Homeमध्यप्रदेशरेत खदानों पर पड़े छापे। 5 एलएनटी, 1 जेसीबी और 12 ट्रक...

रेत खदानों पर पड़े छापे। 5 एलएनटी, 1 जेसीबी और 12 ट्रक जब्त

देर रात पुलिस टीमों ने दबिश देकर की कार्यवाही

प्रतिबंध के बावजूद मशीनों से निकाली जा रही थी रेत

केन नदी के जिगनी घाट में नहीं थम रहा रेत का अवैध उत्खनन

अजयगढ़/पन्ना। रडार न्यूज केन नदी कोख को छलनी कर रेत का अनियंत्रित तरीके से बेइंतहां दोहन कर रहे माफियाओं पर नकेल कसने के लिए गुरूवार देर रात पुलिस की चार टीमों ने अजयगढ़ की रेत खदानों पर दबिश देते हुए 5 एलएनटी मशीनें, 1 जेसीबी और 12 ट्रक जब्त किये है। इन खदानों में लम्‍बेे समय से प्रतिबंध के बावजूद मशीनों से रेत का खनन कराया जा रहा था। पन्ना पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल के निर्देशन में की गई छापामार कार्रवाई को बेहद गोपनीय तरीके से अंजाम देने के लिए पन्ना से खासतौर पर पुलिस टीमों को भेजा गया। कथिततौर पर अजयगढ़  केे पुलिस व राजस्व अधिकारियों को इस कार्यवाई से दूर रखते हुए उन्हें इसकी जानकारी तक नहीं दी गई। फलस्वरूप गुरूवार देर रात से लेकर सुबह तक सुनहरा, बीरा, जिगनी आदि खदानों पर पुलिस के छापे पड़े तो समूचे अजयगढ़ क्षेत्र मेें हड़कम्प मच गया।  छापामार कार्रवाई से खदान क्षेत्रों में अफरा-तफरी फैल गई। प्रतिबंध के बावजूद मशीनों से रेत उत्खनन कराये जाने से पुलिस ने सुनहरा और डिजयाना कम्पनी की बीरा रेत खदान से दो-दो एलएनटी मशीनें और केन नदी के जिगनी घाट में पूर्णतः अवैध रूप से संचालित खदान से एक एलएनटी एवं एक जेसीबी मशीन जब्त की है। इसके अलावा रेत से भरे 12 ट्रक भी पुलिस ने पकड़े है। जप्तशुदा मशीनरी और वाहनों की कीमत करीब 5 करोड़ रुपए से अधिक बताई जा रही है।

प्रशासन के संरक्षण में चल रहा था अवैध उत्खनन-

उल्लेखनीय है कि पन्ना जिले के अजयगढ़ तहसील क्षेत्र अंतर्गत केन नदी पर स्वीकृत अधिकांश रेत खदानों मेें कई माह पहले ही रेत समाप्त हो चुकी थी। किन्तु स्थानीय पुलिस, खनिज और राजस्व विभाग की सांठगांठ से ठेकेदारों द्वारा खदान क्षेत्र के बाहर कई किलोमीटर में दैत्याकार मशीनों के जरिये पानी से रेत निकाली जा रही थी। पिछले तीन-चार माह से रेत के डम्पों की आड़ में केन नदी की रेत पर खुलेआम डकैती डाले जाने की खबर को रडार न्यूज ने दो दिन पूर्व प्रमुखता से प्रकाशित करते हुए जिला प्रशासन की भूमिका पर गंभीर सवाल उठाये थे। खबर मेें उन खदानाेें के नामों का भी उल्लेख किया गया था जिनकी रेत समाप्त हो चुकी है। पुलिस की छापामार कार्यवाही से यह साबित हो गया है कि मानसून के सक्रिय होने के बावजूद रेत खदान ठेकेदार केन की बहुमूल्य खनिज सम्पदा को लूटकर अपनी तिजोरी भरने के लिए रातदिन मशीनों से रेत खनन करा रहे थे। केन नदी के जिगनी घाट में एक भी खदान स्वीकृत न होने के बावजूद वहां से भी एक जेसीबी और एक एलएनटी मशीन रेत निकालते हुए पकड़ी गई इससे स्पष्ट है कि पूर्व में कई बार कार्यवाई होने के बावजूद जिगनी घाट में संचालित अवैध रेत खदानों पर प्रभावी रोक नहीं लग पा रही है। जबकि पुलिस चाैकी चंदौरा से जिगनी घाट की दूरी पांच किलोमीटर से भी कम है।

छापाेें की खबर मिलने पर पहुंचे स्थानीय अधिकारी-

पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल द्वारा पन्ना से भेजी गई पुलिस टीमों द्वारा रेत खदानों पर बेहद गोपनीय तरीके से कार्रवाई को अंजाम देते ही इसकी खबर जंगल की आग की तरह पूरे इलाके में फैल गई। अल सुबह जब इस कार्यवाई की जानकारी अजयगढ़ के पुलिस और राजस्व अधिकारियों को लगी तो वे दंग रह गये। कथिततौर पर रेत खदान ठेकेदारों से सांठगांठ के चलते छापामार कार्यवाही से दूर रखे गये स्थानीय अधिकारी खुद को पाक-साफ दिखाने के लिए कार्यवाई का जायजा लेते और पन्ना से आई टीमों का सहयोग करते नजर आये। छापामार कार्यवाई मुख्य रूप से पन्ना कोतवाली टीआई अरविंद कुजूर, सलेहा थाना प्रभारी शैलेन्द्र यादव एवं देवेन्द्रनगर थाना प्रभारी मनीष मिश्रा व उनकी टीम शामिल रही। समाचार लिखेे जानेे तक अजयगढ़ में रूक-रूक कर रहे रही बारिश के बीच पुलिस अधिकारी-कर्मचारी जब्तशुदा वाहनों को सुरक्षित स्थानों पर खड़ा कराने के लिए मशक्कत करते रहे।

इनका कहना है-

      ‘‘पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में चार पुलिस टीमों ने छापामार कार्यवाई करते हुए रेत खदानों से 5 एलएनटी, 1 जेसीबी और 12 ट्रक जब्त किये है। इस मामले में अग्रिम कार्यवाई हेतु प्रतिवेदन जिला खनिज अधिकारी को प्रस्तुत किया जायेगा।‘‘
                                                                     -बीके सिंह परिहार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्ना

 

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments