सिंधिया ने पवई सीट से मुकेश नायक को घोषित किया उम्मीदवार | टिकिट के अन्य दावेदारों की उम्मीदों पर फिरा पानी

0
4062
विधायक मुकेश नायक का हाथ उठाकर उन्हें आगामी चुनाव प्रचंड बहुमत से विजयी बनाने की अपील करते सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया।

परिवर्तन यात्रा की आमसभा से नदारत रहे कई स्थानीय दिग्गज

ज्योतिरादित्य सिंधिया के पवई दौरे पर नजर आई कांग्रेस में गुटबाजी

पन्ना। रडार न्यूज    मध्यप्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के प्रमुख एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार शाम 5 सितंबर को पन्ना जिले के पवई विधानसभा मुख्यालय में परिवर्तन यात्रा की विशाल आमसभा को संबोधित करते हुए पवई सीट से कांग्रेस के मौजूदा विधायक मुकेश नायक को आगामी विधानसभा चुनाव में पुनः उम्मीदवार बनाने का ऐलान किया है। उन्होंने मुकेश नायक का हांथ उठाकर आमसभा में उपस्थित लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस बार इन्हें 50 हजार मतों के अंतर से विजयी बनाएं। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की इस घोषणा से पवई से कांग्रेस की टिकिट के अन्य दावेदारों को तगड़ा झटका लगा है। मुकेश के नाम का ऐलान होते ही मंच पर मौजूद टिकिट के अन्य दावेदारों की उम्मीदों पर पानी फिर गया। उनके पीले पड़े मुरझाये हुए चेहरों से हताशा और निराशा साफ झलक रही थी। दरअसल विधायक मुकेश नायक के भारी विरोध, आमजनता में व्याप्त नाराजगी और क्षेत्रीयता की भावना के उभार के चलते टिकिट के अन्य दावेदारों को इस बात का पूरा भरोसा था कि पार्टी नेतृत्व इस बार किसी स्थानीय नेता को अवसर अवश्य देगा। लिहाजा मध्यप्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के प्रमुख ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा विशाल आमसभा में विधायक मुकेश नायक को आगामी विधानसभा चुनाव में प्रचण्ड बहुमत से विजयी बनाने की अपील करने से टिकिट के अन्य दावेदारों में हड़कंप मचना स्वाभाविक था।

पवई में परिवर्तन यात्रा की आमसभा को संबोधित करते सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया।

मजेदार बात यह कि इस पन्ना सीट से टिकिट मांग रहे कांग्रेस के ब्राह्मण नेता भी इस घोषणा के बाद हैरान-परेशान हैं। इनकी चिंता और बेचैनी का कारण यह है कि पन्ना सीट से कांग्रेस का टिकिट अब किसी अन्य वर्ग के खाते चला जायेगा। सर्वविदित है कि पन्ना जिले में विधानसभा की कुल तीन सीटें हैं। जिनमें पन्ना और पवई सीट अनारक्षित है। जबकि गुनौर सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। दोनों प्रमुख राजनैतिक दल भाजपा-कांग्रेस पन्ना की दोनों अनारक्षित विधानसभा सीटों पर जातिगत और सामाजिक समीकरण बैठाने के लिए किसी एक सीट पर ब्राह्मण तो दूसरी सीट पर क्षत्रिय या फिर पिछड़े वर्ग के नेताओं को अब तक प्रत्याशी बनाते रहे हैं। बहरहाल पवई सीट से विधायक मुकेश नायक को पुनः प्रत्याशी बनाये जाने का ऐलान होने से उनके समर्थकों के अलावा पन्ना के क्षत्रिय, पिछड़े वर्ग और वैश्य समाज के उन नेताओं में ख़ुशी की लहर व्याप्त है जोकि टिकिट की दौड़ में शामिल है। इन अनुकूल परिस्थितियों में उक्त वर्गों के नेताओं को पन्ना सीट से अब अपनी किस्मत चमकने के आसार नजर आ रहे हैं। पन्ना से टिकिट की दौड़ में सफलता किसे मिलती है यह तो आने वाला वक्त ही बतायेगा।

आमसभा से बनाई दूरी

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतीक्षा में पवई के समीप खड़े युवा कांग्रेस कार्यकर्ता।

परिवर्तन यात्रा की आमसभा में शामिल होने आये सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे पर कांग्रेस की गुटबाजी साफ नजर आई। पवई विधायक मुकेश नायक के धुर विरोधी और टिकिट के दावेदार अरुणपाल सिंह बुंदेला, अनिल तिवारी, गिरधारी लोधी आदि नेता आमसभा में शामिल नहीं हुए। इन सभी ने अपने-अपने क्षेत्र में सिंधिया का स्वागत किया। उक्त नेताओं का आमसभा से नदारत रहना चर्चा का विषय बना रहा। उधर टिकिट के एक अन्य दावेदार एवं युवा कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष भुवन सिंह ने अपने समर्थकों के साथ माँ कलेही मंदिर के पास सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का स्वागत किया। इनके समर्थक भी आमसभा में नहीं पहुंचे। हलांकि भुवन सिंह, बीरेंद्र दिवेदी और मुन्ना राजा सिमरा सहित टिकिट के अन्य दावेदार आमसभा में मंचासीन रहे।

पूर्व सांसद कांग्रेस में हुए शामिल

पवई में आमसभा के मंच पर बैठे बायें से दूसरे पन्ना राजपरिवार के वरिष्ठ सदस्य एवं पूर्व सांसद लोकेन्द्र सिंह।

पन्ना राजपरिवार के वरिष्ठ सदस्य एवं पूर्व सांसद-पूर्व विधायक लोकेन्द्र सिंह ने बुधवार 5 सितंबर 2018 को पड़ोसी जिला दमोह के हटा कस्बा की आमसभा में मध्यप्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के प्रमुख एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के हाथों कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। पूर्व सांसद लोकेन्द्र सिंह भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए हैं। इसके पूर्व भी वे कांग्रेस में रहे हैं। भाजपा से सांसद रहे लोकेन्द्र सिंह को सर्वप्रथम ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्वर्गीय पिता माधवराव सिंधिया कांग्रेस में लाये थे। बुधवार को श्री सिंधिया के पन्ना जिले के दौरे पर पन्ना राजपरिवार के वरिष्ठ सदस्य लोकेन्द्र सिंह पूरे समय उनके साथ रहे। अपने जमाने में बुंदेलखंड के दिग्गज नेता रहे पूर्व सांसद लोकेन्द्र सिंह के कांग्रेस में शामिल होने की खबर राजनैतिक हलकों में चर्चा का विषय बनी है।