प्रदेश में 2 लाख मीट्रिक टन यूरिया किसानों को वितरित, मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रयास से यूरिया की आपूर्ति में आई तेजी

0
488
सांकेतिक फोटो।

* रेल्वे से लगातार मिल रही हैं यूरिया की रेक्स

* 45 हजार मीट्रिक टन यूरिया एक-दो दिन में आयेगा

भोपाल। रडार न्यूज   प्रदेश में किसानों को रबी सीजन के दौरान आवश्यकतानुसार यूरिया की आपूर्ति के लिये कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश में अब तक 2 लाख मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति किसानों को वितरित की जा चुकी है। यूरिया की 7 रेक्स पहुँच चुकी हैं और संबंधित जिलों में इनका वितरण किया जा रहा है। करीब 45 हजार मीट्रिक टन यूरिया एक-दो दिन में प्रदेश के रेक्स पाइंट पर पहुँचेगा। इसके वितरण के लिये भी कृषि एवं सहकारिता विभाग के मैदानी अमले को निर्देश दिये गये हैं। इसके अलावा 76 हजार मीट्रिक टन डी.ए.पी., 6000 मीट्रिक टन काम्प्लेक्स की आपूर्ति किसानों को रबी सीजन के दौरान की गई है। इस बार प्रदेश में 4 लाख 10 हजार मीट्रिक टन यूरिया आपूर्ति की सहमति केन्द्रीय मंत्रालय द्वारा दी गई है।
यूरिया की निरंतर आपूर्ति के संबंध में पिछले दिनों मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और उर्वरक एवं रसायन मंत्री सदानंद गौड़ा से फोन पर बात की थी। इसके बाद से प्रदेश में यूरिया की आपूर्ति में तेजी आ गई है।
मंडीदीप रेक पाइंट पर 1226 मीट्रिक टन यूरिया जल्द पहुँच रहा है। इसका वितरण रायसेन, भोपाल और सीहोर के किसानों को किये जाने की व्यवस्था की जा रही है। इसी तरह रतलाम रेक पाइंट पर 4048 मीट्रिक टन यूरिया पहुँच रहा है। इसका वितरण रतलाम, धार, मंदसौर और उज्जैन जिले के किसानों को किया जायेगा।
कोटा के चम्बल फर्टिलाइजर प्लांट और गुना के नेशनल फर्टिलाइजर प्लांट से मध्यप्रदेश को प्राथमिकता के साथ यूरिया की आपूर्ति किये जाने की सहमति दी गई है। इससे प्रदेश में आने वाले दिनों में यूरिया की आपूर्ति में और तेजी आयेगी। देश के ईस्ट और वेस्ट पोर्ट से भी डी.ए.पी. के स्थान पर यूरिया की सप्लाई को विशेष प्राथमिकता दिये जाने को कहा गया है।