बहू को प्रेमी संग आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया, इसलिए दोनों ने मिलकर कर दी सास की हत्या

0
3133
पवई थाना पुलिस टीम की अभिरक्षा में हत्यारोपी हल्के चौधरी।

* कुसुम बाई के अंधे क़त्ल का पन्ना पुलिस ने किया खुलासा

* बहू की करतूत बेटे को बताने जा रही थी सास तभी कर दी थी हत्या

पन्ना/पवई। (www.radarnews.in) मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में पवई थाना अंतर्गत बघाई मोड़ के समीप 5 दिन पूर्व हुई अधेड़ महिला की जघन्य हत्या का खुलासा पुलिस ने सोमवार को कर दिया है। बहु ने प्रेमी संग मिलकर सास कुसुम बाई चौधरी की हत्या की थी। क्योंकि, कुसुम बाई ने बहू माया बाई को उसके प्रेमी हल्के चौधरी संग आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था। इनके नाजायज रिश्ते की जानकारी पुत्र संजू चौधरी को देने के लिए कुसुम बाई जब अपने घर से खेत की तरफ जा रही थी तभी माया बाई और उसके प्रेमी हल्के चौधरी ने कुल्हाड़ी से हमला कर कुसुम बाई की हत्या कर दी थी। पुलिस ने हत्या के आरोप में माया बाई और उसके प्रेमी हल्के चौधरी को गिरफ्तार कर लिया है।

खेत में मिला था खून से लथपथ शव

उल्लेखनीय है कि पवई क़स्बा के समीप बघाई मोड़ पर रहने वाली कुसुम बाई पत्नी मुलुआ चौधरी 55 वर्ष का खून से लथपथ शव बुधवार 8 जनवरी की सुबह उसी के खेत में पड़ा मिला था। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुँची पवई थाना पुलिस ने शव के समीप से वह कुल्हाड़ी भी बरामद की थी जिससे कुसुम बाई की हत्या की गई थी। घटना दिनाँक को कुसुम बाई अपने घर पर बहू माया बाई के साथ सोई थी, जबकि उसका पति मुलुआ चौधरी और पुत्र संजू चौधरी खेत की रखवाली करने के लिए खेत में बनीं झोपड़ी सोए हुए थे, जोकि घर के ही नजदीक स्थित है। बुधवार 8 जनवरी की सुबह माया बाई ने पति संजू चौधरी को फोन करके बताया कि घर के दरवाजे बाहर से बंद हैं, उसने पति को घर बुलाया कि वह आकर दरवाजे खोल दे। कुछ समय बाद दरवाजे खुलने पर माया बाई जब दिशा मैदान जाने के लिए निकली तो कुछ ही दूरी पर उसे खेत में सास कुसुम बाई मृत अवस्था में पड़ी मिली। कुसुम बाई 55 वर्ष की संदिग्ध मौत पर पवई थाना पुलिस के द्वारा अज्ञात अपराधी के विरुद्ध आईपीसी की धारा 302, 201, 34 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया गया। अंधी हत्या को चुनौती के रूप में लेते हुए पुलिस अधीक्षक पन्ना मयंक अवस्थी के द्वारा इसके खुलासे के लिए एक टीम गठित की गई।

संदेह के आधार पर पकड़े गए

घटनास्थल पर पंचनामा कार्रवाई करते हुए पवई थाना पुलिस। फाइल फोटो।
पवई एसडीओपी बी.एस. परिहार के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी पवई एसपी शुक्ला के नेतृत्व वाली पुलिस टीम ने इस मामले की पतारसी की और घटना स्थल पर मिले साक्ष्यों के आधार पर किसी जानकार व्यक्ति का हत्या की वारदात में हाथ होने के संदेह के चलते संजू के घर उठने-बैठने वालों के संबंध में पता लगाया। इस दौरान पुलिस को कुसुम बाई की बहू और उसके स्वजातीय पड़ोसी हल्के चौधरी पुत्र भगवत चौधरी 18 वर्ष के बीच करीब एक वर्ष से नाजायज रिश्ते होने की भनक लगी। थाना प्रभारी पवई एसपी शुक्ला ने बताया कि संदेह के आधार पर जब माया बाई 23 वर्ष और उसके प्रेमी हल्के चौधरी 18 वर्ष को हिरासत में लेकर दोनों से कड़ाई से पूँछतांछ की गई तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया। इनके मोबाइल फोन पुलिस ने जब्त किये हैं।

नाजायज रिश्ते को छिपाने किया क़त्ल

सास कुसुम बाई की हत्या के आरोप में गिरफ्तार बहू माया बाई चौधरी पवई थाना पुलिस टीम की अभिरक्षा में।
थाना प्रभारी श्री शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना दिनाँक 7-8 जनवरी की दरम्यानी रात हल्के चौधरी माया से मिलने के लिए उसके घर गया था। कुसुम बाई जिस कमरे में लेटी थी उसी से होकर बहू माया के कमरे का रास्ता जाता है। रात्रि में हल्के चौधरी और माया को उसकी सास कुसुम बाई ने बेहद आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था। दोनों के हम बिस्तर होने से नाराज कुसुम बाई रात्रि में ही अपने पुत्र संजू चौधरी को बहू की चरित्रहीनता और उसके अवैध सम्बंध की जानकारी देने के लिए घर से खेत की तरफ निकली तो बहू माया बाई और उसके प्रेमी ने अपनी घिनौनी करतूत भण्डाफोड़ होने के डर से कुसुम बाई के ऊपर कुल्हाड़ी से हमला कर उसे मौत के घात उतार दिया था। वारदात के बाद माया बाई ने प्रेमी हल्के से अपने घर के दरवाजे की बाहर से जंजीर लगवा दी थी ताकि कोई उस पर संदेह न करे।