कलेक्टर ने दूरस्थ ग्रामों का भ्रमण कर योजनाओं के क्रियान्वयन का लिया जायजा

0
234

 ग्रामवासियों की समस्याएं सुनकर निराकरण के दिए निर्देश

पन्ना।(www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना के कलेक्टर हरजिंदर सिंह ने बुधवार 13 सितंबर को जिले के गुनौर, पवई और शाहनगर विकासखण्ड के कई ग्रामों सहित दूरस्थ ग्रामों का भ्रमण कर शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन का जायजा लिया। इस दौरान स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र सहित ग्राम पंचायत कार्यालय में व्यवस्थाएं देखी। साथ ही ग्रामवासियों से संवाद कर समस्याएं भी सुनी और अधिकारियों को निराकरण के निर्देश दिए। कलेक्टर ने ग्राम भिटारी के शासकीय प्राथमिक शाला पहुंचकर स्कूल में दर्ज बच्चों और शिक्षकों की उपस्थिति की जानकारी ली। हाजिरी पंजी का अवलोकन कर बच्चों का अक्षर और भाषा ज्ञान परखा। स्कूल में मिलने वाली अन्य सुविधाओं की जानकारी भी ली। ग्राम सरवारा में पन्ना जनसेवा अधियान के सर्वे कार्य की जानकारी ली और सर्वे दल को शत प्रतिशत जरूरतमंद हितग्राहियों के चिन्हांकन और लाभान्वित करने के निर्देश दिए। सर्वे दल को सभी घरों में अनिवार्य रूप से पहुंचकर सर्वे कार्य निर्धारित समय सीमा में संपादित करने के लिए कहा।
इसके उपरांत भितरी मुटमुरू में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, संबल, आयुष्मान योजनाओं के कार्य की प्रगति का जायजा लिया गया। उन्होंने प्राथमिक शाला सिमरहा का भी निरीक्षण किया। कलेक्टर श्री सिंह ने उप स्वास्थ्य केंद्र की एएनएम से गर्भवती और धात्री माताओं के एएनसी पंजीयन, बच्चों के टीकाकरण की जानकारी ली। समक्ष में रजिस्टर भी देखा। बीएलओ से ग्राम में मतदाता सूची में दर्ज महिलाओं और नवमतदाताओं की जानकारी ली। निर्माणाधीन आंगनबाड़ी केंद्र का अवलोकन किया। शासकीय माध्यमिक शाला मजरा टोला में निरीक्षण के दौरान रैंप निर्माण के निर्देश दिए। कलेक्टर ने स्कूल के बच्चों से संवाद कर किताब भी पढ़वाई। इस दौरान निर्धारित मीनू अनुसार मध्यान्ह भोजन वितरण के निर्देश दिए। किचेन शेड का अवलोकन कर रसोइयों से चर्चा कर निर्धारित समय पर बच्चों को गर्म पका भोजन वितरण के लिए कहा।
यहां स्कूल परिसर में जल जीवन मिशन योजना के तहत नल कनेक्शन सही कराने के निर्देश भी दिए। इसके अलावा एक बस्ती के बंद पहुंच मार्ग शुरू कराने और पुराने स्कूल भवन में जल भराव की समस्या निराकृत करने के लिए कहा। कलेक्टर श्री सिंह ने जल जीवन मिशन अंतर्गत पवई बाँध परियोजना के कार्यों की प्रगति का जायजा लिया। घुटेही ग्राम पंचायत कार्यालय पहुंचकर पन्ना जनसेवा अभियान के सर्वे दल से शत प्रतिशत हितग्राहियों के चिन्हांकन के संबंध में निर्देश दिए। यहां एएनएम से गर्भवती महिलाओं को और बच्चों के टीकाकरण के संबंध में जानकारी ली। एएनसी रजिस्टर भी देखा। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से आंगनबाड़ी केन्द्र में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी लेकर बच्चों के वजन पंजी का अवलोकन किया। ग्राम पंचायत भवन में उपलब्ध सुविधाओं का जायजा भी लिया।

जनपुस्तकालय कल्दा का किया लोकार्पण

कलेक्टर ने ग्राम पंचायत कार्यालय कल्दा परिसर में नवनिर्मित जनपुस्तकालय का लोकार्पण किया। यहां बच्चों से संवाद कर शिक्षा का महत्व बताया और जनपुस्तकालय में उपलब्ध सुविधाओं का लाभ लेने का आग्रह किया। उन्होंने ग्राम पंचायत में पुस्तकालय की सौगात की पहल को सराहनीय बताया। कलेक्टर ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कल्दा पहुंचकर स्वास्थ्य सेवा व सुविधाओं की जानकारी ली। यहां पंजीयन कक्ष, वैक्सीन डिपो, दवा वितरण कक्ष और दवाईयों का स्टॉक देखा। स्थानीयजनों द्वारा स्वास्थ्य कर्मचारियों के अन्य संस्थाओं में अटैच होने के कारण होने वाली असुविधा की जानकारी दी गई। इस पर जिला कलेक्टर द्वारा संलग्न कर्मचारियों का संलग्नीकरण समाप्त करने की बात कही गई। कलेक्टर ने स्वास्थ्य केन्द्र में उपस्थित स्टॉफ नर्स सहित अन्य कर्मचारियों को संस्थागत प्रसव के लिए बेहतर सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने मेटरनिटी वार्ड और लेबर रूम की व्यवस्थाओं को भी देखा।

भ्रष्ट सचिव के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश

जिला कलेक्टर ने ग्राम सर्रा पहुंचकर यहां निर्माणाधीन मुर्गीपालन शेड का जायजा लिया और लाभार्थी परिवार की महिलाओं से चर्चा की। मुर्गीपालन गतिविधि के चालू होने के उपरांत दोबारा गांव में आने का भरोसा दिया। महिलाओं से लाड़ली बहना योजना, सामाजिक सुरक्षा पेंशन सहित अन्य शासकीय सेवाओं के लाभ मिलने के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि सेल्समैन द्वारा नियमित रूप से राशन का वितरण नहीं किया जाता है। इस पर जिला कलेक्टर ने सेल्समैन को समक्ष में नियमित रूप से पात्र हितग्राहियों को राशन वितरण सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि दुकान में राशन वितरण दिवस की जानकारी भी प्रदर्शित करें। किसी भी स्थिति में पात्र परिवार के राशन से वंचित होने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने स्वसहायता समूह की महिलाओं को उचित मूल्य दुकान का संचालन सौंपने के संबंध में भी चर्चा की। ग्रामीणों की शिकायत पर सर्रा के पंचायत सचिव के विरूद्ध बगैर नाली निर्माण के 37 हजार रूपए आहरित करने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही के निर्देश भी दिए।

जल सोधन संयंत्र का किया अवलोकन

कलेक्टर ने पवई बांध समूह जल प्रदाय योजना के तहत 158 ग्रामों में प्रत्येक ग्रामीण परिवार को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए निर्मित पवई बांध समूह जल प्रदाय योजना के जल शोधन संयंत्र और इनटेकवेल का अवलोकन किया। सारंगपुर में स्थापित 20.62 एमएलडी क्षमता का डब्ल्यूटीपी संयंत्र बनकर तैयार हो चुका है। उन्होंने जल निगम के महाप्रबंधक से यहां उपलबध सुविधाओं और मशीन की कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी ली। साथ ही परीक्षण लैब का अवलोकन भी किया। परिसर में नेटवर्क सुविधा के विस्तार के संबंध में आवश्यक कार्यवाही के निर्देश भी दिए। अधिकारियों ने यहां पौधरोपण भी किया। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ संघ प्रिय, एसडीएम भारती मिश्रा एवं श्रुति अग्रवाल, परियोजना अधिकारी संजय सिंह परिहार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।