प्रेरणादायी | कलेक्टर ने स्वयं रक्तदान कर “महादान का दिया संदेश”

0
1052
पन्ना के कलेक्ट्रेट चौराहे पर प्रणामी समाज द्वारा आयोजित शिविर में रक्तदान करते कलेक्टर मनोज खत्री।

श्री प्राणनाथ जी के प्रगटन उत्सव के उपलक्ष्य में रक्तदान शिविर का आयोजन

अन्तर्राष्ट्रीय शरद पूर्णिमा महोत्सव पर हरसंभव मदद की जाएगी- श्री खत्री

पन्ना। रडार न्यूज     लोगों का जीवन बचाने के लिए रक्तदान से बढ़कर कोई दूसरा दान नहीं है। यदि हमारे रक्त से किसी इंसान की जान बचती है तो इससे बड़ा पुनीत कार्य संसार में दूसरा नहीं हो सकता। शायद इसीलिये रक्तदान को महादान कहा गया है। स्वैच्छिक रक्तदान को लेकर जनमानस में व्याप्त भ्रांतियों और उनकी झिझक को दूर करने के लिए पन्ना जिले के प्रशासनिक मुखिया कलेक्टर मनोज खत्री ने स्वयं सहर्ष रक्तदान किया। जरूरतमंदों को समय पर पर्याप्त मात्रा में रक्त सुगमता से उपलब्ध हो इसके लिए जरुरी है कि ज्यादा से ज्यादा लोग रक्तदान करें। इसके लिए सकारात्मक वातावरण का निर्माण कर लोगों को प्रेरित करने के उद्देश्य से कलेक्टर श्री खत्री ने पन्ना के कलेक्ट्रेट चौराहे पर आयोजित शिविर में बड़ी ही सादगी के साथ आम नागरिक की भांति रक्तदान किया। रक्तदान को लेकर समाज में जागरूकता लाने के लिए उनके इस हृदयस्पर्शी प्रेरणादायी कदम की सर्वत्र सराहना हो रही है। उल्लेखनीय है कि रविवार 30 अक्टूबर 2018 को जिला मुख्यालय पर प्रणामी समाज द्वारा महामति श्री प्राणनाथ जी के 400वां प्रगटन उत्सव के उपलक्ष्य में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। रक्तदान शिविर के शुभारंभ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कलेक्टर मनोज खत्री द्वारा महामति श्री प्राणनाथ जी के चित्र पर माल्यार्पण के उपरांत स्वयं रक्तदान कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

गरीबों का जीवन सवांरने किये उल्लेखनीय कार्य

शरद पूर्णिमा महोत्सव की आवश्ययक व्यवस्थाओं के संबंध प्रणामी समाज के वरिष्ठजनों से चर्चा करते पन्ना कलेक्टर मनोज खत्री।

इस अवसर पर कलेक्टर मनोज खत्री ने उपस्थितों को संबोधित करते हुए कहा कि धामी समाज द्वारा अनेक समाज सेवा के कार्य किए जा रहे हैं इसके लिए मैं इन्हें साधुवाद देता हूँ। उन्होंने कहा कि मेरी पूर्व में समाज के धर्मगुरू डॉ. दिनेश पंडित से चर्चा हुई थी कि जिले के गरीब परिवारों को विशेषकर जो महिलाएं जंगल से लकड़ी लाकर जीवन-यापन करती हैं, उनके लिए समाज द्वारा कुछ कार्य किया जाए जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार आए। उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा कहा गया था कि सिलाई का प्रशिक्षण एवं मशीन उपलब्ध कराई जाए। जिससे पर्यावरण की सुरक्षा एवं उन्हें जीवकोपार्जन के लिए काम मिल जाएगा। आप लोग इस तरह के कार्यों को अपने समाज के माध्यम से करें। उन्होंने कहा कि शरद पूर्णिमा महोत्सव के अवसर पर साफ-सफाई का ध्यान रखा जाए। जिला प्रशासन द्वारा इस अवसर पर हरसंभव सहयोग किया जाएगा। उन्होंने मौके पर उपस्थित नगरपालिका परिषद के उपयंत्री आशीष तिवारी को निर्देश कि पर्व के दौरान साफ-सफाई के लिए हरसंभव सहयोग प्रदान करें। इस अवसर पर धामी समाज के युवक-युवतियों द्वारा 25 यूनिट रक्तदान किया गया। युवक-युवतियों का मनोबल बढाने के लिए समाज के बुजुर्ग विद्वानजन, सिविल सर्जन डॉ. व्ही.एस. उपाध्याय, चिकित्सा विभाग के कर्मचारी उपस्थित रहे।