रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने कार्यकाल समाप्त होने के 9 माह पहले ही इस्तीफा दिया

0
812
डॉ. उर्जित पटेल।

* बोले, निजी कारणों से मैनें तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा दिया

* मोदी सरकार और रिज़र्व बैंक के बीच कई मुद्दों पर लंबे समय से था विवाद

* राजन ने कहा आरबीआई की घटनाओं पर भारतीयों को चिंता करनी चाहिये

नई दिल्ली/मुंबई। रडार न्यूज।  भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने आज अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इसकी वजह निजी बताई है। पिछले कुछ महीनों से सरकार और रिजर्व बैंक के बीच कुछ मुद्दों पर विवाद चल रहा था। इस दौरान केंद्र सरकार ने आरबीआई एक्ट की धारा 7 का भी इस्तेमाल किया था। हालांकि, बाद में विवाद सुलझने की खबरें आईं थीं। पिछले महीने 19 नवंबर को आरबीआई की बोर्ड बैठक में विवाद के कुछ मुद्दों पर सहमति भी बन गई थी। इसके बाद यह आशंका समाप्त हो गई कि उर्जित पटेल इस्तीफा देंगे। लेकिन सोमवार 10 दिसंबर को अचानक उन्होंने अपने पद से इस्तीफे का ऐलान कर सबको चौंका दिया। आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे की खबर आने के बाद उनके फैसले को लेकर सोशल मीडिया पर लगातार प्रतिक्रियायें आ रही हैं।
भारतीय रिजर्व बैंक के केंद्रीय बोर्ड के सदस्य एस. गुरुमूर्ति ने उर्जित पटेल के इस्तीफे को चौंकाने वाला बताया है। उनका कहना है कि पिछली बैठक काफी अच्छे माहौल में हुई थी। ऐसे में पटेल का इस्तीफा झटके की तरह है।

आरबीआई की घटनाएं चिंताजनक – राजन

आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि आरबीआई में जो चल रहा है उस पर सभी भारतीयों को चिंता करनी चाहिए। राजन ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में महंगाई दर में कमी का श्रेय आरबीआई को मिलना चाहिए। सरकार को केंद्रीय बैंक की विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए काम करना चाहिए। मालूम होकि उर्जित पटेल के पूर्व रघुराम राजन भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर थे। केंद्र की मोदी सरकार और राजन के बीच भी कई मसलों पर मतभेद थे। ब्याज की दरों और अपने बयानों को लेकर सरकार से अनबन के चलते उन्होंने जून 2016 में गवर्नर पद छोड़ने का ऐलान किया किया था। लेकिन उन्होंने सितंबर 2016 में कार्यकाल पूरा होने पर पद छोड़ा था।

रिजर्व बैंक में काम करना सम्मान की बात- उर्जित

उर्जित पटेल ने 4 सितंबर 2016 को आरबीआई गवर्नर का पद संभाला था। उनका कार्यकाल सितंबर 2019 तक था। लेकिन आज उन्होंने 9 महीने पहले ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया। रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर जारी अपने बयान में पटेल ने कहा- निजी वजहों से मैंने तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफ़ा देने का फ़ैसला किया है। पिछले कई वर्षों से भारतीय रिज़र्व बैंक में विभिन्न पदों पर रहना मेरे लिए सम्मान की बात रही है। पिछले कुछ वर्षों में रिज़र्व बैंक कर्मचारियों की कड़ी मेहनत और सहयोग बेहद अहम रहा। मैं इस मौके पर अपने सहयोगियों और रिज़र्व बैंक के डायरेक्टर्स के प्रति आभार व्यक्त करता हूँ और भविष्य के लिए उन्हें शुभकामनाएं देता हूँ।

उर्जित के नेतृत्व आरबीआई ने अच्छा काम किया- मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उर्जित पटेल के कार्यकाल की तारीफ करते हुए कहा है कि उनके नेतृत्व में आरबीआई ने अच्छा काम किया था। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उर्जित पटेल को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि उनके साथ काम का अनुभव अच्छा रहा।