नीलगाय का शिकार कर आपस में बाँट लिया था माँस, चार आरोपी गिरफ्तार

0
927
वन विभाग की टीम की अभिरक्षा में नीलगाय के शिकारी।

* दक्षिण वन मण्डल पन्ना के वन परिक्षेत्र पवई में हुआ था शिकार

* नीलगाय का मांस निकालकर जंगल में स्थित नाला में फेंक दिया था चमड़ा

अजित बढ़ोलिया, पन्ना/पवई ।(www.radarnews.in) जिले के दक्षिण वन मण्डल अन्तर्गत वन परिक्षेत्र पवई में पिछले दिनों हुए नीलगाय के शिकार के बहुचर्चित प्रकरण में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने पवई और शाहनगर रेन्ज के सीमावर्ती जंगल में नीलगाय का शिकार करने के बाद उसे मौके पर ही छीला-काटा गया और माँस का आपस में बँटवारा कर उसके चमड़े को नाला में फेंक दिया था। नीलगाय का शिकार जिस स्थान पर हुआ था उसी के समीप जंगल में एक चूल्हा बना पाया गया। इसके अलावा वहाँ से कुछ हड्डियाँ, शराब की खाली बोतलें मिलने पर यह आशंका जताई गई थी कि अज्ञात बेखौफ शिकारियों द्वारा जंगल में ही शिकार के माँस और शराब की पार्टी की गई। शिकार का यह मामला उजागर होने पर दक्षिण वन मण्डल को काफी बदनामी झेलनी पड़ी। करीब 11 दिन की छानबीन के बाद आखिरकार वन विभाग ने इस घटना का खुलासा करते हुए शिकार के आरोप में चार ग्रामीणों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। पकड़े गए शिकारियों में टन्टा चौधरी पिता हल्काई चौधरी 60 वर्ष, सुखीलाल पिता धुन्धी चौधरी 32 वर्ष, हीरा लाल पिता लूना चौधरी 40 वर्ष सभी निवासी ढेंसाई थाना शाहनगर तथा बद्री चौधरी पिता गोरेलाल चौधरी 35 वर्ष निवासी महेबा(बोरी) थाना शाहनगर शामिल हैं।
नीलगाय के शिकारियों की धरपकड़ की जानकारी देतीं वन परिक्षेत्राधिकारी पवई श्वेता सिंह।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पवई वन परिक्षेत्र के बीट दक्षिण मोहाड़िया के कक्ष क्र. पी-638 में वन्य प्राणी नीलगाय का 11 जनवरी 2020 को शिकार करके उसका चमड़ा आरोपियों द्वारा फेंक दिया गया था। मामले में वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 2, 9, 39 के तहत वन अपराध प्रकरण क्रमाँक 714/02 दिनांक 20-01-2020 पंजीबद्ध किया गया था। घटना का संबंध वन परिक्षेत्र शाहनगर एवं पवई से जुड़ा होने के कारण वन मण्डलाधिकारी दक्षिण पन्ना श्रीमति मीना मिश्रा द्वारा वन परिक्षेत्र अधिकारी श्रीमति श्वेता सिंह की अगुवाई में टीम का गठन किया गया। इस टीम ने 21 जनवरी की सुबह ग्राम ढेंसाई के टन्टा चौधरी पिता हल्काई चौधरी 60 वर्ष, सुखीलाल पिता धुन्धी चौधरी 32 वर्ष निवासी ढेंसाई, बद्री चौधरी पिता गोरेलाल चौधरी 35 वर्ष निवासी महेबा(बोरी) तथा हीरा लाल पिता लूना चौधरी 40 वर्ष निवासी ढेंसाई थाना शाहनगर को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई। पूछताछ में आरोपियों ने नीलगाय का शिकार कर उसके चमड़े को बीट दक्षिण मोहडिय़ा वन परिक्षेत्र पवई में कक्ष क्र. पी-638 में फेंका जाना स्वीकार किया। प्रकरण में संलिप्त आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया, जहां से सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।