बीमार न रहेगा अब लाचार | प्रतिवर्ष 5 लाख तक का मुफ्त होगा इलाज

0
1416

आयुष्मान भारत, मध्यप्रदेश निरामयम् योजना का हुआ शुभारंभ

पन्ना। रडार न्यूज  देश के सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत योजना 23 सितंबर 2018 से पूरे देश में लागू हो गयी है। जिला स्तर पर आयोजित कार्यक्रम में सुश्री कुसुम सिंह महदेले मंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी द्वारा इस महत्वकांक्षी योजना का शुभारंभ किया गया। यह कार्यक्रम जिला चिकित्सालय पन्ना परिसर में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि मंत्री महदेले द्वारा फीता काटकर जिला चिकित्सालय पन्ना में आयुष्मान भारत कियोस्क (हेल्पडेस्क) का उद्घाटन किया। जिसके बाद जिला चिकित्सालय की जीर्णोद्धार की गयी बर्न यूनिट का भी लोकार्पण किया तथा वहां की गयी व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। जिला स्तरीय कार्यक्रम में रांची से प्रधानमंत्री द्वारा योजना के शुभारंभ कार्यक्रम का भी सीधा प्रसारण सभी उपस्थितों द्वारा देखा गया।

1400 बीमारियों के ईलाज की सुविधा

जिला स्तर पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि मंत्री महदेले एवं अध्यक्ष खजुराहो सांसद नागेन्द्र सिंह द्वारा किया गया। जिसके बाद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एल.के. तिवारी द्वारा आयुष्मान भारत मध्यप्रदेश निरामयम् योजना के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गयी तथा उन्होंने बताया कि लगभग 1400 विभिन्न रोग बीमारियों का ईलाज योजना के अन्तर्गत किया जाएगा। कार्यक्रम में कलेक्टर एवं अध्यक्ष जिला क्रियान्वयन इकाई आयुष्मान भारत योजना मनोज खत्री ने उपस्थितजन को सम्बोधित करते हुए बताया कि योजना का लाभ मुख्य रूप से तीन तरह के परिवारों को मिलेगा- पहला सामाजिक आर्थिक जातीय सर्वेक्षण 2011 के चिन्हित परिवार, दूसरा मुख्यमंत्री संबल योजना के पंजीकृत परिवार एवं तीसरे मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम के अन्तर्गत पात्रता पर्ची धारक परिवार। उन्होंने बताया कि यह योजना केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही है। जिसमें एक साल में बिना किसी प्रीमियम के 5 लाख तक का ईलाज शासन द्वारा निःशुल्क कराया जाएगा। इस योजना से मरीजों को स्वास्थ्य सुरक्षा कवच मिलने के साथ-साथ अस्पताल को भी लाभ होगा। लगभग 70 प्रतिशत राशि रोगी कल्याण समिति को प्राप्त होगी, जिससे अस्पताल की अधोसंरचना का विकास होगा। इतना ही नही संबंधित चिकित्सक और पैरा मेडिकल स्टॉफ को भी आर्थिक प्रोत्साहन मिलेगा। योजना के अन्तर्गत उप स्वास्थ्य केन्द्रों को अपग्रेड कर हेल्थ अवेयरनेस सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा। वहां सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए सक्षम बनाया जाएगा।

हितग्राहियों को वितरित किए गोल्डन ई-कार्ड

योजना के शुभारंभ अवसर पर अतिथियों द्वारा हितग्राहियों को गोल्डन ई-कार्ड वितरित किए गए। मुख्य अतिथि मंत्री सुश्री महदेले सहित अन्य अतिथियों ने हितग्राही रमेश प्रजापति, मुजाहिद रजा, मुकेश कुशवाहा, दयाराम विश्वकर्मा एवं नत्थूलाल को मंच से टोकन स्वरूप गोल्डन ई-कार्ड प्रदाय किए गए। शेष हितग्राहियों को जिला अस्पताल द्वारा कार्ड वितरित किए जाएंगे।

लाभ लेने के लिए यह दस्तावेज आवश्यक

आयुष्मान भारत, मध्यप्रदेश निरामयम् योजना के शुभारंभ कार्यक्रम में डॉ. श्वेता सिंह ने बताया कि योजना का लाभ लेने के लिए चयनित तीनों वर्ग के हितग्र्राहियों के पास आधार कार्ड, फोटोग्राफ, समग्र आईडी, राशन कार्ड एवं असंगठित श्रमिकों के पास संबल योजना का कार्ड होना आवश्यक है। जिला अस्पताल में एक आयुष्मान भारत कियोस्क (हेल्पडेस्क) स्थापित किया गया है। जिसमें वर्तमान में दो आयुष्मान मित्रों को नियुक्त किया गया है। मरीज को भर्ती के दौरान यह आयुष्मान मित्र उनका पूरा सहयोग करेंगे। मरीज को चिन्हित अस्पताल में जाकर अपना एनरोलमेंट कराना होगा। ई-रिकार्ड के सत्यापन तथा अनुमोदन के बाद हितग्राहियां को गोल्डन ई-कार्ड प्रदाय किया जाएगा।