युवा टाइगर ने सड़क किनारे किया गाय का शिकार, राहगीरों को सुबह-सुबह देखने मिला रोमांचित करने वाला नजारा

0
2733
अपने शिकार को खाने के लिए घसीट कर सुरक्षित स्थान की ओर ले जाता बाघ।

* पन्ना से 12 किलोमीटर दूर मझगवां मार्ग पर दरेरा मोड़ के समीप किया शिकार

* बाघ और राहगीरों की सुरक्षा के मद्देनजर मौके पर वनकर्मी और हाथी किए तैनात

* जंगल के राजा द्वारा करने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से हो रहा वायरल

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) मध्य प्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघ पुनर्स्थापना कार्यक्रम की ऐतिहासिक सफलता के चलते यहां पर बाघों का उजड़ा हुआ संसार पुनः आबाद तो हुआ ही है साथ ही बाघों की तादाद भी लगातार तेजी से बढ़ रही है। वर्तमान में यहाँ के जंगलों में आधा सैंकड़ा से भी अधिक बाघ विचरण कर रहे हैं। बाघों की वंश वृद्धि के फलस्वरूप पन्ना के वन क्षेत्रों से लगे मार्गों पर राहगीरों को अक्सर ही वनराज के नजदीक से निः शुल्क दर्शन हो जाते हैं। पन्ना के आसपास अचानक बाघ को कभी सड़क पार करते, कभी बेफिक्र अंदाज में सड़क पर बैठे हुए या फिर बाघ को सड़क किनारे किसी जानवर का शिकार करते हुए देखना राहगीरों को रोमांच से भर देता है। राहगीरों के लिए यह पल उनके जीवन का सबसे सुखद और कभी न भूलने वाला अनुभव बन जाता है।
बुधवार 21 अगस्त की सुबह पन्ना के कुछ युवाओं को एनएमडीसी मझगवां मार्ग पर ऐसा ही अदभुत नजारा देखने को मिला। पन्ना से लगभग 12 किलोमीटर दूर एनएमडीसी मझगवां मार्ग पर जरुआपुर ग्राम और दरेरा मोड़ के बीच एक युवा टाइगर सड़क किनारे गाय का शिकार करने के बाद उसे घसीटते हुए जब सड़क के दूसरी तरफ ले जा रहा था तो वहाँ से गुजर रहे कुछ लोगों ने इस अविस्मरणीय दृश्य को अपने मोबाइल फोन के कैमरे में कैद कर लिया। कुछ ही देर में यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। सड़क किनारे बाघ के शिकार करने की खबर मिलने पर पन्ना से उसे देखने के लिए गए एडवोकेट गोपाल मिश्रा गोगी ने बताया कि बाघ अपने शिकार को सुकून से खाने के लिए उसे घसीटते हुए सड़क के एक किनारे से दूसरे किनारे पर ले गया। वह मृत गाय को खखरी पार कर जंगल में ले जाने के लिए मशक्कत कर रहा था। श्री मिश्रा ने बताया कि बाघ से सुरक्षित दूरी पर चार पहिया गाड़ी के अंदर रहते हुए उनके द्वारा अपने मोबाइल से वीडियो बनाया गया। इस दौरान रिंकू गुप्ता भी उनके साथ रहे। कुछ ही देर में पन्ना टाइगर रिजर्व के वनकर्मी भी मौके पर पहुँच गए।
सड़क के किनारे खड़े होकर बाघ को देख रहे राहगीरों को वनकर्मियों द्वारा सुरक्षा के मद्देनजर वहाँ से हटाया गया। हालांकि पन्ना-मझगंवा मार्ग पर आवागमन जारी है। पन्ना टाइगर रिजर्व के उप संचालक ईश्वर रामहरि जरांडे ने रडार न्यूज़ से चर्चा में बताया कि बाघ और राहगीरों की सुरक्षा के लिए एहतियात के तौर पर मौके पर अतिरिक्त वनकर्मियों और हाथियों को निगरानी के लिए तैनात किया गया है। मझगवाँ मार्ग पर आवगमन पूर्व की तरह जारी है, लेकिन बाघ की मौजूदगी को देखते हुए वहां आसपास किसी को भी रुकने की इजाजत नहीं है। आपने बताया कि जिस बाघ ने गाय का किल किया है वह बगैर रेडियो कॉलर का है।