वनकर्मियों के हमलावरों की गिरफ्तारी न होने से आक्रोश, ज्ञापन सौंपकर वन कर्मचारी संघ ने दी आंदोलन की चेतावनी

0
1256
पुलिस अधीक्षक पन्ना के नाम पर ज्ञापन सौंपने के लिए जाते कर्मचारी नेतागण एवं वनकर्मी।

* एक माह पूर्व अवैध हीरा खदानों पर कार्यवाही के दौरान हुआ था हमला

* पन्ना की विश्रामगंज रेन्ज अंतर्गत रोहनिया में चल रही थी अवैध हीरा खदानें

पन्ना। (www.radarnews.in) जिले के उत्तर वन मंडल की विश्रामगंज रेंज अंतर्गत इटवां सर्किल में चल रहीं अवैध हीरा खदानों पर पिछले माह कार्यावाही करने गई वन विभाग की टीम पर हीरा खदान माफिया और उनके गुर्गो ने प्राणघातक हमला किया था। वनकर्मियों की बेदम पिटाई कर हमलावर अपने दो साथियों को छुड़ा ले गये थे। बृजपुर थाना में दर्ज इस बहुचर्चित आपराधिक प्रकरण के मुख्य आरोपी रज्जन महराज सहित उसके शेष साथियों की अब तक गिरफ्तारी न होने पर मध्यप्रदेश वन कर्मचारी संघ जिला शाखा पन्ना ने असंतोष व्यक्त किया है। शनिवार 24 अगस्त को इस मामले में वन कर्मचारी संघ पन्ना के जिलाध्यक्ष महीप कुमार रावत के नेतृत्व में पुलिस अधीक्षक पन्ना के नाम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बीकेएस परिहार को एक ज्ञापन सौंपा गया। जिसके माध्यम से वन कर्मचारी संघ ने वनकर्मियों पर हमला करने वाले मुख्य आरोपी रज्जन महराज निवासी अजयगढ़ सहित उसके शेष साथियों को अति शीघ्र गिरफ्तार करने की पुरजोर मांग की है। ताकि क्षेत्र के वनकर्मी अपने दायित्वों का निर्वहन भयमुक्त हो कर कर सकें।
इस अवसर पर बी.पी. परौहा अध्यक्ष तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ जिला पन्ना एवं ओ.पी. शर्मा प्रांतीय सचिव वन कर्मचारी संघ विशेष रूप से उपस्थित थे। सौंपे गए ज्ञापन की काॅपी आवश्यक कार्यावाही हेतु पन्ना कलेक्टर कर्मवीर शर्मा एवं उत्तर वन मंडल के डीएफओ नरेश सिंह यादव को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित की गई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर कर्मचारी नेताओं ने उन्हें अपनी भावनाओं से अवगत कराया गया। इसके पश्चात कर्मचारी नेताओं पत्रकारों से चर्चा में बताया कि इस घटनाक्रम को एक माह हो चुके है लेकिन अब तक मुख्य आरोपी सहित अन्य हमलावरों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई है। यदि शीघ्र ही इन आरोपियों को पकड़ा नहीं गया तो वन कर्मचारी संघ को सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने के लिये विवश होना पड़ेगा। जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी। कर्मचारी नेताओं की मांग को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बीकेएस परिहार ने उन्हें तत्परता से शेष आरोपियों को गिरफ्तार करने का भरोसा दिलाया है।

क्या है मामला

हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्ना से चर्चा करते कर्मचारी नेतागण।
उत्तर वन मंडल पन्ना के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर दिनांक 23 जुलाई 2019 को विश्रामगंज रेंज की रोहनिया बीट में चल रही अवैध हीरा खदानों पर कार्यावाही करने के लिये सर्किल इटवां का स्टाॅफ अखलेशचौहान, संजय पटेल, अंजनी दीक्षित, प्राताप सिंह, सुरक्षा श्रमिक रंजीत सिंह आदि मौके पर गये थे। जहां अवैध हीरा रूप से हीरा खदान खोद रहे आरोपियों को रंगे हांथ गिरफ्तार किया गया। पकड़े गये आरोपियों को वनकर्मी जब बाबूपुर चैकी ले कर जा रहे थे तभी रास्ते में घात लगाये बैठे अपराधी रज्जन महराज निवासी अजयगढ़ एवं उसके 10-12 अन्य साथियों ने लाठी-डंडों से वनकर्मियों के ऊपर ताबड़तोड़ हमला कर दिया था। वनकमियों को गम्भीर रूप से घायल कर हमलावर अपने साथियों को उनकी अभिरक्षा से छुड़ाकर वाहनों से भाग निकले थे। इस मामले में बृजपुर थाना पुलिस ने कुछ आरोपियों को गिरफ्तार किया है लेकिन कई महत्वपूर्ण गिरफ्तारियां होना अभी भी शेष है।

ज्ञापन सौंपने वालों में ये रहे शामिल

उत्तर वन मंडल कार्यालय पन्ना के बाहर खड़े कर्मचारी नेतागण एवं वनकर्मी।
वनकर्मियों के हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपने वालों में मुख्य रूप से बी.पी. परौहा अध्यक्ष तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ जिला पन्ना, महीप रावत वन कर्मचारी संघ जिला अध्यक्ष पन्ना, ओपी शर्मा प्रांतीय सचिव वन कर्मचारी संघ, संजय पटेल, अखिलेश सिंह चैहान, अजीत खरे, विवेक द्विवेदी, अरुण त्रिवेदी, संजय रेले, राजीव द्विवेदी, बृजेंद्र पटेल, के.के. विश्वकर्मा, कमलेश त्रिपाठी, ओम प्रकाश कुरेले, अजय गुप्ता, राजीव वर्मा, सरिता धुर्वे, घनश्याम सिंह चौहान, महरूब खान सहित अन्य वनरक्षक, वनपाल एवं वन क्षेत्रपाल शामिल थे।