मध्यप्रदेश में निराश्रित गौ-वंश की रक्षा के लिये एक हजार गौ-शाला खोलने का निर्णय

0
910
मुख्यमंत्री कमलनाथ को आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का संदेश देने के लिए ब्रह्मचारी डॉ. नीलम जैन, सुश्री रेखा जैन और प्रेयश कुमार जैन ने मुलाकात की।

* आचार्य श्री विद्यासागर महाराज ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को दिया आशीर्वाद

* अन्य संस्थाओं ने भी बताया सराहनीय निर्णय

भोपाल। रडार न्यूज   मुख्यमंत्री कमलनाथ को आचार्य श्री विद्यासागर महाराज ने निराश्रित गौ-वंश के लिये एक हजार गौ-शालाएँ खोलने के निर्णय पर अपना आशीर्वाद दिया है। आचार्य श्री का यह संदेश लेकर आज ब्रह्मचारी बहन डॉ. नीलम जैन, सुश्री रेखा जैन एवं प्रेयश कुमार जैन ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की।आचार्य विद्यासागर महाराज ने अपने आशीर्वाद संदेश में इस बात पर खुशी जाहिर की कि इससे मूक-पशु गाय का संरक्षण होगा। उन्हें आश्रय मिलेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस निर्णय को प्रेरक बताया। आचार्य श्री विद्यासागर महाराज ने मुख्यमंत्री को सागर जेल में कैदियों के लिये बनाए विशेष प्रशिक्षण सेल के शुभारंभ कार्यक्रम में भी आमंत्रित किया।
मुख्यमंत्री कमल नाथ के निराश्रित गौ-वंश के लिये गौ-शालाएँ खोलने के निर्णय की पूरे प्रदेश में व्यापक सराहना हुई है। गौ-शालाओं के संचालकों को मुख्यमंत्री की इस पहल से उम्मीद हुई है कि प्रदेश में गो-धन और वंश की रक्षा हो सकेगी।

सराहनीय और संघर्षमय पहल

ग्वालियर के लाल टिपारा में नगर निगम की गौ-शाला में 7 हजार गौ-वंश की देखभाल कर रही श्री कृष्णायन संस्था के महंत स्वामी ऋषभ देवानंद ने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ की पहल सराहनीय और संघर्षमय पहल है। उन्होंने सुझाव दिया कि गौ-वंश के संरक्षण के लिए गोचर की व्यवस्था और प्रबंधन के साथ ही इस काम में सेवाभावी संतों को जोड़ा जाये, तो मुख्यमंत्री अपने प्रोजेक्ट गौ-शाला को साकार कर सकेंगे।

अच्छी सोच के साथ सकारात्मक पहल

इंदौर में अहिल्या माता गौ-शाला संचालित करने वाले रवि सेठी ने कहा कि वे वर्षों से गौ-संरक्षण एवं गौ-उत्पाद के क्षेत्र में सेवा की भावना से काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गौ-संरक्षण और निराश्रित गायों के लिये जो कदम उठाया है वह अच्छी सोच के साथ सकारात्मक पहल है। उनके इस अभियान में अहिल्या माता गौ-शाला पूरा सहयोग प्रदान करेगी।

प्रयास साकार होंगे और गौ-धन की रक्षा होगी

छतरपुर जिले के ग्राम पंचायत कुर्रा पट्टी के ग्राम सपन पट्टी में राधारानी गौ-शाला संचालित करने वाले उत्तम यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री के इस निर्णय से गौ-माता के संरक्षण के प्रयास न केवल साकार होंगे बल्कि गौ-धन की रक्षा हो सकेगी। श्री यादव ने बताया कि उनकी 11 लोगों की समिति वर्तमान में 30-35 गायों का पालन कर रही है।