Homeमध्यप्रदेशमध्यप्रदेश में जोर-शोर से मना अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस

मध्यप्रदेश में जोर-शोर से मना अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस

भोपाल अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस पर प्रदेश के टाइगर रिजर्वों में बाघ संरक्षण और जागरूकता पर आधारित कार्यक्रम आयोजित किये गये। इनमें सैकड़ों की संख्या में छात्र-छात्राओं के साथ नागरिकों ने भी उत्साहपूर्वक भाग लिया।कान्हा टाइगर रिजर्व के मोचा में संभागायुक्त जबलपुर आशुतोष अवस्थी के मुख्य आतिथ्य में हुए कार्यक्रम में बाघ संरक्षण गतिविधियों का प्रस्तुतिकरण किया गया। मोचा ग्राम के स्कूली छात्र-छात्राओं ने क्षेत्र संचालक डॉ. संजय कुमार शुक्ला के नेतृत्व में कान्हा ईको सेंटर से खटिया प्रवेश-द्वार तक आकर्षक नारों के साथ रैली निकाली। वन्य-प्राणी प्रबंधन में उत्कृष्ट योगदान देने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों को प्रमाण-पत्र एवं प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया गया। चित्रकला और कविता-पाठ के विजेता शालेय छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत भी किया गया। राज्य वन अनुसंधान संस्थान, डब्ल्यू.डब्ल्यू.एफ.-इण्डिया, वाइल्ड लाइफ कंजर्वेशन ट्रस्ट, द लॉस्ट वाइल्डरनेस फाउण्डेशन, भारतीय वन्य-जीव संस्थान, द कार्बेट फाउण्डेशन, फाउण्डेशन फॉर ईकोलॉजिकल सिक्युरिटी, वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इण्डिया और सिंघीनावा फाउण्डेशन द्वारा कान्हा भू-भाग पर बाघ संरक्षण के लिये किये गये प्रयासों और अध्ययन का प्रस्तुतिकरण दिया गया। आशुतोष अवस्थी ने कान्हा भू-भाग में स्थानीय समुदायों, विशेषकर बैगा आदिवासियों के आर्थिक तथा सांस्कृतिक उत्थान के माध्यम से वन्य-प्राणी संरक्षण के महत्व पर जानकारी दी। कलेक्टर सुश्री सूफिया फारूखी वली ने बाघ संरक्षण में स्थानीय समुदायों को आजीविका कार्यक्रमों के माध्यम से जोड़ने पर बल दिया। विद्यार्थियों ने देश में वन और वन्य-प्राणी संरक्षण के महत्व को रेखांकित करने वाली आकर्षक एकांकियों की प्रस्तुति की। कान्हा के खोजी कुत्तों ने भी आकर्षक ड्रिल का प्रदर्शन किया।

पेंच टाइगर रिजर्व-

पेंच टाइगर रिजर्व और स्वयंसेवी संस्था सेविंग टाइगर सोसायटी द्वारा संयुक्त रूप से सिवनी, भाहर, खवासा और जमतरा ग्राम में पैदल रैली निकालने के साथ चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित की गई। सिवनी की रैली में 700 छात्र-छात्राओं और 900 लोगों ने भाग लिया। रैली को कलेक्टर सिवनी गोपाल चन्द डाड, क्षेत्र संचालक विक्रम सिंह परिहार और संयुक्त संचालक के.के. गुरवानी ने रवाना किया। रैली में छात्र-छात्राओं द्वारा तैयार किये गये प्ले-कार्डों में चयनितों को वन्य-प्राणी संरक्षण सप्ताह के दौरान पुरस्कृत किया जायेगा। चित्रकला प्रतियोगिता में 5वीं से 12वीं कक्षा तक के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। जमतरा रैली में 450 और खवासा रैली में लगभग एक हजार छात्र-छात्राओं और नागरिकों ने भाग लिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments