बच्चों और महिलाओं से चोरी कराने वाला अंतर्राज्जीय गिरोह पकड़ाया, पन्ना के स्टेट बैंक में हुई चोरी का खुलासा

0
672

* आरोपियों से 2 लाख रूपए, हुंडई कार, 2 कट्टा व 4 कारतूस जप्त

* चोरी के रुपयों से खरीदी गई कार को पुलिस करेगी राजसात

पन्ना। रडार न्यूज    बच्चों और महिलाओं से बैंकों तथा वैवाहिक कार्यक्रमों में चोरी-लूट कराने वाले एक अन्तर्राज्जीय गिरोह को पन्ना जिले की पुलिस ने पकड़ने का दावा किया है। कुछ समय पूर्व पन्ना के स्टेट बैंक से एमपीईबी के कैशियर का रुपयों से भरा बैग एक लड़के द्वारा बड़े ही शातिर तरीके से चोरी करने के मामले में वांछित नाबालिग आरोपी की धरपकड़ के दौरान यह गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा। पकड़े गए शातिर अपराधियों में बालक सहित पाँच व्यक्ति शामिल हैं। इनसे 2 लाख रूपए नकद, हुंडई कार, 2 कट्टा व 4 कारतूस जप्त होना बताया गया है। पुलिस के अनुसार पकड़े गए चोर गिरोह ने मध्यप्रदेश के कई जिलों सहित विभिन्न राज्यों में चोरी की वारदातों को अंजाम देने की की बात कबूल की है। पन्ना के पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार सिंह ने अंतर्राज्जीय चोर गिरोह की गिरफ़्तारी को महत्पूर्ण सफलता बताया है।

सीसीटीव्ही कैमरे में कैद हो गई थी वारदात

पन्ना के शहरी विधुत केन्द्र में पदस्थ कैशियर मुईनुद्दीन सिद्दीकी रोज की तरह 24 दिसम्बर 2018 को 11:20 बजे बिजली बिलों की जमा राशि को बैंक मे जमा करने हेतु स्टेट बैंक मुख्य शाखा गए थे। जहाँ भीड़ अधिक होने के कारण वह रोकड़ शाखा के बाहर हीरामन विश्वकर्मा लिपिक के पीछे रखी टेबिल में थैला रखकर भीड़ कम होने का इंतजार करने लगा। इसी दौरान अज्ञात व्यक्ति रुपयों से भरा थैला चुरा ले गया। थैले में 6,95,828 /- रूपये रखे थे। चोरी की इस सनसनीखेज घटना की सूचना मिलने पर बैंक पहुँची कोतवाली थाना पुलिस टीम ने बैंक के सीसीटीव्ही कैमरों के फुटेज खंगाले तो एक अज्ञात बालक नोटों से भरा हुआ बैग उठाते हुए दिखा। संदिग्ध बालक का सुराग लगाने के लिए शहर मे लगे अन्य सीसीटीव्ही कैमरों के फुटेज खंगालने पर पाया गया कि उक्त बालक नोटों से भरा थैला लेकर अपने तीन अन्य साथियों के साथ एक कार जिसका नम्बर MP-04-CT-2549 मे बैठकर कटनी-दमोह की ओर भाग निकला। पड़ताल करने पर उक्त कार रमेश पिता मांगीलाल रूहेला 50 वर्ष निवासी पिपलिया रसोदा थाना बोडा जिला राजगढ़ के नाम पर दर्ज होना पाया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना में प्रयुक्त कार एवं सीसीटीव्ही कैमरों से मिले फुटेज को आसपास के जिलों के थानों मे भेजकर पता करवाया गया तो उक्त आरोपियों द्वारा सागर, छतरपुर, सीधी, सतना, दमोह, जबलपुर एवं कई राज्यों में इस तरह की वारदातों को अंजाम देने की जानकारी प्राप्त हुई।

बाँदा से पन्ना आते समय किया गिरफ्तार

इस गिरोह धरपकड़ के संबंध बताई गई कहानी के मुताबिक कोतवाली थाना पन्ना के निरीक्षक अरविन्द कुजूर को मुखबिर ने शुक्रवार 8 फरवरी को संदिग्ध आरोपियों के बाँदा से पन्ना की ओर सफेद रंग की बिना नम्बर की हुंडई आई-20 कार से आने की सूचना दी । कोतवाली पुलिस की टीम ने दहलान चौकी तिराहा के पास उक्त कार को रोककर चेक किया तो उसमें 5 व्यक्ति सवार थे। जिनमें एक 15 साल का बालक था, उनके द्वारा अपना नाम-पता, गौरव पिता गोविन्द सिसौदिया 19 वर्ष, सूरज पिता जमुना सिसौदिया 35 वर्ष सभी निवासी ग्राम कडिया थाना बोडा जिला राजगढ, सुमित सिंह पिता रमेश चन्द्र कौडान निवासी समशाबाद जिला आगरा उत्तर प्रदेश, रमेश पिता मांगीलाल रूहेला 50 वर्ष निवासी पिपलिया रसोदा थाना बोडा जिला राजगढ़ बताया गया। पुलिस की पूँछतांछ में बाल अपराधी समेत उसके अन्य साथियों ने बैंक के अंदर से नोटों से भरा बैग चुराने की वारदात कबूल कर ली।
पुलिस का दावा है कि आरोपियों की तलाशी लेने पर गौरव सिसोंदिया और सूरज सिसोंदिया कमर में 315 बोर के कट्टा छिपाये थे एवं जेब में 02-02 जिंदा कारतूस लिये पाये गये। अन्य आरोपियों से पुलिस ने 2 लाख 3 हजार रूपये नगद, 6 नग मोबाइल, आई-20 कार बिना नम्बर की जप्त होना बताया है। इनके द्वारा मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों में शादी समारोह एवं बैंकों में चोरी की वारदात करने की बात कबूल की गई । पन्ना पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार सिंह ने बताया कि पकड़े गए शातिर आरोपियों को रिमाण्ड में लेकर पूँछताछ करने पर कई राज्यों के अपराधों का खुलासा होने की संभावना है। आरोपियों के द्वारा बैंक में की गई चोरी के रुपयों से हुंडई कार खरीदने की बात कही जा रही है, पुलिस का कहना है कि जप्त कार को राजसात करके विधुत विभाग की चोरी हुई राशि की भरपाई की जाएगी।