फालोअप : BJP नेता के मृत्यु पूर्व कथन के आधार पर 8 के खिलाफ आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का प्रकरण दर्ज, थाना में जहर खाकर जान देने का मामला

0
1094
भाजपा नेता के द्वारा अमानगंज थाना में जहर खाकर जान देने की घटना के बाद थाना में निर्मित हड़कंप की स्थित को बयां कारता चित्र।

* छेड़छाड़ की झूठी रिपोर्ट कर महिला व उसके परिजन कर रहे थे प्रताड़ित

* महिला पर दो युवकों के साथ मिलकर हत्या का प्रयास करवाने का आरोप

* तनावपूर्ण शांति के बीच गृह ग्राम कमताना में हुआ पार्थिव देह का अंतिम संस्कार

पन्ना/अमानगंज। (www.radarnews.in) एक महिला और उसकी छोटी बहिन द्वारा कथित तौर छेड़छाड़ की झूठी रिपोर्ट कर प्रताड़ित किए जाने और इन मामलों में पुलिस के रवैये से तंग आकर भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय उर्फ़ कित्ते पाण्डेय 45 वर्ष निवासी ग्राम कमताना ने गुरुवार 7 नवम्बर को आत्मघाती कदम उठाते हुए अमानगंज थाना में जहर खाकर अपनी जान दे दी थी। इस सनसनीखेज अप्रत्याशित घटना को लेकर उपजे तनाव के बीच पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले में 8 लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने (उकसाने) का मामला पंजीबद्ध किया है। आपराधिक प्रकरण दर्ज करने की कार्रवाई भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय के मृत्यु पूर्व कथन के आधार पर उनके छोटे भाई भरत पाण्डेय 30 वर्ष की रिपोर्ट पर की गई है। उधर, शुक्रवार 8 नवम्बर को ही सतना से कृष्ण कुमार पाण्डेय का शव पोस्टमार्टम पश्चात गृह ग्राम कमताना पहुँचने पर मातमी माहौल में तनावपूर्ण शान्ति के बीच विधि-विधान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। जहां सैंकड़ों लोगों के द्वारा नम आँखों से स्वर्गीय श्री पाण्डेय को अंतिम विदाई दी गई। इस दुखद घटना के बाद से ही पीड़ित परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय उर्फ़ कित्ते पाण्डेय।
इस दौरान भारी पुलिस की तैनाती के चलते पूरा कमताना ग्राम पुलिस छावनी में तब्दील रहा। घटना को लेकर लोगों में व्याप्त आक्रोश के मद्देनजर एहतियात के तौर गुरुवार शाम से ही अमानगंज और कमताना में भारी पुलिस बल को तैनात किया गया था। उधर, अमानगंज सहित समूचे जिले को स्तब्ध कर देने वाली इस घटना की चर्चा दिन भर लोगों की जुबान पर रही।
भाजपा नेता की अंतिम यात्रा में शामिल होने लिए बड़ी संख्या में कमताना ग्राम में उपस्थित लोग।
उल्लेखनीय है कि गुरुवार 7 नवम्बर को ग्राम कमताना की ही एक युवती ने छेड़छाड़ की कथित तौर झूठी रिपोर्ट भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय उर्फ़ कित्ते पाण्डेय के विरुद्ध अमानगंज थाना प्रभारी सुनीता जाटव को दी थी। इस रिपोर्ट को लेकर पुलिस की प्रतड़ना से तंग आकर भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय उर्फ़ कित्ते पाण्डेय द्वारा आत्मघाती कदम उठाते हुए पुलिस थाना अमानगंज में ही जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया था। शरीर में जहर फैलने पर उसके असर से कृष्ण कुमार की हालत कुछ ही देर में तेजी से बिगड़ने लगी थी। कथित तौर अमानगंज पुलिस की संवेदनहीनता के कारण कृष्ण कुमार पाण्डेय को प्राथमिक स्तर तत्परता से समुचित उपचार नहीं मिल सका। अत्यंत ही नाजुक हालत में उसे पन्ना जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद कृष्ण कुमार पाण्डेय की लगातार बिगड़ती हालत को देखते हुए उसे मेडीकल कॉलिज रीवा के लिए रेफर किया गया। गुरुवार की देर शाम पन्ना से रीवा ले जाते समय रास्ते में ही उनकी मौत हो गई थी।

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मामला

पन्ना जिला चिकित्सालय में इलाज के दौरान कृष्ण कुमार के मृत्यु पूर्व कथन दर्ज किए गए थे। जिनके आधार पर अमानगंज थाना पुलिस ने शुक्रवार 8 नवम्बर को कुल 8 व्यक्तियों के खिलाफ नामजद अपराध क्रमांक 389/19 धारा 306, 34 आईपीसी के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामले को जांच में लिया है। प्रकरण में पन्ना के बेनीसागर मोहल्ला में रहने वाली एक महिला, ग्राम कमताना निवासी उसकी छोटी बहिन-भाई, माता-पिता और विजय ओमरे निवासी बेनीसागर मोहल्ला पन्ना तथा शानू मिर्जा निवासी टिकुरिया मोहल्ला पन्ना को आरोपी बनाया गया है। विदित हो कि भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय के विरुद्ध पन्ना निवासी महिला ने दिनाँक 01 जून 2019 को थाना अमानगंज में धारा 354,506 आईपीसी के तहत छेड़छाड़ का आपराधिक प्रकरण दर्ज कराया था। गुरुवार 7 नवम्बर को उस महिला की छोटी बहिन अमानगंज थाना में कृष्ण कुमार के खिलाफ छेड़छाड़ की लिखित रिपोर्ट देने आई थी। जिसका पता चलने पर कृष्ण कुमार पाण्डेय भी थाना पहुँच गया। अपने खिलाफ लिखाई जा रही रिपोर्ट को कृष्ण कुमार पाण्डेय ने झूठा बताते हुए थाना प्रभारी सुनीता जाटव को यह समझाने काफी कोशिश की गई कि उसे फंसाया जा रहा है। लेकिन इसका उन पर कोई असर नहीं हुआ। कथित तौर पर थाना प्रभारी ने कहा कि अब तो प्रकरण दर्ज हो गया है अब तुम्हें जेल जाना पड़ेगा। इससे आहत कृष्ण कुमार पाण्डेय उर्फ कित्ते पाण्डेय ने शाम करीब 4 बजे थाना में ही जहर खा लिया था।

हत्या नहीं करवा पाए तो प्रताड़ित करने लगे

भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय का पन्ना में इलाज के दौरान का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह कोतवाली थाना टीआई अरविंद कुजूर और पत्रकारों को बता रहे हैं कि, पन्ना के बेनीसागर मोहल्ला निवासी एक महिला और उसके परिजन जब मेरी हत्या नहीं करवा पाए तो मुझे प्रताड़ित करने लगे। यह सब पिछले एक साल से चल रहा था। वीडियो में कृष्ण कुमार ने बताया कि मैंने इस संबंध में कई बार थाना में शिकायत की और पुलिस अधीक्षक को भी आवेदन दिया। उनका आरोप है कि उक्त महिला ने विजय ओमरे निवासी बेनीसागर मोहल्ला पन्ना और शानू मिर्जा निवासी टिकुरिया मोहल्ला पन्ना से पहले मेरी हत्या कराने का लगातार प्रयास किया। जब मैं बच गया तो मेरी झूठी रिपोर्ट दर्ज करा दी। इससे मैं बहुत ज्यादा प्रताड़ित हो गया। आज फिर मेरी झूठी रिपोर्ट हो रही थी। मैं थाना गया और मैडम (थाना प्रभारी) को रो-रोकर बताया। बाद में वहीं जहर खा लिया। मैंने मैडम से कहा परेशान मत करो मुझे, वह बोलीं तुझे जेल भेजना है। वीडियो में जो बातें भाजपा नेता बताईं है उन्हें अपनी मृत्यु पूर्व दर्ज कराए गए कथनों में भी दोहराया है।

अनुत्तरित हैं कई सवाल

पुलिस की प्रारंभिक जांच में फिलहाल यह साफ़ नहीं हो सका है कि, उक्त महिला भाजपा किसान मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार पाण्डेय के खिलाफ छेड़खानी जैसे गंभीर मामले की कथित तौर पर झूठी रिपोर्ट दर्ज करवाकर उन्हें इस हद तक प्रताड़ित क्यों कर रही थी। इस घिनौने कृत्य में महिला के परिजन उसका साथ क्यों दे रहे थे। कृष्ण कुमार से इनकी आखिर ऐसी क्या बुराई थी जिस वजह से उसे पूरा परिवार मिलकर इस  प्रताड़ित कर रहा था। सवाल यह भी है कि विजय ओमरे और शानू मिर्जा भाजपा नेता कृष्ण कुमार पाण्डेय उर्फ़ कित्ते पाण्डेय की हत्या करना क्यों चाह रहे थे। क्या इन दोनों ने उक्त महिला से हत्या की लिए सुपारी ले रखी थी या फिर इसके पीछे कोई और वजह है। इस मामले में अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। प्रकरण की जांच पूर्ण होने और फरार आरोपियों के पकड़े जाने पर पुलिस को इन सब सवालों के जबाब मिलने की उम्मीद है।