया। अनामिका के आत्मघाती कदम उठाने से उन्हें करीब से जानने वाले स्तब्ध हैं, लोगों को यह समझ नहीं आ रहा है कि बेहद मजबूत इरादों वाली लड़की अनामिका ने अचानक इस तरह जीवनलीला क्यों समाप्त कर ली। आखिर ऐसी क्या वजह थी जिसके चलते उसे आत्महत्या करनी पड़ी।

क्या है मामला

फाँसी के फंदे से शव को उतारते पुलिसकर्मी।
प्रशिक्षु एसआई सुश्री अनामिका सिंह कुशवाहा 25 ने गरुवार रात 9:30 बजे सिमरिया पुलिस थाना परिसर में स्थित अपने शासकीय आवास में फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। रात्रि में करीब 9 बजे तक वे सिमरिया थाना बैठी रहीं। इसके बाद वे किसी को बिना कुछ बताये अपने शासकीय आवास पहुँची और आत्मघाती कदम उठा लिया। अनामिका ने ऐसा कदम क्यों उठाया, प्रारंभिक पुलिस जाँच में इसका पता नहीं चल सका। इस अप्रत्याशित घटनाक्रम के प्रकाश में आने के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है। प्राप्त जानकारी अनुसार एसपी विवेक सिंह को गुरुवार 3 जनवरी को सभी थाना और चौकी प्रभारियों से रेडियो ट्रांसमिशन के द्वारा बात करनी थी, जिसमें प्रशिक्षु एसआई अनामिका सिंह कुशवाहा अनुपस्थित रहीं।
शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाते पुलिसकर्मी।
एसपी ने अनामिका के संबंध में थाना प्रभारी सिमरिया याकूब खान से बात की और उनसे बात कराने को कहा। थाना प्रभारी अनामिका के शासकीय आवास पहुँचे तो दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण आवाज लगाई पर अंदर से कोई जबाब नहीं मिला। काफी देर तक अंदर से कोई आवज न आने पर दरवाजा तोड़कर देखा तो अंदर पंखे से बंधे दुपट्टे के सहारे फाँसी के फंदे पर उनकी लाश लटकी थी। अनमिका के द्वारा आत्महत्या करने पता चलते ही रात्रि में पुलिस अधीक्षक पन्ना विवेक सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बी.के.एस. परिहार और पवई एसडीओपी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकरी ली। इसके पश्चात सागर जिले के देवरी थाना के ग्राम छीर में रह रहे मृतिका के परिजनों को सूचना दी गई।

इनका कहना है-

“प्रशिक्षु एसआई सुश्री अनामिका सिंह कुशवाहा की आत्महत्या मामले में मर्ग कायम कर हर एंगल से गहन जाँच की जा रही है, जाँच हेतु उनका मोबाइल फोन जब्त किया गया है, कॉल डिटेल की पड़ताल और परिजनों के बयानों से आत्महत्या के कारण का पता चल सकता है। फ़िलहाल प्रारंभिक जांच में आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका।”

बी. एस. परिहार, एसडीओपी पवई जिला पन्ना।