अपराध | जुआ के विवाद में नवयुवक की गई जान , दोस्त ने गोली मारकर की हत्या

0
1626
अंशुल मिश्रा के शव के पास खड़े क्षेत्र के लोग। (फाइल फोटो)

* पन्ना जिले के बृजपुर थाना के ग्राम पहाड़ीखेरा की घटना

* रात में दोस्तों के साथ जुआ खेला, सुबह खाना खाने ढाबा पहुँचे तब हुआ विवाद

* आरोपियों की गिरफ्तारी की माँग को लेकर पुलिस थाना के बाहर किया प्रदर्शन

पन्ना। रडार न्यूज  मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में बृजपुर थाना अंतर्गत ग्राम पहाड़ीखेरा में जुआ के विवाद में एक नवयुवक की गोली मारकर हत्या करने का सनसनीखेज घटनाक्रम सामने आया है। शुक्रवार 22 फरवरी की सुबह करीब 5 बजे हुई हत्या की इस वारदात के बाद से इलाके में तनावपूर्ण स्थिति निर्मित है। मृतक सुमन राज उर्फ अंशुल मिश्रा एवं हत्यारोपी अच्छे दोस्त बताये जा रहे हैं। पुलिस की अब तक की तहकीकात में पता चला है कि सुमन राज उर्फ अंशुल मिश्रा ने रात में अपने तीन अन्य दोस्तों के साथ जुआ खेला और कथित तौर पर शराबखोरी की। आज सुबह चारों युवक दो बाइक में सवार होकर खाना खाने के लिए पहाड़ीखेरा-कालिंजर मार्ग किनारे स्थित गौतम ढाबा पहुंचे जहाँ उनके बीच हुए विवाद के चलते प्रीत बुंदेला ने गोली मारकर अंशुल मिश्रा की हत्या कर दी। इस जघन्य वारदात को अंजाम देने के बाद प्रीत उर्फ प्रीतम बुंदेला अपने दो अन्य दोस्तों विक्रम व्यापारी और हरिनारायण गुप्ता के साथ मौके से फरार हो गया।

बाइक से फरार हुए आरोपी

प्रकरण पंजीबद्ध करने की कार्रवाई करती पुलिस।
सुबह-सुबह हुए हत्याकाण्ड की सूचना मिलने पर पहाड़ीखेरा चौकी प्रभारी आर. बी.दिवेदी जब मौके पर पहुंची तो अंशुल मिश्रा पुत्र रविशंकर मिश्रा 22 वर्ष निवासी ग्राम बृजपुर मृत अवस्था में ढाबा के सामने पड़ा था। अंशुल के सीने पर बाईं और गोली लगी है जिससे मौके पर उसकी मौत हो गई। घटनास्थल से पुलिस ने एक हीरो पैशन प्रो मोटरसाइकिल जप्त की है। उधर, कुछ समय बाद अजयगढ़ एसडीओपी इसरार मंसूरी ने भी पहाड़ीखेरा पहुँचकर घटनास्थल व शव का मुआयना किया। साथ ही वारदात के संबंध में जानकारी प्राप्त की। अपना ढाबा संचालक पुष्पेन्द्र गौतम एवं उसके कर्मचारी ने पुलिस को बताया कि सुमन राज उर्फ अंशुल मिश्रा समेत उसके चार दोस्त सुबह करीब 5 बजे ढाबा में खाना खाने के लिए आये थे। उन्हें जब ढाबा के कर्मचारी पवन गौंड़ ने खाना खत्म होने की जानकारी दी तो वे नाराज होकर गालियाँ देने लगे। इसके पश्चात उक्त युवकों ने सिगरेट खरीदी और ढाबा के बाहर खड़े होकर उसका सेवन करने लगे। कुछ मिनिट बाद उनके बीच आपस में विवाद हो गया जिसमें एक युवक ने सुमन राज उर्फ अंशुल मिश्रा के ऊपर फायर कर उसकी हत्या कर दी। हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों आरोपी मोटरसाईकिल लेकर फरार हो गए।

पिता से मांगे थे रूपए

वारदात के बाद ढाबा के बाहर मौजूद क्षेत्र के लोग।
जवान बेटे की हत्या होने का दुखद समाचार मिलते ही बृजपुर से मिश्रा परिवार के सदस्य और ग्रामीण बड़ी तादाद में पहाड़ीखेरा पहुँचे। ऐसी चर्चा है कि सुमन राज उर्फ अंशुल मिश्रा गुरूवार शाम से घर नहीं पहुंचा था। रात्रि में उसने पिता रविशंकर मिश्रा को फोन कर उनसे एक हजार रुपए की मांग की। अंशुल को उसका चचेरा भाई अमित मिश्रा जब एक हजार रुपये देने गया तो वह अपने दोस्तों के साथ था। शुक्रवार की सुबह बेटे की मौत की खबर मिलने पर मिश्रा परिवार में कोहराम मच गया। आक्रोशित और व्यथित परिजनों ने हत्याकाण्ड को ढाबा के अंदर अंजाम दिए जाने और ढाबा संचालक पर हत्याकाण्ड की वास्तविकता को छिपाने सरीके गंभीर आरोप लगाए जिससे वहाँ कुछ देर के लिए तनावपूर्ण स्थिति निर्मित हो गई। उधर, पुलिस ने घटना पर हत्या का मामला पंजीबद्ध कर फरार आरोपियों की धरपकड़ के प्रयास तेज कर दिए हैं।

पुलिस थाना के सामने किया प्रदर्शन

मृतक अंशुल मिश्रा के हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आक्रोशित परिजनों एवं ग्रामीणों ने दोपहर में पुलिस थाना बृजपुर के बाहर जमकर धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के खिलाफ उग्र नारेबाजी करते हुए अपने गुस्से का इजहार किया। इस प्रदर्शन के चलते कुछ देर के लिए बृजपुर-पहाड़ीखेरा मार्ग पर वाहनों का आवागमन बाधित रहा। इस दौरान वहाँ मौजूद पुलिस बल ने सूझबूझ से काम लेते हुए आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने का भरोसा दिलाकर प्रदर्शन को समाप्त कराया।
फाइल फोटो।
उल्लेखनीय है कि पन्ना जिले का पहाड़ीखेरा चौकी क्षेत्र पिछले कुछ माह से संगीन वारदातों को लेकर सुर्खियों में बना है। कुछ समय पूर्व यहाँ डकैत गिरोह द्वारा एक वन श्रमिक का अपहरण करने, युवकों से लूटपाट करने और फिर जंगल एक महिला का जला हुआ क्षत-विक्षत शव मिलने की घटना सामने आई थी। इन घटनाओं को लोग अभी भूले भी नहीं थे कि आज नवयुवक अंशुल की जघन्य हत्या की वारदात ने एक बार फिर इस सीमावर्ती इलाके को दहला दिया है। क्षेत्र में बढ़ती संगीन आपराधिक वारदातों को लेकर लोगों में गुस्सा और भय व्याप्त है। क्षेत्र में निर्मित अशांति के इस माहौल के लिए लोग पुलिस को जिम्मेदार बता रहे है। लोगों का कहना है कि यदि पुलिस की कार्यप्रणाली में आपेक्षित सुधार नहीं हुआ और तत्परता से पहाड़ीखेरा चौकी को पर्याप्त पुलिस बल तथा आवश्यक संसाधन उपलब्ध नहीं कराए गए तो यहाँ आपराधिक घटनाओं पर नियंत्रण पाना संभव नहीं होगा। जाहिर है, इस स्थिति में हालात और अधिक ख़राब हो सकते हैं।

इनका कहना है

“जुआ के विवाद में अंशुल की हत्या उसके दोस्त ने गोली मारकर की है, संभवतः उक्त युवक शराब के नशे में थे, फरार आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु सीमवर्ती पुलिस थानों को सूचना दी जा चुकी है, नाकेबंदी और सर्चिंग की जा रही है। सभी आरोपी बहुत जल्द पुलिस की गिरफ्त में होंगे।”

इसरार मंसूरी, एसडीओपी अजयगढ़, जिला पन्ना।