अच्छी खबर | मध्यप्रदेश में पुलिस बल को मिलेगा एक दिन का साप्ताहिक अवकाश

0
762
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलिस मुख्यालय में प्रदेश में कानून-व्यवस्था की समीक्षा की।

* मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलिस अधिकारियों को दिये निर्देश

 * बोले सीएम, अपराधिक गतिविधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस रखें

भोपाल। रडार न्यूज   मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद कमलनाथ एक्शन मोड में आ चुके हैं। मुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण करने के कुछ ही घंटे बाद उन्होंने जिस तरह किसानों की कर्ज माफ़ी के आदेश जारी किये हैं उससे यह साबित हो चुका। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने चुनावी वादों को पूरा करने और लोगों को एक अच्छी सरकार देने की दिशा में तेजी से प्रयास शुरू कर दिए हैं। इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने आज पुलिस मुख्यालय में प्रदेश में कानून-व्यवस्था की समीक्षा की। इस महत्पूर्ण बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे। इस अवसर पर उन्होंने पुलिस अधिकारियों से चर्चा करते हुए प्रदेश की कानून व्यवस्था, आंतरिक चुनौतियों, उपलब्ध संसाधनों एवं पुलिस बल की समस्याओं के संबंध में जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। पुलिसकर्मियों के लिए अच्छी खबर यह है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बैठक में पुलिस बल में साप्ताहिक अवकाश की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

महिला अपराधों की प्रति रहें संवेदनशील

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि पुलिस बल में साप्ताहिक अवकाश की व्यवस्था की जाये। किसी भी प्रकार की आपराधिक और गैर कानूनी गतिविधियों के प्रति जीरो टालरेंस रखें। सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिये समग्र दृष्टिकोण के साथ रणनीति बनायी जाये। महिलाओं के विरुद्ध अपराध के नियंत्रण के लिये संवेदनशील दृष्टिकोण के साथ कार्य किया जाये। श्री नाथ ने पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि गुड-गवर्नेंस का प्रमुख आधार पुलिस बल है। राज्य की छवि पुलिस व्यवस्था पर निर्भर है। इस अवसर पर प्रमुख सचिव गृह मलय श्रीवास्तव, पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला एवं अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

सड़क दुर्घटनाओं को रोकें

मुख्यमंत्री श्री नाथ ने पुलिस बल के लिये साप्ताहिक अवकाश की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पुलिस व्यवस्था में तकनीकी संसाधनों को आधुनिक किया जाये। पुलिस बल के लिये आपात परिस्थितियों में अवकाश उपयोग नहीं करने पर क्षतिपूर्ति की व्यवस्था हो। उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसके लिये सड़क नियोजन और प्रतिरक्षात्मक उपायों परसमेकित रूप से कार्य किया जाये।

समाज की रक्षक है पुलिस

बैठक को संबोधित करते मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं बाईं और बैठे पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की छवि का पैरामीटर पुलिस होती है। यह आवश्यक है कि बल के सदस्यों का मनोबल ऊँचा हो। नजरिया देश-प्रदेश की विविधतापूर्ण संस्कृति और स्वरूप के संरक्षण का हो। उन्होंने कहा कि पुलिस समाज की रक्षक है। पुलिस को भविष्य की तकनीकों और सामाजिक चुनौतियों के अनुसार तैयारियाँ करने पर विशेष ध्यान देना होगा। उन्होंने युवा पीढ़ी में नशे की लत के प्रसार को जड़ मूल से समाप्त करने की जरूरत बतायी। पुलिस महानिदेशक श्री शुक्ला ने प्रदेश की शांति एवं कानून-व्यवस्था का ब्यौरा दिया। साथ ही आंतरिक सुरक्षा की चुनौतियों और नियंत्रण के प्रयासों की जानकारी दी। प्रारंभ में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया।