Homeताजा ख़बरेंलोकसभा चुनाव -2019 : खजुराहो समेत प्रदेश के सात संसदीय क्षेत्रों मतदान...

लोकसभा चुनाव -2019 : खजुराहो समेत प्रदेश के सात संसदीय क्षेत्रों मतदान आज, सुबह 7 बजे शाम 6 बजे तक होगी वोटिंग

* 15 जिलों में 15 हजार 240 केन्द्रों पर 1,19,56,447 मतदाता डालेंगे वोट

* प्रत्येक मतदाता स्वतंत्र और निर्भीक होकर करे मतदान- सीईओ श्री राव

भोपाल। रडार न्यूज  मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल. कान्ता राव ने प्रदेश में दूसरे चरण में शामिल संसदीय क्षेत्रों के मतदाताओं से अपील की है कि मतदान अवश्य करें। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में राज्य के प्रत्येक मतदाता का मत महत्वपूर्ण है। प्रत्येक मतदाता स्वतंत्र और निर्भीक होकर मतदान करे। श्री राव ने बताया कि दूसरे चरण में 6 मई को टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा, होशंगाबाद एवं बैतूल संसदीय क्षेत्र में मतदान होगा। इन क्षेत्रों में शामिल 15 जिलों में 15 हजार 240 मतदान केन्द्रों पर कुल 1,19,56,447 मतदाता हैं।

पहचान संबंधी दस्तावेज लाना अनिवार्य

सांकेतिक फोटो।
श्री कांताराव ने बताया है कि निर्वाचन प्रक्रिया स्वतंत्र और निष्पक्ष होने के साथ-साथ सुगम और समावेशी भी है। प्रदेश में इस बार मतदान में मुख्य रूप से दिव्यांग, बुजुर्ग, गर्भवती एवं धात्री महिला मतदाताओं को विशेष सुविधाएँ प्रदान की गयी हैं। इनके लिये मतदान केन्द्रों पर रैम्प, छाया, पीने के पानी, शौचालय, छोटे बच्चों के झूलाघर, सहयोग के लिये स्वयंसेवी आदि सभी आवश्यक सुविधाओं की व्यवस्था गई हैं। इस चरण में मतदान का समय प्रात: 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा। मतदाताओं को मतदान के लिये अपना पहचान संबंधी दस्तावेज जैसे वोटर आई.डी.कार्ड, आधार कार्ड, पेन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक पासबुक इत्यादि 12 दस्तावेजों में से एक दस्तावेज ले जाना अनिवार्य होगा।

67 हजार मतदान कर्मी तैनात

सांकेतिक फोटो
सीईओ श्री राव ने जानकारी दी कि दूसरे चरण के मतदान के लिये 67 हजार मतदान कर्मी नियुक्त किये गये हैं। सुरक्षा व्यवस्था के लिये केन्द्रीय सुरक्षा बल की 85 एवं राज्य सशस्त्र बल की 45 कम्पनियॉं तैनात की गई हैं।इसके साथ ही जिला बल, होमगार्ड एवं विशेष पुलिस अधिकारी मिलाकर कुल 50 हजार 400 पुलिस कर्मी मतदान के दिन कार्यरत रहेंगे। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में 3,208 क्रिटिकल मतदान केन्द्र चिन्हांकित किए गए हैं। निर्वाचन के दौरान 3,060 से अधिक मतदान केन्द्रों पर वेबकॉस्टिंग/सीसीटीवी से निगरानी की जायेगी। ईव्हीएम परिवहन की निगरानी के लिये प्रत्येक सेक्टर अधिकारी एवं मतदान दलों के वाहन पर जीपीएस ट्रेकिंग सिस्टम डिवाईस लगाई गई है।

लोकतंत्र को मजबूत बनाने निभायें भागीदारी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल. कान्ता राव।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल. कान्ता राव ने ने कहा कि मतदाताओं को अपने वोटर होने संबंधी जानकारी के सत्यापन एवं अपने मतदान केन्द्र की जानकारी के लिए टोल फ्री नम्बर 1950 एवं वोटर हेल्प लाईन मोबाईल एप की सुविधा दी गई है। उन्होंने मतदाताओं से अनुरोध किया है कि लोकसभा निर्वाचन-2019 में अपने मतदान केन्द्र पर पहुँचकर शत-प्रतिशत मतदान कर लोकतंत्र को मजबूत बनाने में अपनी भागीदारी निभायें।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments