गुजरात के राजकोट में दलित की पीट-पीटकर हत्या

0
1042

फैक्ट्री परिसर में कचरा बीनने के गया था मृतक

चोरी के संदेह पर फैक्ट्री के मालिक ने महिलाओं को भी पीटा

जिग्नेश बोले दलितों के लिए सुरक्षित नहीं है गुजरात

राजकोट, एजेंसी।  गुजरात के राजकोट में एक 40 वर्षीय दलित व्यक्ति को लोहे की राॅड से पीट-पीटकर हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। जानकारी के मुताबिक, फैक्ट्री के मालिक ने चोरी के आरोप में दलित की पिटाई कर दी। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो सामने आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है। घटना रविवार सुबह की बताई जा रही है। गुजरात के युवा दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने दलित की बेरहमी से पिटाई के वीडियो सोशल मीडिया पर ट्वीट किया है। गुजरात के राजकोट में एक फैक्ट्री मालिक पर दलित को पीट पीटकर मार डालने का आरोप लगा है। वायरल हो रहे वीडियो में दलित युवक को दीवार से बांधकर कुछ लोग बुरी तरह पीटते नजर आ रहे हैं। वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि एक युवक ने पीड़ित को बांधकर रस्सी से पकड़ा है और दूसरा व्यक्ति लोहे के रॉड से उसकी पिटाई कर रहा है। बाद में फैक्ट्री का मालिक आता है और दलित की पिटाई कर रहे युवक के हाथ से रॉड लेकर खुद बेरहमी से दलित को पीटने लगता है।

महिलाओं को भी जानवरों की तरह पीटा-

पीड़ित का नाम मुकेश वान्या है। वीडियो सामने आने के बाद शापर वेरावल पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने एक अखबार को बताया कि मुकेश वान्या 40 वर्ष, उसकी पत्नी और सविता नाम की एक अन्य महिला फैक्ट्री परिसर में कचरा बीन रहे थे तभी फैक्ट्री के कर्मचारियों ने उन पर हमला कर दिया। शापर के पीएसआई रमेश सिंधू ने बताया कि, कर्मचारियों ने दोनों महिलाओं को बेल्ट से पीटकर भगा दिया। इसके बाद वान्या को रस्सी से बांधकर लोहे के रॉड से उसकी पिटाई की। जानकारी के मुताबिक, कुछ देर में दोनों महिलाएं अपने रिश्तेदारों के साथ वान्या को छुड़ाने के लिए आईं। राजकोट सिविल अस्पताल ले जाते समय वान्या की मौत हो गई। अस्पताल के डॉक्टरों को बताया कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही वान्या को मृत्यु हो गई थी।

परिजनों ने किया शव लेने से इंकार-

पुलिस ने धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, वान्या के परिजनों ने डेड बॉडी लेने से इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि जब तक तीनों आरोपी पकड़े नहीं जाते तब तक वह वान्या का शव लेकर नहीं जाएंगे।

‘‘गुजरात इज नॉट सेफ फॉर दलित‘‘-

युवा दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने अपने ट्विटर हैंडल से वान्या की पिटाई के वीडियो को ट्वीट किया है। उन्होंने कहा, इन अनुसूचित जाति के मुकेश वान्या की राजकोट में फैक्ट्री मालिकों ने निर्मम तरीके से हत्या कर दी। मेवाणी ने लिखा है, उनकी पत्नी को भी बुरी तरह से पीटा गया। उन्होंने हैशटैग के साथ लिखा है ‘‘गुजरात इज नॉट सेफ फॉर दलित‘‘।

ऊना में भी हुई थी इसी तरह बर्बरता –

मालूम हो कि गुजरात के ऊना में वर्ष 2016 में भी दलितों के साथ बर्बरता की गई थी। तब कथित गौरक्षकों द्वारा दलितों की पिटाई करने का वीडियो सामने आया था। जिसके बाद पूरे देश में इस मामले पर राजनीति शुरू हो गई थी। कुछ दिन पहले खबर आयी थी कि ऊना कांड के 4 पीड़ितों ने हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपनाने का ऐलान किया है। पीड़ित वशराम सर्वइया ने कहा कि केवल वह ही नहीं बल्कि अत्याचार के शिकार बाकी लोगों को भी बौद्ध धर्म अपनाने को कहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here