अभी-अभी : सड़क पर शव रखकर आक्रोशित परिजनों ने किया चक्काजाम, युवती के हत्यारोपी की गिरफ्तारी को लेकर हंगामा

0
2539

* पन्ना जिले के कोहनी पिपरी ग्राम में एक सिरफिरे ने कर दी थी युवती की हत्या

* पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर गाँव जाते समय पीड़ित परिजनों ने किया चक्काजाम

शादिक खान, पन्ना।(www.radarnews.in) जिले के कोतवाली थाना पन्ना अंतर्गत आने वाले ग्राम कोहनी पिपरी में शुक्रवार 7 फरवरी की शाम एक सिरफिरे युवक ने अपने ही गाँव की एक नाबालिग युवती की गर्दन पर धारदार हथियार से हमला कर उसकी नृशंस हत्या कर दी। इस सनसनीखेज हत्याकाण्ड को अंजाम देने के बाद से फरार आरोपी इंद्रजीत सिंह लूनिया पिता राममिलन लूनिया 22 वर्ष की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग को लेकर पीड़ित परिजनों ने आज पन्ना में युवती के शव को सड़क पर रखकर डायमण्ड तिराहा पर चक्काजाम कर दिया। इससे कुछ देर के लिए जिला मुख्यालय में तनावपूर्ण स्थिति निर्मित हो गई।
चक्काजाम के कारण करीब आधा घण्टे तक छतरपुर-सतना और कटनी की और जाने वाले मार्गों पर वाहनों का आवागमन पूर्णतः ठप्प रहा। कुछ ही मिनिट में डायमण्ड तिराहा के तीनों मार्गों पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं। मौके पर पहुंचे पन्ना एसडीओपी रामसुहावन रावत ने बड़ी ही सूझबूझ के साथ संवेदशीलता दिखाते हुए पीड़ित परिवार के सदस्यों से बात की और हत्यारोपी को अति शीघ्र गिरफ्तार करने का ठोस आश्वासन देकर चक्काजाम समाप्त कराने के लिए उन्हें राजी कर लिया। इस तरह करीब आधा घण्टे बाद चक्काजाम समाप्त होने पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो सकी।
उल्लेखनीय है कि शुक्रवार 7 फरवरी की शाम करीब 5:30 बजे कीर्ति लोधी पुत्री स्व. रूपलाल लोधी 16 वर्ष निवासी ग्राम कोहनी पिपरी अपनी छोटी बहिन के साथ दिशा मैदान के लिए खेतों की ओर जा रही थी। रास्ते में घात लगाए बैठे इंद्रजीत सिंह लूनिया पिता राममिलन लूनिया 22 वर्ष ने मौका पाकर कीर्ति की गर्दन पर बका से प्रहार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। हत्यारोपी इंद्रजीत सिंह लूनिया ने मृतिका कीर्ति लोधी की छोटी बहिन पूर्ती लोधी 12 वर्ष पर भी हमला करने का प्रयास किया लेकिन वह अपनी जान बचाकर मौके से भाग निकली। अज्ञात कारणों के चलते सनसनीखेज हत्याकाण्ड को अंजाम देने के बाद से आरोपी इंद्रजीत सिंह लूनिया पिता राममिलन लूनिया 22 वर्ष फरार है।
शुक्रवार देर शाम हत्याकाण्ड की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची कोतवाली थाना पुलिस के द्वारा शव को पोस्टमार्टम के लिए पन्ना लाया गया। जिला चिकित्सालय पन्ना के शव विच्छेदन गृह में आज पोस्टमार्टम होने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। शोक संतृप्त परिजन शव लेकर दोपहर करीब 1 बजे चार पहिया वाहन से अपने गाँव के लिए रवाना हुए। लेकिन तभी अचानक रास्ते में पन्ना के डायमण्ड तिराहा पर परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया। इस खबर के आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस अधिकारी दलबल के साथ मौके पर पहुँच गए। देखते ही देखते तिराहा से गुजरने वाले मार्गों के दोनों तरफ वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं।
इस दौरान आक्रोशित परिजन व प्रदर्शनकारी हत्यारोपी को शीघ्र गिरफ्तार करने एवं उसे फाँसी देने की माँग को लेकर जमकर नारेबाजी करते रहे। तनावपूर्ण स्थिति के मद्देनजर पन्ना एसडीओपी रामसुहावन रावत ने युवती के परिजनों से सहानुभूतिपूर्वक बातचीत करके हत्यारोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का ठोस आश्वासन दिया गया। काफी देर तक चली बातचीत के बाद एसडीओपी ने पीड़ित परिजनों को आखिरकार चक्काजाम समाप्त कराने के लिए उन्हें मना लिया। इस तरह करीब आधा घण्टे से जारी चक्काजाम दोपहर 1:30 बजे समाप्त होने पर स्थिति सामान्य हो सकी और वाहनों की आवाजाही पुनः शुरू हो गई।