महिला एसआई ने शासकीय आवास में फांसी लगाकर की आत्महत्या, पुलिस महकमे में मचा हड़कंप

0
2888
पीएसआई अनामिका सिंह कुशवाहा के शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाते पुलिसकर्मी।

* पन्ना जिले के सिमरिया पुलिस थाना परिसर की घटना

* मोहन्द्रा चौकी प्रभारी के रूप में कुछ दिन पूर्व हुई थी नवीन पदस्थापना

पन्ना। रडार न्यूज मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में प्रशिक्षु एसआई सुश्री अनामिका सिंह कुशवाहा 25 ने गरुवार रात 9:30 बजे सिमरिया पुलिस थाना परिसर में स्थित अपने शासकीय आवास में फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। रात्रि में करीब 9 बजे तक वे सिमरिया थाना बैठी रहीं। इसके बाद वे किसी को बिना कुछ बताये अपने शासकीय आवास पहुँची और आत्मघाती कदम उठा लिया। अनामिका ने ऐसा कदम क्यों उठाया, प्रारंभिक पुलिस जाँच में इसका पता नहीं चल सका। उधर, इस अप्रत्याशित घटनाक्रम के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है। जवान बेटी द्वारा आत्मघाती कदम उठाने की सूचना मिलने पर शुक्रवार 4 जनवरी को तड़के अनामिका के परिजन सागर से सिमरिया पहुँच चुके थे। परिजनों की मौजूदगी में शव को फाँसी के फंदे से नीचे उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।
फाँसी के फंदे से शव को उतारते पुलिसकर्मी।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्ना बी.के.एस. परिहार ने बताया कि एसपी विवेक सिंह को गुरुवार 3 जनवरी को सभी थाना और चौकी प्रभारियों से रेडियो ट्रांसमिशन के द्वारा बात करनी थी, जिसमें प्रशिक्षु एसआई अनामिका सिंह कुशवाहा अनुपस्थित रहीं। एसपी ने अनामिका के संबंध में थाना प्रभारी सिमरिया याकूब खान से बात की और उनसे बात कराने को कहा। थाना प्रभारी अनामिका के शासकीय आवास पहुँचे तो दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण आवाज लगाई पर अंदर से कोई जबाब नहीं मिला। काफी देर तक अंदर से कोई आवज न आने पर दरवाजा तोड़कर देखा तो अंदर पंखे से बंधे दुपट्टे के सहारे फाँसी के फंदे पर उनकी लाश लटकी थी। अनमिका के द्वारा आत्महत्या करने की जानकारी मिलते ही रात्रि में पुलिस अधीक्षक पन्ना विवेक सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बी.के.एस. परिहार और पवई एसडीओपी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकरी ली। शुक्रवार को सभी अधिकारी पुनः सिमरिया गए और अनमिका के परिजनों की उपस्थित में संपूर्ण कार्यवाही की गई।
पीएसआई अनामिका सिंह कुशवाहा।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री परिहार ने बताया कि फिलहाल इस घटना पर मर्ग कायम कर मामले को जाँच में लिया गया है, मृतिका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने और सम्पूर्ण जाँच उपरांत ही आत्महत्या की वजह स्पष्ट हो पाएगी। उधर, प्रशिक्षु एसआई सुश्री अनामिका सिंह कुशवाहा द्वारा आत्महत्या करने से उनके के परिजन हैरान हैं, उन्हें यह यकीन ही नहीं हो रहा है कि मजबूत इरादों वालों उनकी बेटी आत्महत्या कैसे कर सकती है ! उन्हें खुद भी यह समझ नहीं आ रहा है कि, आखिर ऐसा क्या कारण था जिसके चलते अनामिका को आत्मघाती कदम उठाना पड़ा। मालूम होकि पीएसआई अनामिका सिंह सागर जिले के देवरी थाना क्षेत्र के ग्राम छीर की रहने वाली थीं। सामान्य परिवार से आने वाली अनामिका तीन बहनों में सबसे बड़ी थीं, उनका कोई सगा भाई नहीं था। घर की बड़ी बेटी होने और नौकरी में होने के कारण माता-पिता को उनसे काफी उम्मीदें थीं। शायद यही वजह है कि उनके आत्महत्या करने से पूरा परिवार गहरे सदमे में है।उल्लेखनीय है कि अनामिका को हाल ही में सिमरिया थाना के अंतर्गत पुलिस चौकी मोहन्द्रा का प्रभारी बनाया गया था।