ऋण माफी योजना : 25 लाख से अधिक किसानों के खाते में जमा होंगे 10 हजार 123 करोड़, मुख्यमंत्री कमलनाथ 22 फरवरी को करेंगे राशि अंतरण कार्य का शुभारंभ

0
600
सांकेतिक फोटो।

* दिन-रात कार्य कर पोर्टल पर दर्ज की गईं स्वीकृतियाँ

भोपाल। रडार न्यूज   प्रदेश में जय किसान फसल ऋण माफी योजना में मुख्यमंत्री कमलनाथ शुक्रवार 22 फरवरी को रतलाम जिले से किसानों के ऋण खातों में ऋण माफी की राशि अंतरण की कार्यवाही का शुभारंभ करेंगे। योजना के अंतर्गत स्वीकृतियाँ जारी करने का कार्य दिन-रात करके कार्यवाही को अंतिम रूप दिया गया है। कलेक्टर स्तर से ऋण माफी की स्वीकृतियाँ निरंतर पोर्टल पर प्राप्त की गईं। योजना में 9 राष्ट्रीयकृत बैंकों के माध्यम से किसानों को लाभांवित किया जायेगा। यह बैंक हैं – स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब एण्ड सिंध बैंक, ओरिएण्टल बैंक ऑफ कामर्स, इलाहबाद बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, सेन्ट्रल एमपी ग्रामीण बैंक (आरआरबी), नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक। इन बैंकों के संचालक मण्डल के अनुमोदन से वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी के अंतर्गत आवश्यक कार्यवाही संपन्न की गई है। योजना के अंतर्गत प्रदेश में तहसीलवार लाभांवित होने वाले चिन्हित किसानों की कुल संख्या 25 लाख 49 हजार 451 है। इन्हें एक मार्च 2019 तक योजना के तहत राशि प्राप्त हो जायेगी।

किसानों को वितरित किये जाएंगे प्रमाण-पत्र

मुख्यमंत्री कमलनाथ।
उल्लेखनीय है कि जय किसान ऋण माफी योजना में 22 फरवरी से पात्र किसानों के बैंक खाते में भुगतान की कार्यवाही के साथ ही किसानों को सम्मान पत्र देने का निर्णय भी लिया गया है। प्रदेश में 25 फरवरी से एक मार्च तक 383 तहसीलों में सम्मेलन किये जाएंगे। सम्मेलन में चालू ऋण खाता धारक किसानों को कालातीत फसल ऋण माफी के प्रकरणों में ऋण माफी पत्र प्रदान किये जाएंगे। जिले के प्रभारी मंत्री की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति के अनुमोदन के बाद संबंधित बैंक में योजना के प्रावधान के अनुसार राशि जमा कराई जायेगी। किसान सम्मेलन में किसानों को सम्मान पत्र फसल ऋण माफी प्रमाण-पत्र वितरित किये जाएंगे। जो किसान कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हो पाएंगे, उन्हें पात्रतानुसार किसान सम्मान पत्र तथा फसल ऋण माफी पत्र उनके निवास पर मैदानी अमले द्वारा अनिवार्यत: पहुँचाने के निर्देश दिये गये हैं।