छात्र-छात्राओं की समस्याओं का तुरंत निराकरण करें विश्वविद्यालय : राज्यपाल

0
734
राज्यपाल श्रीमती आनदीबेन पटेल ने आज बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के 48 वें स्थापना दिवस के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया।

बरकतउल्ला विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस समारोह सम्पन्न 

भोपाल। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि विश्वविद्यालय छात्र-छात्राओं की समस्याओं का निराकरण तुरंत करें। समस्त कार्यवाही समय सीमा में करें ताकि छात्र-छात्राओं का भविष्य खराब न हो। उन्होंने यह बात आज यहाँ बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस समारोह में कही। राज्यपाल ने विश्वविद्यालय का निरीक्षण किया तथा विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धियाँ हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया।

राज्यपाल श्रीमती आनदीबेन पटेल ने आज बरकतउल्ला विश्वविद्यालय परिसर का भ्रमण किया। इस अवसर पर उन्होंने कन्या छात्रावास का भ्रमण कर छात्राओं से उनकी समस्याओं के संबंध में जानकारी ली और संबंधित को निराकारण के लिए निर्देश दिये।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि विद्यार्थियों को समय का महत्व समझने की आवश्यकता है। जिस काम के लिए जो समय निश्चित है, वह काम उस समय पर अवश्य पूरा करें। उन्होंने छात्र-छात्राओं से कहा कि अनुशासन आपका सबसे बड़ा गुण और कर्त्तव्य होना चाहिए।

राज्यपाल ने कहा कि हमारी सोच ऐसी होना चाहिए कि हम सब मिलकर कैसे विश्वविद्यालय के स्तर को ऊंचा उठा सकते है। उन्होंने अभिभावकों से कहा कि अपने बच्चों को अच्छे संस्कार दें, उन्हें आदर्श नागरिक बनाने का प्रयास करें। राज्यपाल ने वृक्षारोपण की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि प्रत्येक परिवार को 5-5 पौधे जरूर लगाना चाहिये और वृक्ष बनने तक उनकी रक्षा भी सुनिश्चित करना चाहिये।

राज्यपाल श्रीमती आनदीबेन पटेल ने आज बरकतउल्ला विश्वविद्यालय परिसर का भ्रमण किया। इस अवसर पर उन्होंने कन्या छात्रावास का भ्रमण कर छात्राओं से उनकी समस्याओं के संबंध में जानकारी ली और संबंधित को निराकारण के लिए निर्देश दिये।

श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने महिला सशक्तिकरण का उल्लेख करते हुए कहा कि स्व-सहायता समूह से महिलाओं की आर्थिक स्थिति ठीक हो सकती है। जब तक हम महिलाओं को जागरूक नहीं बनाएंगे, तब तक आधी आबादी विकास नहीं कर सकती। उन्होंने छात्रों से दहेज न लेने, बाल-विवाह का विरोध करने और प्रदेश को टीबी मुक्त बनाने की शपथ लेने का आव्हान किया। श्रीमती पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालय के कर्मचारियों का भी ध्यान रखा जाये। उन्होंने मीडिया से कहा कि जब कोई अच्छा काम करता है तो उसे अवश्य दिखायें। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डी.सी. गुप्ता, रजिस्ट्रार डॉ. यू.एन. शुक्ल सिंह सहित विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारी इस मौके पर उपस्थित थे।