मासूम बच्चों के सामने पत्थर पटककर पत्नी की निर्मम हत्या, चरित्र संदेह पर वारदात को दिया अंजाम

0
1275
मृतिका केशबाई राजपूत।

* पन्ना जिले के गुनौर तहसील मुख्यालय की घटना

* कुछ दिन पूर्व ही जेल से रिहा हुआ था हत्यारोपी युवक

पन्ना। (www.radarnews.in) जिले के गुनौर क़स्बा में आपराधिक प्रवृत्ति के एक शराबी युवक ने चरित्र संदेह पर अपनी पत्नी की पत्थर पटककर निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी। जिस कमरे में हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया वहाँ पर मृतिका केशबाई राजपूत का मासूम पुत्रव व पुत्री मौजूद थी। अपने ही पिता को माँ की हत्या करते हुए देखने वाले मासूम बच्चे काफी डरे-सहमे हुए हैं। पत्नी की जघन्य हत्या कर आरोपी रमाकांत राजपूत उर्फ पप्पू मौके से फरार हो गया। शनिवार 25 जनवरी की सुबह गुनौर के लोगों को जब इस सनसनीखेज हत्याकाण्ड का पता चला तो पूरा क़स्बा दहल उठा। गुनौर थाना पुलिस ने हत्या की वारदात को अत्यंत ही गंभीरता से लेकर फरार आरोपी पप्पू राजपूत को महज कुछ घण्टे बाद ही गिरफ्तार कर लिया।
गुनौर थाना प्रभारी जाहिदयार खान ने जानकारी देते हुए बताया कि, ग्राम खलपुरा निवासी रमाकांत राजपूत उर्फ पप्पू की पत्नी केशबाई राजपूत 35 वर्ष अपने दो बच्चों के साथ गुनौर क़स्बा में पेट्रोल पम्प के पीछे रहती थी। रमाकांत राजपूत उर्फ पप्पू आगजनी के एक मामले में जेल में कई साल तक सजा काटने के बाद चंद दिन पूर्व ही रिहा होकर अपनी पत्नी और बच्चों के पास आया था। करीब 2-3 साल तक परिवार से दूर रहने के कारण पप्पू राजपूत अपनी पत्नी केशबाई के चरित्र पर संदेह करने लगा। केशबाई ने अपनी ओर से पति को समझाने का काफी प्रयास किया लेकिन वह पप्पू की शंका-संदेह का निवारण नहीं कर सकी। इस कारण कुछ दिनों से उनके बीच विवाद होने लगा। शुक्रवार-शनिवार की देर रात भी दोनों के बीच काफी वाद-विवाद हुआ। जिसके बाद रमाकांत राजपूत उर्फ पप्पू घर से बाहर चला गया और केशबाई कमरे में ही सो गई। कुछ घण्टे बाद रमाकांत राजपूत उर्फ पप्पू वापिस घर के अंदर आया और उसने क्रूरता की साड़ी हदें पार कर गहरी नींद में सो रही पत्नी केशबाई के सिर पर भारी पत्थर पटक दिया।
सांकेतिक फोटो।
पत्थर की आवाज और माँ की चींख सुनकर उसी कमरे ने सो रहा पप्पू का मासूम पुत्र-पुत्री नींद से जाग गए। पत्नी के खून का प्यासा पप्पू इसके बाद भी नहीं रुका। बेटे-बेटी की आँखों के ही सामने उसने केशबाई के सिर को पुनः 2-3 बार पत्थर से कुचला और फिर मौके से फरार हो गया। इस जघन्य वारदात की सूचना मिलने पर गुनौर थाना प्रभारी जाहिदयार खान हमराही बल के साथ तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे जहाँ खून से लथपथ केशबाई का शव कमरे में पड़ा मिला। इस वीभत्स वारदात के प्रत्यक्षदर्शी दोनों मासूम बच्चे अत्यंत ही डरे-सहमे हुए वहीं बैठे रो रहे थे। थाना प्रभारी ने दोनों बच्चों संभालते हुए उनसे हत्याकाण्ड की जानकारी प्राप्त की गई। गुनौर थाना पुलिस ने घटना की गंभीरता को देखते हुए तत्परता से फरार हत्यारोपी की धरपकड़ के लिए घेराबंदी कर संभावित ठिकानों पर दबिश दी गई। पत्नी को मौत के घाट उतारकर रमाकांत राजपूत उर्फ पप्पू गिरफ्तारी से बचने के लिए गुनौर के बाहरी इलाके में खदान के समीप छिपा हुआ था। जिसकी भनक लगते ही पुलिस टीम ने उसे धर दबोंचा। इस तरह हत्या की वारदात के कुछ घण्टे बाद ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।