Homeताजा ख़बरेंरेत खनन घोटाले पर गरमाएगी एमपी की सियासत !

रेत खनन घोटाले पर गरमाएगी एमपी की सियासत !

*    रेत ठेका की आड़ में पन्ना जिले में हुई रेत की बेतहाशा लूट

*   राज्यसभा सांसद दिग्विजय करेंगे अवैध रेत खनन क्षेत्र का दौरा

*   जन जागरण अभियान के तहत महंगाई-बेरोज़गारी जैसे मुद्दों पर करेंगे जन संवाद

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) धीरे-धीरे परवान चढ़ती सर्दी के मौसम में मध्यप्रदेश की सियासत रेत खनन घोटाले के मुद्दे पर गरमा सकती है। राज्यसभा सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पन्ना जिले के दौरा कार्यक्रम से इस बात के स्पष्ट संकेत मिल रहे हैं। जन जागरण अभियान के अंतर्गत कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह अपने प्रदेशव्यापी दौरे के तहत मंगलवार 23 नवम्बर को पन्ना जिले की अजयगढ़ तहसील क्षेत्र के ग्रामों का भ्रमण कर अवैध रेत खनन का सघन निरीक्षण करेंगे। साथ ही वे केन्द्र की मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी जैसे ज्वलंत मुद्दों पर क्षेत्रीय ग्रामीणों से संवाद करेंगे। दिग्विजय के इस दौरे को लेकर सूबे की शिवराज सरकार और भाजपा संगठन में अंदरखाने जबर्दस्त खलबली मची है। क्योंकि, अजयगढ़ क्षेत्र में हुए रेत खनन घोटाले का मुद्दा उठने पर उसका जवाब दे पाना प्रदेश सरकार के लिए आसान नहीं होगा। कथित तौर पर शासन-प्रशासन के संरक्षण में पन्ना की रेत को खुलेआम लूटने वाले माफियाओं में भी ख़ासा हड़कंप मचा है।
कांग्रेस पार्टी के द्वारा महंगाई-बेरोजगारी आदि ज्वलंत मुद्दों पर जन-जागरण अभियान चलाया जा रहा है।
विदित हो कि, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पिछले माह भोपाल में लोकाययुक्त जस्टिस के कार्यालय पहुंचकर उनसे पन्ना जिले में हुए रेत खनन घोटाले की लिखित शिकायत की थी। इसलिए जब से यह खबर आई कि श्री सिंह अवैध रेत खनन क्षेत्रों के निरीक्षण पर आ रहे हैं तभी से रेत माफिया और उसके संरक्षणदाताओं की बैचेनी-घबराहट अचानक काफी बढ़ गई है। जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अजयगढ़ क्षेत्र में निजी भूमि (खेतों) एवं राजस्व भूमि पर धड़ल्ले से संचालित रहीं विशालकाय अवैध रेत खदानों का रेत माफिया रसमीत सिंह मल्होत्रा ने काफी हद तक पुराव करवा दिया है। नियम-कानूनों की धज्जियां उड़ाकर निकाली गई करोड़ों रुपए की रेत खनन के साक्ष्य मिटाने/छिपाने का कार्य कुछ दिन पूर्व तक युद्ध स्तर पर कराया गया। इतना ही नहीं अवैध खदानों का पुराव कराने के बाद उनमें चना, सरसों, सन आदि फसलों की बोबनी करा दी गई। करोड़ों रुपए फूंकने के बाद भी रेत की लूट के साक्ष्य छिपाने की यह कवायद नाकाफी साबित हो रही है।
पन्ना में हुए रेत खनन घोटाले पर कार्यवाही संबंध में राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह द्वारा लोकाययुक्त जस्टिस को दिए गए शिकायती आवेदन पत्र का प्रथम पृष्ठ।
दरअसल, अजयगढ़ तहसील क्षेत्र के आधा दर्जन से अधिक ग्रामों में पिछले डेढ़ साल में इतने बड़े पैमाने पर रेत का खनन हुआ है जिसे छिपाना संभव नहीं है। ऐसे में रेत खनन घोटाले के खिलाफ दिग्विजय सिंह की लगातार बढ़ती सक्रियता शिवराज सरकार और भाजपा संगठन के लिए परेशानी के साथ-साथ शर्मिंदगी का सबब बन सकती है। क्योंकि रेत खनन घोटाला शिवराज सरकार के खनिज मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह के गृह जिले एवं निर्वाचन क्षेत्र पन्ना विधानसभा अंतर्गत हुआ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष एवं खजुराहो सांसद वीडी शर्मा के संसदीय क्षेत्र अंतर्गत पन्ना जिला शामिल है। राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह पन्ना में हुए रेत खनन घोटाले को लेकर शुरू से ही खनिज मंत्री और क्षेत्रीय सांसद की भूमिका पर सवाल उठाते हुए रेत माफिया को संरक्षण देने का गंभीर आरोप लगाते रहे हैं। अवैध रेत खनन क्षेत्रों का निरीक्षण करने तथा रेत माफिया से पीड़ित किसानों की आपबीती सुनने के बाद दिग्विजय सिंह का रेत खनन घोटाले के मुद्दे पर पहले से कहीं अधिक हमलावर होना तय माना जा रहा है।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments