हमें यह आजादी महान सपूतों के बलिदान और संघर्ष से मिली है – महदेले

0
947
शौर्य वीर स्व. प्यारेलाल मिश्रा एवं स्व. बालेन्द्र सिंह के चित्र पर पुष्पांजलि एवं माल्यार्पण करतीं मंत्री कुसुम सिंह महदेले मंत्री। के

मंत्री ने पुष्पांजलि अर्पित कर शहीदों को दी श्रद्धाजंलि

बृजपुर में मनाया गया शौर्य दिवस,शहीदों के परिजनों का भी किया गया सम्मान

पन्ना। रडार न्यूज  देश की आजादी के पर्व स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पूर्व 14 अगस्त 2018 को शौर्य दिवस का आयोजन किया गया। पन्ना जिले में सुश्री कुसुम सिंह महदेले मंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के मुख्य आतिथ्य में शासकीय उमावि बृजपुर में शौर्य दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें जिले से संबंध रखने वाले शौर्य वीर स्वर्गीय प्यारेलाल मिश्रा एवं स्वर्गीय बालेन्द्र सिंह की शहादत का स्मरण करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गयी। शहीदों के परिजनों को भी शॉल, श्रीफल एवं प्रमाण पत्र प्रदाय कर सम्मानित किया गया।

शहीदों की विधवाओं का किया सम्मान

शौर्य वीर स्व. प्यारेलाल मिश्रा एवं स्व. बालेन्द्र सिंह के चित्र पर पुष्पांजलि एवं माल्यार्पण करतीं मंत्री कुसुम सिंह महदेले मंत्री।

कार्यक्रम का शुभारंभ मंत्री सुश्री महदेले सहित जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों द्वारा शौर्य वीर स्व. श्री प्यारेलाल मिश्रा (जिले के ग्राम रमखिरिया में जन्में) एवं स्व. श्री बालेन्द्र सिंह के चित्र पर पुष्पांजलि एवं माल्यार्पण कर किया गया। जिसके बाद मंत्री सुश्री महदेले द्वारा उनके सभी परिजनों का तिलक लगाकर, शॉल, श्रीफल एवं माल्यार्पण से सम्मानित किया। तदउपरांत दोनों शहीदों की पत्नियों को शहीद सम्मान पत्र और स्मृति चिन्ह प्रदाय किए गए। इस अवसर पर मंत्री सुश्री महदेले ने शहीदों के चरणों में श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि 15 अगस्त 1947 के पूर्व हमारा देश गुलाम था। यह आजादी हमें अनेक बलिदानों और संघर्षो के बाद मिली है। इसी उपलक्ष्य में स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पूर्व शौर्य दिवस मनाने का निर्णय शासन द्वारा लिया गया है। यह पहली बार है जब स्वतंत्रता दिवस के पूर्व स्थानीय शहीदों को याद कर उन्हें सम्मानित किया जा रहा है। शहीदों की याद में ही भोपाल में शौर्य स्मरण बनाई गयी है। जब भी अवसर मिले इसे जरूर देखें।

शहीदों के परिवार के  सम्मान की जिम्मेदारी हमारी

हमारे वीर जवान कुछ देश के अन्दर तो कुछ देश की सीमा पर अपने प्राणों का भय त्याग कर हमारी रक्षा करते हैं। इस दौरान कई बार उनके प्राण न्यौछावर हो जाते हैं। जिसके बाद उनके परिवार की सुरक्षा और सम्मान की जिम्मेदारी हमारी है। जिसे हमें निभाना चाहिए। इससे अन्य परिवार भी प्रेरित होंगे। उन्होंने सभी से अपने व्यक्तिगत हितों से ऊपर उठकर देशहित में जब भी कुछ करने का अवसर आए उसके लिए तत्पर रहने का प्रण लेने की अपील की। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष मोहनलाल कुशवाहा, बुन्देलखण्ड प्राधिकरण के उपाध्यक्ष महेन्द्र सिंह यादव, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष माधवेन्द्र सिंह ने भी जिले के शहीदों के सम्मान में सभी उपस्थितों को सम्बोधित किया।

इस अवसर पर जिला सैनिक कल्याण अधिकारी छतरपुर मधुकर जोशी ने शहीद वीरों का स्मरण करने तथा उनके परिजनों को सम्मानित करने हेतु बड़ी संख्या में उपस्थित रहने के लिए सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान कलेक्टर मनोज खत्री, पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. गिरीश कुमार मिश्रा, आशुतोष महदेले,  बृजेन्द्र गर्ग सहित स्थानीय जनप्रतिनिधिगण, अधिकारी, पत्रकारबन्धु, स्कूली बच्चे तथा क्षेत्रवासी मौजूद रहे।