विश्वासघात : दोस्त की बहन से मोबाइल फोन पर बातें कर प्रेमजाल में फंसाया, सूरत ले जाकर कई दिनों तक किया यौन शोषण

0
1808
सांकेतिक फोटो।

* विवाह का झांसा देकर शादीशुदा युवक ने नाबालिग को हवश का शिकार बनाया

* दो माह बाद वापिस घर लौटी बलात्कार पीड़िता ने पुलिस थाना में दर्ज कराई रिपोर्ट

पन्ना। (www.radarnews.in) वर्तमान में बच्चियों और युवतियों को सबसे ज्यादा खतरा अपने परचितों से ही है। राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़े तो यही कहते है। कई बार हम जिन पर भरोसा करते हैं वही लोग इसका गलत फायदा उठाते हुए विश्वासघात कर अपने घिनौने कृत्यों से न सिर्फ पवित्र रिश्तों को कलंकित करते हैं बल्कि सभ्य समाज को भी शर्मसार कर देते है। मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। यहां के बृजपुर थाना के ग्राम उमरी की एक नाबालिग युवती को उसके भाई के दोस्त ने मोबाईल फोन पर बातें कर पहले तो अपने प्रेमजाल में फंसाया और फिर शादी करने का झांसा देकर उसे घर से भागकर सूरत ले गया।
जहां उसने नाबालिग युवती को कई दिनों तक अपनी हवश का शिकार बनाया। पूर्व से शादीशुदा कामांध युवक नाबालिग के जिस्म और उसकी भावनाओं के साथ खेलता रहा। पर जब उसकी हकीकत का पता चला तो पीड़िता किसी तरह उसके चंगुल से भागकर वापिस अपने घर लौट आई। नाबालिग ने पुलिस को अपनी आपबीती सुनाते हुए यौन शोषण मामले की रिपोर्ट बृजपुर थाना में दर्ज कराई है। पुलिस ने आरोपी सुजीत मिस्त्री पुत्र सुखलाल मिस्त्री 26 वर्ष निवासी ग्राम कुंजवन थाना पन्ना के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 366, 376 एवं पॉस्को एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया है।

इस तरह शुरू हुई बातें

सांकेतिक चित्र।
ग्राम उमरी निवासी हर्षिता 17 वर्ष (परिवर्तित नाम) का भाई सौरभ (परिवर्तित नाम) सूरत में काम करता था जहां उसकी मुलाक़ात पन्ना जिले के कुंजवन ग्राम निवासी सुजीत मिस्त्री पुत्र सुखलाल मिस्त्री 26 वर्ष से हुई। कुछ ही दिनों में दोनों के बीच गहरी दोस्ती हो गई। सौरभ ने अपने परिजनों का हाल-चाल जानने के लिए दोस्त सुजीत मिस्त्री के मोबाइल फोन से एक-दो बार अपने घर पर कॉल किया। जिसे उसकी छोटी बहन हर्षिता के द्वारा रिसीव किया गया। इस तरह सुजीत और हर्षिता के पास एक-दूसरे का मोबाईल नंबर आ गया और उनके बीच बातें होने लगीं।
सुजीत ने दोस्त सौरभ के साथ विश्वासघात करते हुए बड़ी ही चालाकी के साथ उसकी बहन हर्षिता को मोबाईल फोन पर ही अपने प्रेमजाल में फंसा लिया। पूर्व से शादीशुदा सुजीत एक बच्चे का पिता है। कुछ समय पूर्व उसकी पत्नी का देहांत हो चुका है। लेकिन कथित तौर वह इन बातों को छिपाकर हर्षिता (परिवर्तित नाम) को विवाह का झांसा देता रहा। सौरभ और उसके परिजन इससे पूरी तरह बेखबर रहे। इस बीच सुजीत 3 सितंबर 2019 को हर्षिता को अगवा कर अपने साथ सूरत ले गया। जहां उसने कई दिनों तक नाबालिग को अपनी हवश का शिकार बनाया।

आरोपी गिरफ्तारी में जुटी पुलिस

सांकेतिक फोटो।
इधर, जवान बेटी के अचानक गायब होने से परिजन काफी परेशान हो गए। रिश्तेदारी में खोजबीन करने के बाद भी जब हर्षिता का कोई सुराग नहीं लगा तो पुलिस को सूचना दी गई। आखिरकार कुछ समय बाद पीड़ित परिजनों को जब पता चला कि उनकी बेटी को किसने अगवा किया है तो वे आरोपी के बारे में जानकर हैरान रह गए। जल्द ही हर्षिता को सुजीत की हकीकत पता चल गई। शादी के नाम पर मिले धोखे और शारीरिक शोषण के चलते खुद को ठगा हुआ महसूस कर रही नाबालिग मौका पाकर सुजीत के चंगुल से भागकर पन्ना आ गई। जिसे मंगलवार 3 दिसंबर को पन्ना के बस स्टैण्ड से बृजपुर थाना पुलिस द्वारा दस्तयाब किया गया। युवती के द्वारा बताई गई अपनी आपबीती के आधार पर अगले दिन बुधवार को उसका पन्ना जिला चिकित्सालय में मेडीकल परीक्षण कराया गया। इसके उपरांत उसे परिजनों को सौंपा गया। इस मामले में सुजीत के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कर बृजपुर थाना पुलिस सरगर्मी से उसकी धरपकड़ के प्रयास में जुटी है।