पत्नी को भगा ले गया था प्रेमी, क्षुब्ध युवक ने साले और दोस्तों संग मिलकर प्रेमी को मारी गोली

0
1483
बृजपुर थाना पुलिस अभिरक्षा में सुखेन्दा उर्फ़ सुखेन्द्र कोल का हत्यारोपी।

* पन्ना जिले के बहुचर्चित मोहनपुरवा हत्याकाण्ड का खुलासा

* मुख्य आरोपी और उसके साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में बृजपुर थाना अंतर्गत करीब सप्ताह भर पूर्व नवयुवक सुखेन्दा उर्फ़ सुखेन्द्र कोल पिता सुखदिन्ना कोल 22 वर्ष निवासी ग्राम भंसूड़ा के सनसनीखेज अंधे कत्ल का पुलिस ने अधिकारिकतौर पर खुलासा कर दिया है। सुखेन्दा कोल का कत्ल उसकी प्रेमिका के पति ने अपने दोस्तों और साले के साथ मिलकर किया था। मृतक इसी साल जनवरी महीने में समीपी गाँव मोहनपुरवा(मोहनपुरा) की एक शादीशुदा युवती को भगा ले गया था। इस अप्रत्याशित घटनाक्रम से सामाजिक स्तर काफी बदनामी होने से क्षुब्ध युवती के पति ने अपने नाबालिग साले तथा दो दोस्तों संग मिलकर योजनाबद्ध तरीके से 10 जून की देर रात सुखेन्दा कोल की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस का दावा है कि पकड़े गए मुख्य आरोपी रामदीन कोल निवासी ग्राम बगरहा थाना मारकुंडी जिला चित्रकूट उत्तर प्रदेश ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। इस बहुचर्चित हत्याकाण्ड का खुलासा पन्ना पुलिस ने शनिवार रात करीब 10 बजे सोशल मीडिया पर किया है। जबकि पुलिस की ओर से जारी प्रेस रिलीज में हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी शुक्रवार 14 जून को होना बताया गया है। पुलिस ने इस प्रकरण में सहआरोपी एवं रामदीन कोल के नाबालिग साले को भी शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या की वारदात में शामिल रामदीन के दो साथी धन्नू कोल एवं सोनू कोल निवासी ग्राम बगरहा थाना मारकुंडी जिला चित्रकूट उत्तर प्रदेश अभी भी फरार हैं।

ससुराल में किया था मर्डर

मृतक सुखेन्द्र आदिवासी का शव।
पुलिस की कहानी के मुताबिक उसे 10 जून की सुबह उसे बृजपुर थाना के ग्राम मोहनपुरवा में स्कूल के सामने सड़क किनारे एक शव पड़ा होने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुँचकर शव की पहचान सुखेन्दा कोल पिता सुखदिन्ना कोल 22 वर्ष निवासी ग्राम भंसूड़ा के रूप में की गई। शव की हालत को देखते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा था किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा उसके सिर में गोली मारकर हत्या की गई है। कथिततौर पर इस अंधे कत्ल की विवेचना के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि मृतक मोहनपुरवा गाँव की एक विवाहित युवती को जनवरी महीने में भगा ले गया था। युवती का पति रामदीन कोल इस घटना को लेकर सुखेन्दा कोल से अत्यंत ही क्षुब्ध था और बुराई मानता था। घटना दिनांक 10 जून के एक दिन पूर्व युवती का पति रामदीन कोल अपनी ससुराल मोहनपुरवा में अपने साथियों के साथ देखा गया था।
घटनास्थल पर मौजूद ग्रामीण एवं थाना पुलिस बल।
अगले दिन रामदीन ने दोस्त साथी धन्नू कोल, सोनू कोल एवं अपने छोटे साले के साथ मिलकर रात करीबन 1.00 बजे सुखेन्दा कोल के सिर में गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। उल्लेखनीय है कि जवान बेटे की मौत का पता चलते ही परिजनों ने उसकी प्रेमिका के पति पर हत्या करने का संदेह जताया था। जिस दिन सुखेन्दा कोल की हत्या की गई उस दिन घर पर उसकी बहिन की बारात आई थी। बहिन के वैवाहिक कार्यक्रम में व्यस्त रहा सुखेन्दा कोल देर रात अचानक किसके बुलाने पर समीपी गाँव मोहनपुरवा गया था इसे लेकर कई तरह की चर्चाएं हैं। हालाँकि पुलिस ने हत्याकाण्ड के खुलासे के ब्योरे में इस बात का उल्लेख ही नहीं किया है, कि बहिन के विवाह का कार्यक्रम छोड़कर सुखेन्दा कोल अचानक मोहनपुरवा क्यों गया था।

कई साल से चल रहा था प्रेम प्रसंग

हत्या की वारदात के बाद शोकमग्न बैठीं गाँव की महिलायें।
जनचर्चाओं पर भरोसा करें तो सुखेन्दा कोल निवासी ग्राम भंसूड़ा का अपने पड़ोसी गाँव मोहनपुरवा की युवती के साथ प्रेम प्रसंग विवाह के पहले से चल रहा था। युवती का विवाह होने के बाद भी इनके सम्बंध बरकरार रहे। फलस्वरूप सुखेन्दा कोल इसी साल जनवरी महीने में युवती को भगा ले गया था। इस घटना का पता चलने पर दोनों परिवारों के बीच काफी विवाद हुआ था। बात पहाड़ीखेरा चौकी पुलिस के पास भी पहुँची थी। लेकिन सामाजिक बदनामी और बेटी के वैवाहिक जीवन के भविष्य को देखते हुए लड़की पक्ष ने घटना की रिपोर्ट नहीं की थी। उधर, चौतरफा दबाब पड़ने पर प्रेमी युगल कुछ समय बाद वापस अपने गाँव लौट आया था। प्रेमी दवारा पत्नी को भगा ले जाने से क्षुब्ध रामदीन बदला लेने की फिराक में था। जिसके चलते मौका पाकर उसने सुखेन्दा कोल की हत्या की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपी रामदीन के कब्जे से हत्या की वारदात में युक्त 12 बोर का देशी कट्टा, एक जिन्दा कारतूस, मोटर साईकिल तथा मोबाईल फोन जप्त किया है। प्रकरण के खुलासे में पड़ोसी जिला सतना की पुलिस का विशेष सहयोग रहा। इस मामले में फरार चल रहे रामदीन के दोनों साथियों की धरपकड़ हेतु बृजपुर थाना पुलिस सरगर्मी से उनकी तलाश में जुटी है।