Homeताजा ख़बरेंदुखद हादसा। करंट लगने से देवरानी-जेठानी की मौत, धुले हुए कपड़ों को...

दुखद हादसा। करंट लगने से देवरानी-जेठानी की मौत, धुले हुए कपड़ों को सुखाने तार पर फैलाते समय हुआ हादसा

* पन्ना कोतवाली थाना क्षेत्र के ग्राम बिल्हा की घटना

* पुलिस के असहयोग के कारण  शवों का आज नहीं हो सका पोस्टमार्टम

पन्ना। (www.radarnews.in) जिला मुख्यालय पन्ना के समीपी ग्राम बिल्हा में शुक्रवार 4 अक्टूबर को करंट लगने से देवरानी-जेठानी की दर्दनाक मौत हो गई। कपड़े धोने के बाद उन्हें सुखाने के लिए तार पर फैलाते समय दोनों महिलाओं के करंट की चपेट में आने की जानकारी मिली है। अपनी पत्नी और बहू को खोने वाले राजकुमार पटेल 45 को इस हादसे का पता तब चला जब शाम के समय वह पन्ना से वापिस पाने घर पहुँचा। मकान के अंदर पत्नी राजेन्द्रकली 40 वर्ष और बहू बिन्नू बाई पति भानु प्रताप पटेल 38 वर्ष को अचेत अवस्था में जमीन पर अस्त-व्यस्त पड़ी थी। दोनों की हालत देखकर राजकुमार के पैरों तले से जमीन खिसक गई। एक पल के लिए उसे कुछ समझ ही नहीं आया कि आखिर हुआ क्या है। दोनों को काफी हिलाने-डुलाने के बाद भी जब कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो राजकुमार पटेल फूट-फूटकर रोने लगा। आस-पड़ोस के लोग रोने की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचें तो वहाँ का नजारा देख उन्हें यह समझने देर नहीं लगी कि दोनों महिलाओं को करंट लगा है।
आनन-फानन राजेन्द्रकली 40 वर्ष और बहू बिन्नू बाई को अचेत अवस्था में ही इलाज के लिए पन्ना जिला चिकित्सालय लाया गया। जहाँ ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने दोनों महिलाओं का सघन परीक्षण करने के उपरान्त उन्हें मृत घोषित कर दिया। सगी देवरानी-जेठानी की मौत के बाद से पटेल परिवार में कोहराम मचा है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। अपनी माँओं को खोने वाले बच्चे भी बिलख रहे है। उधर इस दुखद हादसे की खबर फैलने के बाद से ग्राम बिल्हा समेत क्षेत्र मातम का माहौल निर्मित है। राजकुमार पटेल ने बताया कि घटना के समय घर में सिर्फ दोनों महिलाएँ ही मौजूद थीं इसलिए पक्के तौर नहीं बता सकता कि हुआ क्या है। लेकिन घटनास्थल और दोनों शवों की स्थिति को देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि कपड़े फैलाने वाले तार में घरेलू विधुत लाइन से करंट प्रवाहित हो गया और महिला जब कपड़े धोने के बाद उन्हें सुखाने के लिए तार पर फैलाने गईं तो करंट की चपेट में आ गई। शायद उसे बचाने पहुंचीं दूसरी महिला भी करंट के सम्पर्क में आकर असमय काल-कवलित हो गई।

यहाँ कोई सुनने वाला नहीं है..!

जिला चिकित्सालय पन्ना में पत्रकारों को अपनी आपबीती सुनाता हुआ राजकुमार पटेल।
पत्नी और बहु की दर्दनाक मौत से दुखी राजकुमार पटेल 45 ने पत्रकारों को अपनी आपबीती सुनाते हुए बताया कि कथित तौर पर कोतवाली थाना पन्ना पुलिस की लापरवाही के चलते दोनों शवों का आज पोस्टमार्टम नहीं हो सका। यहाँ कोई उसकी सुनने वाला नहीं है, कोतवाली थाना जाकर पुलिसकर्मियों से गुहार लगाई कि पंचनामा सहित मर्ग कायम करने की कार्रवाई तत्परता से कर लें ताकि देर शाम तक दोनों शवों का पोस्टमार्टम संभव हो सके। ड्यूटी डॉक्टर भी पोस्टमार्टम करने के लिए तैयार थे लेकिन पुलिसकर्मियों का कोई अता-पता नहीं था। परिणामस्वरूप आज शवों का पोस्टमार्टम नहीं हो सका। इसलिए शोक संतृप्त परिजनों को अंतिम संस्कार करने के लिए शव नहीं मिल सके। फिलहाल दोनों शवों को जिला चिकित्सालय पन्ना के शव विच्छेदन गृह में रखवाया गया है। राजकुमार ने बताया कि इस हादसे के बाद से उनके बच्चे और परिजन घर में बिलख रहे हैं, रिश्तेदारों का घर पर आना शुरू हो गया है लेकिन शव पन्ना रखे होने के कारण वह अपने घर भी नहीं जा सकते। अब शनिवार 05 अक्टूबर की सुबह पोस्टमार्टम होने के बाद शवों को परिजनों को सौंपा जाएगा।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments