Homeमध्यप्रदेश"हे नाथ निभाओ वचन, हम पर भी करो कृपा" एमपी के संविदा...

“हे नाथ निभाओ वचन, हम पर भी करो कृपा” एमपी के संविदा कर्मचारियों ने सीएम को याद दिलाया वादा

* नियमितीकरण और वेतन वृद्धि आदेश जारी करने सौंपा ज्ञापन

* घोषणा पर अमल न होने से छला हुआ महसूस कर रहे संविदा कर्मचारी

शादिक खान, पन्ना।(www.radarnews.in) मध्य प्रदेश के संविदा कर्मचारियों ने नियमितीकरण और वेतन वृद्धि की अपनी बहुप्रतीक्षित माँग को नए सिरे से उठाना शुरू कर दिया है। लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया सम्पन्न होने के पश्चात संविदा कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को उनका वचन याद दिलाते हुए उसे निभाने की पुरजोर माँग की है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ जिला शाखा पन्ना ने इस सम्बंध में शनिवार को मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन जिला कांग्रेस अध्यक्ष को सौंपा है। जिसमें संविदा कर्मचारियों को नियमित करने व नियमित कर्मचारियों के वेतन का 90 प्रतिशत मानदेय भुगतान करने के आदेश जारी कर उस पर तत्परता से अमल कराने की माँग प्रमुखता से की गई है। ज्ञापन में संविदा कर्मचारियों ने अपनी मनोदशा और व्यथा का उल्लेख किया है कि मानदेय वृद्धि के सम्बंध में सामान्य प्रशासन विभाग के द्वारा दिनाँक 5 जून 2018 को संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचरियों के वेतन का 90 मानदेय भुगतान करने के आदेश जारी हुए थे लेकिन एक साल गुजरने के बाद भी इसे लागू नहीं किया गया। इस कारण संविदा कर्मचारी स्वयं को छला हुआ महसूस कर रहे हैं।

बन गई सरकार अब करो नियमित

संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी जिला शाखा पन्ना के पदाधिकारी।
संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ पन्ना ने अपने ज्ञापन में बताया है कि विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणा पत्र (वचन पत्र) में संविदा कर्मचारियों को नियमित करने का वादा किया था। इस सम्बंध कहा गया था कि मध्य प्रदेश में सरकार बनने के बाद संविदा कर्मचारियों को नियमित करने समिति बनाकर 3 माह में आदेश जारी किए जाएँगे। लेकिन इस वचन को अब तक पूरा नहीं गया। अपने भविष्य को लेकर चिंतित संविदा कर्मचारियों का इस लेटलतीफी से परेशान होना स्वाभाविक है। ज्ञापन के माध्यम से यह भी माँग की गई है कि स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत सपोर्ट स्टॉफ के कर्मचारियों को पूर्व की भाँति एनएचएम में ही रखा जाए। उल्लेखनीय है कि पूर्व में सपोर्ट स्टॉफ को संविदा से हटाकर रोगी कल्याण समिति में नियुक्त करने का आदेश जारी हुआ था। जबकि इन कर्मचारियों का मानदेय एनएचएम से दिया जा रहा है। इसलिए संविदा सपोर्ट स्टॉफ को एनएचएम में ही रखा जाना न्याय संगत है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ जिला शाखा पन्ना के अध्यक्ष नरेन्द्र तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने उनके ज्ञापन को मुख्यमंत्री तक पहुँचाने और उनकी माँगों को पूरा कराने हेतु सहानुभूतिपूर्वक यथा सम्भव प्रयास करने का भरोसा दिलाया है।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments