BJP का आरोप : कमलनाथ सरकार की वादाखिलाफी से परेशान प्रदेश की जनता अब कहने लगी है- “तुम तो धोखेबाज हो वादा करके भूल जाते हो”

0
1029
घण्टानाद आंदोलन के तहत पन्ना में कलेक्ट्रेट कार्यालय का घेराव कर भाजपा नेताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

* घण्टा बजाकर भाजपाईयों ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ हल्ला बोला

* प्रांतव्यापी प्रदर्शन के तहत पन्ना में धरना देकर कलेक्ट्रेट कार्यालय का किया घेराव

* प्रेससवार्ता कर कांग्रेसियों ने गिनाई कमलनाथ सरकार के आठ माह की उपलब्धियां

* भाजपा और शिवराज पर लगाया 15 साल तक मध्य प्रदेश को लूटने का आरोप

पन्ना। (www.radarnews.in) मध्य प्रदेश के सभी जिलों में बुधवार को दिनभर सियासी गहमा-गहमी रही है। एक ओर जहां विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर वादों की कसौटी पर खरा न उतरने का आरोप लगाते हुए इस सरकार को क़ानून-व्यवस्था सहित अन्य मोर्चों पर पूरी तरह असफल बताया वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के नेताओं प्रेसवार्ता कर इन आरोपों पर न सिर्फ अपनी सफाई दी बल्कि कमलनाथ सरकार के आठ माह के कार्यकाल में जनहित में लिए गए ऐतिहासिक निर्णयों और उपलब्धियों की जानकारी दी। कांग्रेसियों ने जबाबी हमला बोलते हुए भाजपा और शिवराज पर पिछले 15 साल तक मध्य प्रदेश को लूटने का आरोप लगाया है। कांग्रेसजनों ने आंकड़ों और तथ्यों के आधार पर बताया कि मध्यप्रदेश पिछले 15 साल तक बीमारू राज्य बना रहा। इस दौरान महिलाओं-बालिकाओं के खिलाफ अपराधों, किसानों की आत्महत्या, कुपोषण और बेरोजगारी के मामले में एमपी अव्वल रहा।
भाजपा के प्रांतव्यापी घण्टानाद आंदोलन के तहत बुधवार 11 सितम्बर को जिला मुख्यालय पन्ना की इन्द्रपुरी कालोनी स्थिति चन्द्रशेखर पार्क के बाहर पार्टी नेताओं ने कमलनाथ सरकार की वादखिलाफ़ी और विफलताओं को लेकर धरना दिया और फिर कलेक्ट्रेट कार्यालय का घेराव कर जमकर नारेबाजी की गई। इस आंदोलन का आगाज़ शंख, घण्टा और बर्तन बजाकर किया गया।

प्रदेश को किया बर्बाद

पन्ना में भाजपा के घण्टानाद आंदोलन में शामिल जिले के पार्टी नेता एवं कार्यकर्तागण।
धरना-प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए भाजपा के प्रदेश मंत्री व पन्ना विधायक बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में पिछले 9 माह से कांग्रेस की सरकार चल रही है। निश्चित ही कांग्रेस के पास सरकार चलाने के लिए अपना स्वयं का बहुमत नहीं है, इस लिए वह अन्य दलों व निर्दलिय विधायकों की मान-मनुहार पर टिकी हुई है। भारतीय जनता पार्टी ने निरंतर एक सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाई लेकिन सरकार ने इस सदभावना को विपक्ष की और मध्यप्रदेश की जनता की कमजोरी समझने की भूल की है। यही कारण है कि सरकार निरंतर निरंकुशता की ओर बढ़ते हुए प्रदेश को बदनाम और बर्बाद करने के रास्ते पर निकल पड़ी है मध्यप्रदेश की ऐसी बुरी स्थिति कर दी है जिसकी कल्पना भी नहीं की थी ।

किसान सम्मान निधि से रखा वंचित

बीजेपी के प्रदेश मंत्री एवं पन्ना विधायक बृजेन्द्र प्रताप सिंह।
पन्ना विधायक बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि एक ओर जनहित के सारे काम ठप्प पड़े है और दूसरी ओर उन सभी जन कल्याण कारी योजनाओं को बंद कर दिया गया है जो योजनायें भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने शुरू की थी । उन्होंने कहा की मध्यप्रदेश का किसान दोहरे और तेहरे धोखे का शिकार हुआ है, पहला कर्ज माफी के झूठ ने उसे डिफाल्टर बना दिया और वह आगामी फसल के लिए खाद बीज तक नहीं खरीद पा रहा है इतना ही नहीं केन्द्र सरकार ने जब प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का पैसा मध्यप्रदेश के किसानों को भी देने की घोषणा की तो कांग्रेस की सरकार ने अपनी राजनैतिक कुंठाओं के चलते केन्द्र सरकार को किसानों की सूची तक नहीं भेजी । उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में बिजली गुल होने लगी है। यह सरकार जनता से किए गए वादों को नहीं निभा पाई है इसलिए लोग कमलनाथ सरकार के लिए अब यह कहने लगे हैं -“तुम तो धोखेबाज हो वाद करके भूल जाते हो।”

एमपी में तेजी से बढ़ रहे हैं अपराध

प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ जनहित से जुड़े मुद्दों पर संघर्ष का शंखनाद करते भाजपा नेतागण।
भाजपा जिलाध्यक्ष पन्ना सतानांद गौतम ने कहा की युवा किसी भी समाज और देश का भविष्य होता है और उसी युवा को प्रारंभिक काल में कांग्रेस सरकार से धोखाधड़ी का शिकार होना पड़े तो सोचिये व्यवस्था से उसका विश्वास किस कदर उठ जायेगा । कांग्रेस की सरकार ने मध्यप्रदेश के युवाओं को रोजगार और बेरोजगारी भत्ता देने के वादे के साथ जो छलावा किया है वह एक गंभीरतम अपराध है । सभा को सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष संजय नगायच ने संबोधित करते हुए कहा की मध्यप्रदेश में कानून व्यवस्था के हालात बद से बत्तर हो गये है। जिस प्रदेश को भाजपा की सरकार ने दस्यु-नक्सली समस्या और सिमी के आतंकवादियों से पूरी तरह मुक्त करा दिया था उस प्रदेश में आज अपराध बढ़ रहा है। स्कूल से बच्चों को उठा लिया जाता है फिरौती वसूली जाती है फिर भी उनकी नृशंस हत्या कर दी जाती है।

तबादलों को सरकार ने बनाया उद्योग

कमलनाथ सरकार की नीतियों के खिलाफ थाली बजाकर अपना विरोध दर्ज कराती भाजपा की महिला नेत्रियां।
सभा को वरिष्ठ नेता सुधीर अग्रवाल ने संबोधित करते हुए कहा की पुलिस और प्रशासन तबादलों से तंग आ कर विवशता की स्थिति में खड़ा हो गया है। कोई भी अधिकारी यदि कानून व्यवस्था बनाने की दिशा में अपने कर्तव्य का पालन करता है तो उसे तुरंत स्थानांतरण का आदेश थमा दिया जाता है। इस सरकार ने स्थानांतरण को एक वसूली उद्योग बना दिया है। पूर्व विधायक राजेश वर्मा ने संबोधित करते हुए कहा की यह सरकार अंर्तविरोधों पर टिकी है और सबको साधने की जुगत में लूट की छूट दे रखी है। प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है, रोजगार के अवसर नहीं है और विकास रूक गया है।

इन्होंने भी किया संबोधित

धरना-प्रदर्शन को जिला पंचायत अध्यक्ष पन्ना रविराज सिंह यादव, आशुतोष महदेले, पूर्व जिला अध्यक्ष बाबूलाल यादव,वरिष्ठ नेता जयप्रकाश चतुर्वेदी, उपाध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह, पूर्व महामंत्री सुशील त्रिपाठी, उपाध्यक्ष संजीत सरकार, श्रीकांत त्रिपाठी, बृजेन्द्र गर्ग, तरूण पाठक आशा गुप्ता ने भी संबोधित किया । इस अवसर पर भाजपा के जिला पदाधिकारी, मण्डलों के अध्यक्ष, मोर्चों के अध्यक्ष मुख्य रूप से उपस्थित थे।