11 हजार सीसीटीव्ही कैमरों से होगी मध्यप्रदेश की निगरानी

0
511
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 79 आधुनिक सी.सी.टी.व्ही.सर्विलेंस वाहनों का लोकार्पण किया।

 सेफ सिटी मॉनीटरिंग एवं रिस्पॉस सेन्टर का सीएम ने किया लोकार्पण

राज्य सरकार के लिये नागरिक सुरक्षा सर्वोपरि- मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल। रडार न्यूज   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार के लिये नागरिक सुरक्षा सर्वोपरि है। इसके लिये राज्य सरकार कटिबद्ध है। अपराध मुक्त मध्यप्रदेश हमारा लक्ष्य है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ सेफ सिटी मॉनीटरिंग एवं रिस्पॉस सेन्टर के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में उन्होंने डॉयल-100 के मोबाईल एप, डॉयल-100 सेवा में जोड़े जा रहे 150 मोटरसाईकिल वाहन तथा 79 आधुनिक सी.सी.टी.व्ही. सर्विलेंस वाहनों का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आधुनिक तकनीक की मदद से अपराधों को कम करने में मदद मिलेगी और नागरिकों में सुरक्षा का भाव बढ़ेगा। प्रदेश में डॉयल-100 सेवा को और विकसित किया जायेगा। साथ ही सी.सी.टी.व्ही. कैमरों की संख्या बढ़ाई जायेगी। निजी संस्थानों में भी सी.सी.टी.व्ही. कैमरे लगाये जाने का अभियान चलाया जायेगा। उन्होने कहा कि प्रदेश में बलात्कारियों को फाँसी की सजा दिलाने में आधुनिक तकनीक की महत्वपूर्ण भूमिका है। आधुनिक तकनीकी का उपयोग कर कैसे अपराधों पर नियंत्रण किया जा सकता है, यह मध्यप्रदेश ने देश को दिखाया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी स्वतंत्रता दिवस समारोह के अपने भाषण में बलात्कारियों को तेजी से फाँसी की सजा दिलाने में मध्यप्रदेश का उल्लेख किया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सेफ सिटी मॉनिटरिंग एवं रिस्पाँस सेंटर के लोकार्पण समारोह को संबोधित किया।

श्री चौहान ने आज से शुरू हुई इस सेवा का अवलोकन भी किया और सी.सी.टी.व्ही. के माध्यम से उज्जैन के नागचंद्रेश्वर मंदिर और दतिया के पीताम्बरा पीठ मंदिर के दर्शन किये। कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री उपेन्द्र जैन ने रिस्पॉन्स सेंटर की सेवाओं की जानकारी दी। इस मौके पर बताया गया कि डॉयल-100 मोबाईल एप में एसओएस कॉलिंग, एस.एम.एस. सेंड तथा लोकेशन ट्रेकर्स जैसे फीचर्स हैं, जिससे सूचनाकर्ता को तत्काल मदद पहुंचायी जा सकेगी। डॉयल-100 सेवा में अब दोपहिया वाहनों के दौड़ने से तंग गलियों और संकरे रास्तों में भी मदद पहुंचायी जा सकेगी। आधुनिकतम सी.सी.टी.व्ही. सर्विलेंस वाहनों से दूरस्थ स्थानों की मॉनीटरिंग भी की जा सकेगी। प्रदेश में वर्तमान में दो हजार स्थानों पर 11 हजार सी.सी.टी.व्ही. कैमरे लगाने की कार्रवाई चलेगी।

कार्यक्रम में मुख्य सचिव बी.पी. सिंह, पुलिस महानिदेशक आर.के. शुक्ला, प्रमुख सचिव गृह श्री मलय श्रीवास्तव, मुख्यमंत्री की पत्नी श्रीमती साधनासिंह, मुख्य सचिव की पत्नी श्रीमती इंदु सिंह, पुलिस महानिदेशक की पत्नी श्रीमती नीलिमा शुक्ला सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद थे।